शिमला में शिक्षा निदेशालय के बाहर गरजे अभिभावक, फतेहपुर में सौंपा ज्ञापन

निजी स्कूलों की फीस वृद्धि के खिलाफ कानून बनाने की उठाई मांग

शिमला में शिक्षा निदेशालय के बाहर गरजे अभिभावक, फतेहपुर में सौंपा ज्ञापन

- Advertisement -

शिमला। निजी स्कूलों के खिलाफ छात्र अभिभावक मंच द्वारा छेड़े गए अभियान के तहत सोमवार को शिक्षा निदेशालय के बाहर विशाल धरना प्रदर्शन किया गया। मंच ने सरकार के खिलाफ जबरदस्त नारेबाजी की और निजी स्कूल की मनमानी को रोकने के लिए कानून बनाने की मांग की। छात्र अभिभावक मंच के संयोजक विजेंदर मेहरा ने बताया कि पिछले कई दिनों से मंच स्कूलों के बाहर प्रदर्शन कर रहा है, लेकिन शिक्षा विभाग स्कूलों की मनमानी रोकने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठा रहा हैं। विजेंदर मेहरा ने बताया कि मंच ने विभाग को 22 सूत्रीय मांग पत्र सौंपा है। अगर विभाग उस पर कोई कदम नहीं उठता है, तो मंच भविष्य में इससे भी बड़ा आंदोलन छेड़ेगा।



यह भी पढ़ें :-  कांग्रेस मंडी के बाद 12 को शिमला में भी करेगी आम सभा

शिक्षा निदेशक डॉ. अमरजीत सिंह ने बताया कि 16 मार्च को अभिभावक मंच के साथ बैठक में कुछ मुद्दों को लेकर सहमती बनी थी, जिस पर विभाग ने कारवाई अमल में लाई है। शिक्षा विभाग के निदेशक अमरजीत शर्मा ने बताया है कि निजी स्कूलों पर नकेल कसी जा रही है। निदेशक ने बताया कि अगर निजी स्कूलों की फीस को रेगुलेट करने के लिए कानून बनाने कि जरुरत पड़ती है, तो विभाग सरकार को इसके बारे में लिखेगा।

कुछ स्कूल पैसा लेकर भी नहीं दे रहे स्लिप

फतेहपुर। जिला कांगड़ा के उपमंडल फतेहपुर के अधीन पड़ते निजी स्कूलों में रि-एडमिशन के नाम पर पैसे वसूलने को लेकर लोग लामबंद हो गए हैं। अभिभावकों ने क्षेत्र के समाजसेवी रामेश दत्त कालिया की अध्यक्षता में रोष जताते हुए एसडीएम फतेहपुर के माध्यम से राज्यपाल व सीएम को ज्ञापन भेजा। लोगों का आरोप है कि पहले रि-एडमिशन के नाम पर तो अब एनुअल चार्ज के नाम पर क्षेत्र के कुछ निजी स्कूल हजारों रुपये की वसूली कर रहे हैं। कुछ स्कूल प्रबंधन नगद पैसा लेने के बावजूद भी स्लिप नहीं दे रहे हैं। स्कूलों में ही किताबें, कापियां व वर्दी बेची जा रही है। एसडीएम फतेहपुर बलवान चंद का कहना है कि ज्ञापन मिला है, जिसे उचित कार्रवाई के लिए भेजा जाएगा। निजी स्कूल प्रबंधकों को बैठक के लिए बुलाया जा रहा है। जो स्कूल नियमों को तोड़ रहे उनके विरुद्ध कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। अगर किसी अभिभावक को शिकायत है तो वह कार्यालय में शिकायत पत्र दे सकता है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है