WHO : सड़क दुर्घटनाओं से 10 गुना ज्यादा तंबाकू सेवन से मरते हैं लोग

WHO : सड़क दुर्घटनाओं से 10 गुना ज्यादा तंबाकू सेवन से मरते हैं लोग

- Advertisement -

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार भारत और खासकर दिल्ली में तंबाकू सेवन की लत खतरनाक स्तर तक बढ़ने से लोगों की भारी संख्या में मौत हो रही है। संगठन के एक तुलनात्मक अध्ययन (comparative study) में पाया गया है कि देश भर में सड़क दुर्घटनाओं में मरने वालों की तुलना में तंबाकू जनित बीमारियों से मरने वाले लोगों की संख्या करीब 13 गुना है और दिल्ली में 10 गुना से भी अधिक है। लेकिन सड़क दुर्घटना में मरने वालों की तुलना में तंबाकू जनित बीमारियों से मरने वाले लोगों पर बहुत ही कम ध्यान दिया जाता है।



यह भी पढ़ें: बेमौसमी सब्जियां उगा कर छोटा भंगाल के लोगों ने बदल डाली अपनी तकदीर

 

इस अध्ययन के अनुसार वर्ष 2018 में दिल्ली की सड़कों पर हुई दुर्घटनाओं में 1604 लोगों की मौत हुई और 5831 लोग घायल हुए जबकि केवल दिल्ली (Delhi) में ही तंबाकू जनित बीमारियों से प्रति वर्ष 19,000 लोगों की मौत हो जाती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार भारत में 2018 में सड़क दुर्घटनाओं में लगभग 1-5 लाख लोगों की जानें गई, जबकि तंबाकू से संबंधित बीमारियों से भारत में हर साल 13-5 लाख लोग मारे जाते हैं।

उल्लेखनीय है कि दिल्ली में यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों से 68-4 लाख लोगों पर जुर्माना (Fine) लगाया गया था, जबकि दिल्ली में सिगरेट और अन्य तंबाकू उत्पाद अधिनियम (कोटपा) का उल्लंघन करने के लिए लगभग 52]000 लोगों पर जुर्माना लगाया गया। मैक्स ऑन्कोलॉजी के अध्यक्ष डॉ. हरित चतुर्वेदी ने कहा, सड़क दुर्घटनाओं में मौतों की तात्कालिक प्रकृति के कारण, ये लेागों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करती हैं, जबकि तंबाकू से संबंधित बीमारियों से अधिक लोगों की मौत होने के बावजूद शायद ही इस पर ध्यान दिया गया हो। तंबाकू से प्रभावित मरीजों का इलाज करने वाले सभी डॉक्टरों की तुलना में पुलिस अधिक लोगों की जान बचा सकती है। जैसा कि कहावत है, रोकथाम इलाज से बेहतर है।

यहां इस बात का भी जिक्र किया जाना आवश्यक है कि जिन राज्यों में तंबाकू नियंत्रण कानून (Tobacco Control Act) लागू हैं, वहां तंबाकू के उपयोग में काफी कम आई है। संबंध हेल्थ फाउंडेशन (एसएचएफ) के वरिष्ठ प्रोजेक्ट मैनेजर डॉ. सोमिल रस्तोगी ने कहा कि दिल्ली पुलिस ने केाटपा को लागू करके सराहनीय काम किया है। हमने केंद्र सरकार द्वारा राज्यों को पुलिस हेड कांस्टेबलों को कोटपा का उल्लंघनों के लिए जुर्माना लगाने के लिए अधिकृत करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा भेजी गई एडवाइजरी के बारे में स्वास्थ्य विभाग को एक प्रार्थना पत्र भी दिया है। यह कोटपा को प्रभावी ढंग से लागू करने के लिए दिल्ली पुलिस को अधिक सशक्त करेगा।

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

सरकार ने किया साफः नहीं भरे जाएंगे फीमेल हेल्थ वर्कर्ज के बेचवाइज पद

चंद्रताल में फंसे 127 पर्यटक रेस्क्यू, काजा मार्ग पर 300 की अभी भी अटकी हैं सांसे

मानसून सत्रः सदन में गूंजा विधायक रायजादा मामला, विपक्ष का हंगामा-नारेबाजी की

हिमाचल विधानसभा का मानसून सत्र शुरू, 31 तक चलेगा

मानसून सत्रः जलरक्षकों को लेकर सरकार ने कही यह बड़ी बात-जानिए

बेरहम मौसमः इस जिला के शिक्षण संस्थानों में कल भी छुट्टी घोषित 

मणिमहेश यात्रा को लेकर आ गया प्रशासन का ये बड़ा फैसला, जाने से पहले देना ध्यान

बैन के बावजूद गिलानी को इंटरनेट सेवा उपलब्ध करवाने वाले दो BSNL अधिकारी सस्पेंड

खड्ड में आई बाढ़ , ताश के पत्तों की तरह ढह गया साईं कॉलेज

आज नहीं अब इस दिन होगी कैबिनेट की बैठक

सिरमौरः नाले में बही आल्टो , गिरि नदी के किनारे मकान कराए खाली

भागवत कथा सुनने जा रही थी 75 साल की कमला, बस टायर के नीचे आकर कुचली गई

मंडीः ब्यास का जलस्तर घटा, लेकिन मौसम का खतरा बरकरार

खड्ड पार करते बह गए स्टूडेंट-टीचर : टूटा पुल, हमीरपुर-शिमला मार्ग बंद

कश्मीर पर ट्वीट कर बढ़ी शहला राशिद की मुश्किलें, सुप्रीम कोर्ट में शिकायत दर्ज

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है