Covid-19 Update

21,149
मामले (हिमाचल)
18,179
मरीज ठीक हुए
295
मौत
8,006,340
मामले (भारत)
44,496,144
मामले (दुनिया)

पूड़े के साथ पुदीने की चटनी व खीर खानी है तो Himachalके इस शहर का करना होगा रूख

असकली के साथ शक्कर घी, शहद व राब के अलावा सिड़कु के साथ घी व दही परोसी जाती है

पूड़े के साथ पुदीने की चटनी व खीर खानी है तो Himachalके इस शहर का करना होगा रूख

- Advertisement -

देवभूमि हिमाचल की बात करें तो यहां के व्यंजन प्रदेश में ही नही अपितु देश व विदेशों से आने वाले आगंतुकों को भी खूब पसंद आते है। पहाड़ी व्यंजन सिर्फ स्वादिष्ट ही नहीं होते बल्कि यह लोगों की सेहत के लिए भी गुणकारी होते हैं। जो पहाड़ी व्यंजन सभी घरों व दुकानों में आम हुआ करते थे, उन्हें अब खास दुकानों में तलाशा जाता है। स्थानीय व्यंजनों को हमने आधुनिकता के चलते छोड़ दिया है और पश्चिम की नकल में बहुत सी ऐसी चीजे़ अपना ली है, जो स्वास्थ्य और सेहत के मामले में हमारे अनुकूल नहीं हैं। हम जानते हैं कि एक ओर जहां स्थानीय व्यंजनों में कमी आई है वहीं दूसरी ओर देसी-विदेशी व्यंजन अपनाए जा रहे हैं जिससे हमारे स्वास्थ्य पर भी विपरीत असर पड़ रहा है। ऐसे में हमें विदेशी व्यंजनों के स्थान पर स्थानीय व्यंजनों का उपयोग अधिक करने की जरूरत है ताकि हम स्वस्थ रह सकें।

 

पहाड़ी व्यंजनों का स्वाद शिरगुल चैक के समीप

अब आप पहाड़ी व्यंजनों का स्वाद जिला सिरमौर के उप-मंडल राजगढ़ में शिरगुल चैक के समीप पहाड़ी खाना खज़ाना ढाबा में ले सकते हैं। पहाड़ी व्यंजनों को तैयार कर लोगों को खिलाने का ख्याल राजगढ़ तहसील के कुलथ गांव के धर्मेन्द्र वर्मा के मन में तब आया जब उन्होंने देखा कि आज के दौर में स्थानीय व्यंजन घरों व बाजारों से गायब हो रहे हैं। उन्होंने निश्चय किया कि वह पारम्परिक स्थानीय व्यंजनों को बना कर लोगों तथा देश-विदेश से आने वाले पर्यटकों को परोसेंगे। हिमाचल प्रदेश सरकार भी पर्यटन के बुनियादी ढांचे को सुदृढ़ करने पर विशेष बल दे रही है। पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए स्थानीय लजीज़ व्यंजनों, स्थानीय कलाकारों, संस्कृति तथा स्थानीय वेश-भूषा को प्रोत्साहित कर रोजगार के अतिरिक्त अवसर पैदा करने पर भी बल दिया जा रहा है ताकि प्रदेश में पर्यटन क्षेत्र को और बढ़ावा दिया जा सके। इसी दिशा में पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा देने के उद्देश्य से जिला सिरमौर के उपमंडल राजगढ़ में पहाडी़ खाना ख़जाना ढाबा पहाड़ी व्यंजन असकली, पूडे़ तथा सिडकु बना कर देश व विदेश के पर्यटकों को आकर्षित कर रहा है।

 

पहाड़ी खाने में प्रतिदिन लुशके भी बनाए जाते

जिला भाषा अधिकारी सिरमौर अनिल हारटा ने बताया कि आज की युवा पीढ़ी पारम्परिक स्थानीय व्यंजनों से विमुख हो रही है और पाश्चात्य संस्कृति की ओर आकर्षित हो रही हैं। ऐसे में स्थानीय व्यंजनों को तैयार कर लोगों को परोसना स्थानीय व्यंजनों को संरक्षण प्रदान करने की दिशा में एक अच्छी पहल है। उन्होंने कहा कि पारम्परिक स्थानीय व्यंजन न केवल खाने में ही स्वाद होते हैं बल्कि यह पोष्टिकता से भरपूर होने के साथ-साथ स्वास्थ्र्यवर्धक भी होते हैं। इससे पहाड़ी व्यंजनों की ओर लोगों का रूझान भी बढे़गा तथा हमारे पारम्परिक व्यंजनों को प्रदेश व देश में एक अलग पहचान मिलेगी। ढाबा संचालक धर्मेन्द्र वर्मा ने बताया कि मंगलवार, वीरवार तथा शनिवार को पहाड़ी व्यंजन बनाए जाते हैं। मंगलवार को असकली के साथ शक्कर घी, शहद व राब परोसे जाते हैं और वीरवार को पूड़े के साथ पुदीने की चटनी व खीर तथा शनिवार को सिडकु के साथ घी व दही परोसी जाती है। इसके अतिरिक्त पहाड़ी खाने में प्रतिदिन लुशके भी बनाए जाते हैं। उन्होंने बताया कि उनके ढाबे में तीन रूपये प्रति असकली के साथ शक्कर, शहद, राब व दाल और 20 रूपये प्रति 30 एम.एल. घी, 10 रूपये प्रति पूड़े के साथ चटनी जबकि खीर हाफ प्लेट 20 रूपये व फुल प्लेट 40 रूपये तथा 20 रूपये प्रति सिड़कु, 20 रूपये प्रति 30 एमएल घी व 10 रूपये का दही और 10 रूपये प्रति लुशका ढाबे में आने वाले आगंतुकों को परोसा जा रहा है।

 

टिफ़िन की व्यवस्था भी शुरू

धर्मेन्द्र वर्मा ने बताया कि सप्ताह के अन्य दिनों में साधारण भोजन बनाया जाता है। उन्होंने बताया कि स्थानीय लोगों, दुकानदारों, व्यापारियों तथा अधिकारियों व कर्मचारियों के लिए टिफ़िन व्यवस्था भी शुरू की गई है। उन्होंने बताया कि आज के प्रतिस्पर्धा के दौर में सभी लोगों को नौकरी मिलना संभव नहीं है चाहे वह सरकारी क्षेत्र में हो या फिर निजी क्षेत्र में ऐसी परिस्थिति में हमें कोई भी स्वरोजगार के साधन अपनाना चाहिए जिससे हम अपनी आजिविका चला सकें। हर व्यक्ति को अपने जीवन में कोई न कोई माध्यम चुनना चाहिए। स्वरोजगार हमें केवल धन ही नहीं देता बल्कि ज्ञान और उन्नति का अवसर भी देता है। धर्मेन्द्र वर्मा ने बताया कि उन्होंने अपने पहाड़ी व्यंजन ढाबे में अन्य 5 बेरोजगार लोगों को रोजगार भी दिया है, इस प्रकार हम अन्य स्वरोजगार के विभिन्न साधन अपनाकर अन्य लोगों को भी रोजगार प्रदान कर सकते हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Chamba: पुखरी में बनेगा भव्य खेल Stadium, अव्वल खिलाड़ियों को मिलेगी निशुल्क Hostel सुविधा

HP Covid Update: 332 नए केस आए सामने; रिकवर मरीजों का आंकड़ा 18 हजार पार

Sirmaur: संगड़ाह में सड़क पर खेलते समय खाई में गिरी 8 साल की बच्ची, गई जान

सुरेश कश्यप बोले: BJP पंचायत चुनावों को तैयार, उद्धव के 'गांजा' वाले बयान पर किया पलटवार

Mukesh बोले- लोग आत्महत्या कर रहे हैं और जयराम सरकार अपनी पीठ थपथपा रही है

#Kullu_Dussehra: देवता फलाणी नारायण ने भगवान रघुनाथ के दर लगाई हाजिरी, जताई नाराजगी

CM Jai Ram के गृह जिला में खुलेगा Himachal का पहला मॉडल नशा मुक्ति-पुनर्वास केंद्र

#HP_Protest: श्रम कानूनों के विरोध में प्रदेश भर में गरजा भारतीय मजदूर संघ, ज्ञापन सौंप दी यह चेतावनी

#Sirmaur: कालाअंब- पांवटा NH पर चलती Car में लगी आग, चालक की बची जान

#Manali: तीन भाइयों के मकान में लगी Fire, घर को जलता देख बड़े भाई को पड़ा दिल का दौरा

NPS कर्मी करेंगे 24 को पेन डाउन स्ट्राइक, सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप

भारतीय सेना में निकली JAG 26, SSC टेक 56 समेत 199 पदों पर वैकेंसी; जल्द करें अप्लाई

4 साल में पहली बार किसी IPL मैच में विकेट लेने में नाकाम रहे कगिसो रबाडा

अमिताभ भारत के सबसे भरोसेमंद सेलिब्रिटी, #Hardik_Pandya सबसे विवादास्पद: सर्वे

80 साल साथ रहा दुनिया का सबसे वृद्ध शादीशुदा कपल; पति का 110 साल की उम्र में निधन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board

अब कभी भी-कहीं भी पढ़ाई कर सकेंगे Himachal के छात्र, शिक्षा मंत्री ने किया #Jio_TV का शुभारंभ

#Himachal के इन स्कूलों में सर्दियों की छुट्टियों पर चलेगी कैंची, प्रस्ताव तैयार

जवाहर नवोदय विद्यालय कक्षा 6 का #Entrance_Exam अब 7 नवंबर को

स्कूलों के बाद अब Colleges खोलने की तैयारी, नवंबर से आएंगे Practical विषयों के छात्र

TET Exam में इन अभ्यर्थियों को मिली छूट, बिना आवेदन दे सकेंगे परीक्षा, बस करना होगा ये काम

#Himachal में School खोलने की तैयारी में सरकार, क्या रहेगा प्लान पढ़े यहां

Big Breaking: हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने टैट परीक्षा का शेड्यूल किया जारी- जानिए

#HPBose: 9वीं, 10वीं, 11वीं और 12वीं कक्षाओं के छात्रों को बड़ी राहत- पढ़ें खबर

हिमाचल में 100% मास्टर जी लौट आए #School, बनने लगा स्टूडेंट्स के लिए माइक्रो प्लान

SMC शिक्षकों को बड़ी राहत, #Supreme_Court ने हिमाचल हाईकोर्ट के फैसले पर लगाई रोक

गोविंद ठाकुर बोले- #Himachal में स्कूल खोलने हैं या नहीं, 9 को होगा फैसला

शिक्षा विभाग ने तैयार किया #Himachal में स्कूल खोलने का प्रस्ताव; जानें क्या है योजना

D.El.Ed CET 2020: 12 से 23 अक्टूबर तक होगी स्क्रीनिंग, अभ्यर्थी करें ऐसा

Himachal में 530 हेड मास्टर और लेक्चरर बने प्रिंसिपल, पर वेतन बढ़ोतरी को करना होगा इंतजार

बिग ब्रेकिंगः हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने आठ विषयों की TET परीक्षा का Result किया आउट



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है