वीडियो : कलेजा बाहर आता है घर पहुंचने तक, नदी के आर-पार खड़े दो पिल्लर मुंह चिढ़ाते

दशकों बीत जाने पर भी ग्रामीणों को नहीं मिल पा रही है स्थायी पुल की सुविधा

वीडियो : कलेजा बाहर आता है घर पहुंचने तक, नदी के आर-पार खड़े दो पिल्लर मुंह चिढ़ाते

- Advertisement -

परस राम भारती/गुशैनी (बंजार)। कुल्लू जिला के बंजार विकास खंड की ग्राम पंचायत कंडीधार में तीर्थन नदी के ऊपर दाड़ी वार्ड के गांवों को जोड़ने वाला निर्माणाधीन पुल वर्षों बीत जाने पर भी लोगों की सुविधा के लिए तैयार नहीं हो सका है। अभी तक लोग यहां पर बने अस्थायी रोपवे झूले से ही जान जोखिम में डाल कर तीर्थन नदी (Tirthan River) के आर-पार का सफर करने को मजबूर है।


जिस कारण गांव के छोटे स्कूली छात्रों, बीमार और बुजुर्ग व्यक्तियों को सफर करने मे काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। यहां के लोग वर्षों पहले नदी को आर-पार करने के अस्थायी पुल का निर्माण अपने तौर पर करते आए है, लेकिन कई वर्ष पहले इस स्थान पर स्थानीय पंचायत द्वारा लोगों की सुविधा के लिए एक अस्थायी रोपवे झूले का निर्माण किया गया था जो अब काफी पुराना व असुरक्षित हो चुका है।

इस स्थान पर मत्स्य विभाग द्वारा तीर्थन नदी में एक झील का निर्माण किया गया है जिस कारण यहां पर जल स्तर काफी फैल गया है और बरसात के मौसम में तो यहां से सफर करना बहुत ही खरनाक होता है। इसी स्थान पर गत वर्ष एक हादसे (accident) में स्कूली छात्र अपनी जान गंवा चुका है। ग्राम पंचायत द्वारा कुछ वर्ष पहले मनरेगा योजना के तहत स्थायी पुल निर्माण का कार्य आरम्भ किया गया था लेकिन अभी तक नदी के आर पार दो पिल्लर ही खड़े हो पाए हैं। इस पुल के बनने से दाड़ी वार्ड के गांव जावल, लुहारडा, छामनी, घटाधार, रौनल, रोपाजौल और नाडार के सैकड़ो लोगों को लाभ होना है लेकिन ग्रामीण वर्षों से इस पुल के तैयार होने की राह देख रहे हैं।

वर्षों पहले पुल निर्माण कार्य शुरू होने पर भी आजतक यह पुल लोगों की सुविधा के लिए तैयार नहीं हो सका है जो इस पुल का कार्य काफी समय से अधूरा लटका पड़ा है। यहां के लोग रोजाना अपनी जान जोखिम में डालकर जर्जर हालत में पड़े झूला से ही नदी के आर-पार का सफर करने को मजबूर है या तो उन्हें करीब दो किलोमीटर का अतिरिक्त सफर करना पड़ता है या मजबूरन पैदल ही नदी को पार करना पड़ता है। यह स्थान तीर्थन घाटी में पर्यटकों के लिए भी ट्राउट फिशिंग (Trout fishing) के लिए आकर्षण का केन्द्र बना हुआ है जो स्थानीय लोगों के अलावा पर्यटकों को भी यहां पर काफी कठिनाई का सामना करना पड़ता है। ग्राम पंचायत कंडीधार की प्रधान चमना देवी का कहना है कि इस पुल के लिए मनरेगा योजना के तहत बजट आया था जो अभी तक के निर्माण कार्य में खर्च हो चुका है।

 


हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी Youtube Chennel… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

ब्रेकिंग: सियाचिन में हिमस्खलन, चार सैनिक और दो नागरिकों की मौत

बिग ब्रेकिंगः Ravinder Ravi के कहने पर ही मसंद ने वायरल की थी पोस्ट, रिपोर्ट में खुलासा

कोटखाई में सड़क हादसा, दो लोगों की मौत- जांच में जुटी पुलिस

दलाई लामा से मिले बंडारू दत्तात्रेय, तिब्बतियों को पूर्ण समर्थन का दिया आश्वासन

Important : अब गैर हिमाचलियों की तृतीय और चतुर्थ श्रेणी के पदों पर नहीं होगी नियुक्ति

जयराम बोलेः अप्रशिक्षित व अनुभवहीन पैराग्लाइडर पर होगी कार्रवाई

कैबिनेट का बड़ा फैसला : भरी जाएंगी फार्मासिस्ट की यह 200 पोस्ट

जवाली महिला मौत मामलाः सड़क पर शव रख एक घंटा चक्का जाम, दर्ज हो मर्डर केस

कुल्लू: पत्नी संग हनीमून मनाने आया था युवक, पैराग्‍लाइडिंग हादसे में चली गई जान

जयराम सरकार यहां मनाएगी दो साल का जश्न, लगी मुहर

Live : विधानसभा का शीतकालीन सत्र दिसंबर की किस तारीख से, कैबिनेट में हुआ फैसला

सुंदर ठाकुर बोले- डबल इंजन कहलाने वाली सरकार का इंजन सीज हो गया

गाइड की सताई छात्रा ऐसे रोई कृषि विश्वविद्यालय पालमपुर पर आफत बन आई ,देखें वीडियो

केजरीवाल सरकार का बड़ा ऐलान : बिजली, पानी और यात्रा के बाद अब ये सेवा होगी मुफ्त

जेएनयू छात्रों का संसद मार्च शुरू : बैरिकेड तोड़े, पुलिस के साथ धक्का-मुक्की, छात्र हिरासत में

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है