सांगना में पीडब्ल्यूडी के खिलाफ नारेबाजी, सराहां में आईपीएच अफसरों का घेराव

 सड़क के काम में घटिया निर्माण सामग्री लगाने पर भड़के लोग

सांगना में पीडब्ल्यूडी के खिलाफ नारेबाजी, सराहां में आईपीएच अफसरों का घेराव

- Advertisement -

नाहन। गिरिपार के गत्ताधार के साथ सटी सांगना पंचायत के ग्रामीणों ने सड़क के काम में घटिया निर्माण सामग्री लगाने पर पीडब्ल्यूडी (PWD) के खिलाफ नारेबाजी की। इस दौरान ग्रामीणों ने पीडब्ल्यूडी विभाग (PWD Department) मुर्दाबाद के नारे लगाए। दरअसल, इन दिनों गत्ताधार से सांगना सड़क को पक्का करने का कार्य चल रहा है। सड़क निर्माण कार्य के दौरान टारिंग उखड़ने के कारण ग्रामीणों ने पीडब्ल्यूडी के खिलाफ हल्ला बोला। ग्रामीणों का आरोप है कि पिछले कई दिन से सड़क का कार्य चल रहा है, लेकिन सड़क पर घटिया सामग्री का इस्तेमाल किया जा रहा है। इससे सड़क टूट रही है। इस दौरान गुस्साए ग्रामीणों ने सड़क का कार्य भी रोक दिया।
ग्रामीणों का कहना है कि विभाग ने एक ठेकेदार (Contractor) को टारिंग कार्य आवंटित किया है, लेकिन सड़क पर घटिया निर्माण सामग्री लगाई जा रही है। सड़क पर बिछी मिट्टी में ही ठेकेदार के कर्मी तारकोल बिछाने में जुटे हैं। ग्रामीणों ने चेताते हुए कहा कि जब तक विभाग के अधिकारी (PWD Officer) मौके पर नहीं पहुंचते तब तक सड़क का कार्य बंद रखा जाएगा।

पेयजल संकट को लेकर सराहांवासियों का फूटा गुस्सा

पच्छाद विस क्षेत्र के सराहां कस्बे में पानी की समस्या से परेशान लोगों का आखिरकार शनिवार को गुस्सा फूट पड़ा। नतीजन आईपीएच विभाग (IPH Department) के अधिकारियों का लोगों ने घेराव कर डाला। हालत ऐसे पैदा हो गए कि आईपीएच के अधीक्षण अभियंता को भी मौके पर पहुंचना पड़ा। बीच बाजार में भी एसई सहित अन्य अधिकारियों का घेराव कर लोगों ने खरी खोटी सुनाई। दरअसल पिछले 15 से 20 दिनों से सराहां में लोगों को पीने के लिए पानी (Drinking Water) उपलब्ध नहीं हो पा रहा था। नतीजन आज सराहां के लोगों ने आईपीएच के अधिकारियों का घेराव कर दिया।
हैरानी की बात यह थी कि जब स्थानीय लोग आईपीएच के दफ्तर पहुंचे, तो वहां पर कोई भी अधिकारी मौजूद नहीं था। इस पर लोग और भड़क गए और मामले की गंभीरता को देखते हुए दोपहर बाद  विभाग के एससी जेएस चौहान, एक्सईएन व एसडीओ सराहां बाजार में लोगों से मिलने पहुंचे। वहीं लोगों की भीड़ को देखते हुए पुलिस (Police) प्रशासन भी मौके पर स्थिति को संभाले के लिए मौजूद रहा। अधीक्षण अभियंता के 7 दिन में समस्या के पूरे समाधान के आश्वासन पर ही लोग शांत हुए। उधर, आईपीएच विभाग अधीक्षण अभियंता जेएस चौहान ने लोगों को विभाग की समस्या से अवगत करवाया। उन्होंने सारी मशीनरी को दुरुस्त करवाकर 7 दिनों में पानी की सप्लाई को सुचारू रूप से चलाने का आश्वासन दिया।


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Like करें हिमाचल अभी अभी का Facebook Page….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

शिमला दुराचार मामलाः वीरभद्र ने जयराम से मांगा इस्तीफा

अनिल शर्मा की दो टूकः पहले रहने की व्यवस्था करो, तभी छोड़ूंगा मंत्री की कोठी

सत्ती ने अनिल को घेरा-बोले, कार्यकर्ताओं की मेहनत पर सवाल उठाने का नहीं अधिकार

सरकार अगले छह महीने तक नहीं भरेगी मंत्री पद, जानिए क्या हैं कारण

आश्रय शर्मा का आरोप-सराज में बीजेपी ने की बूथ कैप्चरिंग

सरकाघाट : किचन में बेसुध पड़ी मिली महिला टीचर, संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

ट्रैक्टर से जोरदार टक्कर के बाद सड़क से नीचे लुढ़का ट्रक, चालक की मौत

भरमौर में आग की भेंट चढ़ा मकान, बीस लाख का नुकसान

हिमाचल के कॉलेजों में दाखिले, परीक्षा और छुट्टियों का शेड्यूल जारी, पढ़ें पूरी खबर

मई में स्नोफॉलः रोहतांग में 2 तो मढ़ी में आधा इंच बर्फबारी, ठिठुरा कुल्लू

पांवटा साहिब: गंदे पानी के गड्ढे में गिरा तीन साल का मासूम, मौत

यौन उत्पीड़न मामले में जितेंद्र के खिलाफ हाईकोर्ट ने रद की एफआईआर

एग्रीकल्चर एक्सटेंशन ऑफिसर का फाइनल रिजल्ट आउट, चार हुए सफल

मंडी से अचानक दिल्ली रवाना हुए जयराम ठाकुर, यह रहा कारण

बीजेपी ने स्वीकारे तो कांग्रेस ने नकारे एग्जिट पोल, अपनी-अपनी जीत का दावा

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है