रक्षाबंधन की रही धूम, पर एचआरटीसी बसों में सीट न मिलने से परेशान हुईं महिलाएं

महिलाओं ने परिवहन विभाग से अतिरिक्त बसें चलाने की उठाई मांग

रक्षाबंधन की रही धूम, पर एचआरटीसी बसों में सीट न मिलने से परेशान हुईं महिलाएं

- Advertisement -

सुंदरनगर। प्रदेश सहित जिला मंडी (Mandi) में भी भाई-बहन के अटूट रिश्ते, प्यार व समर्पण वाला त्यौहार रक्षाबंधन धूमधाम से मनाया। इस पावन त्यौहार की वेला पर महिलाएं अपने भाईयों को राखी पहनाने के लिए घर से निकली। प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी प्रदेश में हिमाचल पथ परिवहन निगम (HRTC) द्वारा महिला यात्रियों को सुबह सूर्य उगने से शाम को अस्त होने तक मुफ्त यात्रा की सुविधा उपलब्ध करवाई गई, लेकिन भाइयों को राखी बांधने को लेकर सुंदरनगर आईएसबीटी (ISBT) पर महिला यात्रियों को बस में सफर करने को लेकर काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा।



यह भी पढ़ें: पुलिस का शक्ति स्क्वाड देगा महिलाओं को विशेष सुरक्षा, करेगा यह काम

 

आलम यह रहा कि बहनों को अपने भाईयों को राखी बांधने के लिए कई किलोमीटर की दूरी बस में खड़े-खड़े तय करनी पड़ी। कुछ रूटों पर चलने वाली बसों में महिलाओं की खासी भीड़ देखी गई और कई रूटों पर बसें ही नहीं चली। महिलाओं ने कहा कि राखी व भईया दूज के पर्व को लेकर महिला यात्रियों की बसों में खासी भीड़ रहती है, जिस कारण महिलाओं को सुबह से लेकर शाम तक बसों में सफर करने को लेकर जदोजहद करनी पड़ती है।

बसों में सफर कर रही महिलाओं ने प्रदेश सरकार व एचआरटीसी (HRTC) प्रबंधन से त्यौहारों को लेकर स्पेशल बसें चलाने की मांग की है। जिला में कुछ नन्हीं बहनों ने अपने भाईयों को पहली बार रक्षा सूत्र बांधा। इस वर्ष रक्षाबंधन पर भाग्यशाली संयोग होने के कारण पहली बार राखी बांधना भी शुभ माना गया था।

बता दें कि रक्षाबंधन हर वर्ष सावन माह की पूर्णिमा को मनाया जाता है। रक्षाबंधन त्यौहार हिंदू धर्म के बड़े त्यौहारों में से एक है, जिसे देशभर में हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। इस बार 19 साल बाद स्वतंत्रता दिवस व रक्षाबंधन का एक साथ योग बना है। इससे पहले यह संयोग साल वर्ष 2000 में बना था। इस वर्ष रक्षाबंधन पर्व पर भद्रा काल व ग्रहण नहीं होने के कारण शुभ संयोग व सौभाग्यशाली है।

आईएसबीटी (ISBT) सुंदरनगर के अतिरिक्त अड्डा प्रभारी कांशी राम ने कहा कि सरकार व एचआरटीसी (HRTC) प्रबंधन द्वारा राखी को लेकर कोई अतिरिक्त बसें चलाने के आदेश नहीं दिए गए थे। छुट्टी वाले दिन जिन रूटों पर बसों को रोक दिया जाता था, उन्हें भी राखी पर्व को लेकर सुचारू रूप से चलाया गया है। सरकार के दिशा-निर्देशानुसार राखी पर्व को लेकर महिला यात्रियों से चालक व परिचालकों द्वारा सूर्य उगने से अस्त तक किराया नहीं लिया गया है।

 

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

बेरहम मौसमः इस जिला के शिक्षण संस्थानों में कल भी छुट्टी घोषित 

मणिमहेश यात्रा को लेकर आ गया प्रशासन का ये बड़ा फैसला, जाने से पहले देना ध्यान

बैन के बावजूद गिलानी को इंटरनेट सेवा उपलब्ध करवाने वाले दो BSNL अधिकारी सस्पेंड

खड्ड में आई बाढ़ , ताश के पत्तों की तरह ढह गया साईं कॉलेज

आज नहीं अब इस दिन होगी कैबिनेट की बैठक

सिरमौरः नाले में बही आल्टो , गिरि नदी के किनारे मकान कराए खाली

भागवत कथा सुनने जा रही थी 75 साल की कमला, बस टायर के नीचे आकर कुचली गई

मंडीः ब्यास का जलस्तर घटा, लेकिन मौसम का खतरा बरकरार

खड्ड पार करते बह गए स्टूडेंट-टीचर : टूटा पुल, हमीरपुर-शिमला मार्ग बंद

कश्मीर पर ट्वीट कर बढ़ी शहला राशिद की मुश्किलें, सुप्रीम कोर्ट में शिकायत दर्ज

उत्तरकाशी में बादल फटा : 17 की मौत, कई जगह मलबे में दबे लोग, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

बिहार के पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा का निधन, लंबे समय से थे बीमार

कड़ी सुरक्षा के बीच श्रीनगर में खुले स्कूल, सुरक्षाबल चप्पे-चप्पे पर तैनात

हमीरपुर में भारी बारिश का कहर : हिमुडा कालोनी के नाले में बाढ़, लोग फंसे

बस और ट्रक में जोरदार टक्कर, 11 की मौत, 15 घायल

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है