Covid-19 Update

43,500
मामले (हिमाचल)
34,555
मरीज ठीक हुए
698
मौत
9,606,810
मामले (भारत)
65,907,507
मामले (दुनिया)

आउटसोर्स कर्मियों के परिजनों ने कार्यभार में कमी के साथ घर से Online काम करने की मांगी अनुमति

बोले सरकारी दफ्तरों में डाटा एंट्री ऑपरेटर्स का कार्यभार अधिकए कोविड काल में जीवन राम भरोसे

आउटसोर्स कर्मियों के परिजनों ने कार्यभार में कमी के साथ घर से Online काम करने की मांगी अनुमति

- Advertisement -

उदयपुर (लाहुल स्पीति)। प्रदेश के विभिन्न विभागों में आउटसोर्स में तैनात डाटा एंट्री ऑपरेटर्स (Data entry operators) की सेवाओं में छूट दिए जाने की मांग जोर पकड़ने लगी है। दफ्तरों में कई कार्य का जिम्मा इन आउटसोर्स डाटा एंट्री ऑपरेटर्स कर्मचारियों को सौंप दिया गया है और अपना काम करवाने के लिए बाहर से आने वाला हर व्यक्ति इनके संपर्क में आता है। जिससे इनमें कोरोना (Corona) संक्रमण फैलने का खतरा भी बढ़ गया है। इनकी दिक्कतों को देखते हुए परिजनों की चिंता खासी बढ़ गई है। आउटसोर्स कर्मचारियों के परिजनों ने सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) से इस मामले में हस्तक्षेप करने के साथ ही इन कर्मचारियों के कार्यों में कुछ हद तक छूट देने की मांग की है, ताकि यह कर्मचारी भी अपने आपको सुरक्षित महसूस कर सकें। वहीं, परिजनों ने सर्दी के मौसम को देखते हुए सरकार से इन कर्मचारियों को घर से ही ऑनलाइन (Online) काम करने की अनुमति प्रदान करने की भी अपील की है। लाहुल पंचायत प्रधान संघ के अध्यक्ष सत प्रकाश, तांदी पंचायत के पूर्व प्रधान सुरेश कुमार, डाटा एंट्री ऑपरेटर्स के परिजन शाम लाल, विशन दास, राम सिंह और बलवीर का कहना है कि डाटा एंट्री ऑपरेटर्स घर बैठ कर ऑनलाइन भी अपने सभी कार्य कर सकते हैं। इससे दफ्तर में कर्मचारी भी कम संख्या में होंगे और कोरोना संक्रमण फैलने का भी डर नहीं रहेगा।

यह भी पढ़ें: #Himachal: स्कूल और कॉलेजों को लेकर सरकार का बड़ा, Corona के चलते इन गतिविधियों पर रोक

बता दें कि प्रदेश में लगातार बढ़ रहे कोरोना मामलों को लेकर आउटसोर्स कर्मचारियों के परिजन अपने बच्चों के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित हैं। प्रदेश के विभिन्न दफ्तरों में हजारों की संख्या में आउटसोर्स पर डाटा एंट्री ऑपरेटर्स तैनात है। यह कर्मचारी अपने कार्यालय में नियमित व बेहतरीन सेवाएं दे रहे हैं। इन्हें माह में दो ही छुट्टी की स्वीकृति है। इन दिनों कोविड के चलते प्रदेश के सभी शैक्षणिक संस्थान (Educational institution) बंद हैं। कई कार्यालयों में कोविड का मामले सामने आने पर विभाग के अन्य कर्मचारी उनके प्राईमरी संपर्क में आ जाने पर उन्हें होम आइसोलेट किया जाता है। लेकिन आउटसोर्स पर तैनात डाटा एंट्री ऑपरेटर्स को कहीं से भी होम आइसोलेट की बात सामने नहीं आई है। खासकर स्वास्थ्य विभाग में तैनात डाटा एंट्री ऑपरेटर्स कोविड के इस घड़ी में मुश्किल में है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

 

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है