Covid-19 Update

13461
मामले (हिमाचल)
9413
मरीज ठीक हुए
148
मौत
5,818,570
मामले (भारत)
32,421,339
मामले (दुनिया)

Kullu जिले के इस गांव ने पूरे देश में जमाई धाक, जुड़ी यह बड़ी उपलब्धि

Kullu जिले के इस गांव ने पूरे देश में जमाई धाक, जुड़ी यह बड़ी उपलब्धि

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल प्रदेश के कुल्लू (Kullu) जिले का शरण गांव देश के 10 हथकरघा गांवों में चुना गया है। यह जानकारी शुक्रवार को राष्ट्रीय हथकरघा दिवस के अवसर पर केंद्रीय महिला एवं बाल विकास और कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) ने नई दिल्ली से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से दी। स्मृति ईरानी (Smriti Irani) ने राज्य के लोगों को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय हथकरघा दिवस (National Handloom Day) की बधाई दी। उन्होंने कहा कि कुल्लू जिला के धरोहर गांव नग्गर के समीप शरण गांव को देश के उन दस गांवों में शामिल किया गया है, जिन्हें हथकरघा गांव के रूप में चुना गया है।


यह भी पढ़ें: स्मृति ईरानी बोलीं- Himachal व केंद्र सरकार बीच अच्छा समन्वय, Jai Ram को दीं शुभकामनाएं

 

स्मृति ईरानी ने कहा कि इससे न केवल हथकरघा उद्योग को बढ़ावा मिलेगा, बल्कि ये गांव पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र भी बनेंगे। देश में निफ्ट केंद्रों से भी हथकरघा उत्पादों (Handloom Products) को बढ़ावा देने में सहायता मिलेगी। उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) भी हथकरघा उद्योग को बड़े पैमाने पर बढ़ावा देना चाहते हैं, क्योंकि इससे न केवल हथकरघा क्षेत्र की आर्थिकी सुदृढ़ होगी, बल्कि उपभोक्ताओं को बेहतर उत्पाद भी उपलब्ध होंगे। इस अवसर पर हथकरघा निर्यातकों को खरीददारों से जोड़ने के लिए वर्चुअल प्रदर्शनी का आयोजन भी किया गया।

हैंडलूम पोर्टल मोबाइल ऐप से बुनकरों और उपभोक्ताओं को मिलेगी सुविधा

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हैंडलूम मार्क योजना के लिए आज शुरू की गई मोबाइल ऐप न केवल बुनकरों को सुविधा मिलेगी, बल्कि उपभोक्ताओं को सही हथकरघा उत्पाद भी मिलेंगे। उन्होंने कहा कि माई हैंडलूम पोर्टल उपभोक्ताओं को हथकरघा उत्पादों के बारे में जानकारी प्राप्त करने में मदद करेगा। शरण गांव में बुनकरों के लिए सुविधा केंद्र स्थापित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार देश में इस क्षेत्र को हर संभव सहायता प्रदान करेगी। उन्होंने कहा कि हम सभी को स्थानीय उत्पादों को प्रोत्साहित करना चाहिएए तभी ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती प्राप्त होगी।

जयराम ठाकुर बोले कुल्लू और किन्नौरी शॉल को भारत सरकार ने करवाया पेटेंट

 

यह भी पढ़ें: सुन लो! Corona ना होता तो Rathore बीजेपी सरकार को घुटने टेकने पर कर देते मजबूर

सीएम जय राम ठाकुर ने जिला कांगड़ा के देहरा से वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि वर्तमान में लगभग 20 हजार लोग हथकरघा उद्योग से जुड़कर अपनी आजीविका कमा रहे हैं। हिमाचली शॉल और टोपी विश्व प्रसिद्ध है। कुल्लू और किन्नौरी शॉल को भारत सरकार द्वारा हथकरघा संरक्षण अधिनियम के अन्तर्गत आरक्षित किया गया है और इन दोनों उत्पादों का पेटेंट करवाया गया है। सीएम ने कुल्लू में धरोहर गांव नग्गर के पास शरण गांव को हथकरघा गांव के रूप में विकसित करने को सहमति देने के लिए केंद्रीय मंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि इसके अन्तर्गत केन्द्र सरकार ने 118.63 लाख रुपये स्वीकृत किए हैं, जबकि राज्य सरकार इसमें 13.40 लाख रुपये का योगदान देगी।

कोरोना काल में कुटीर उद्योगों ने संभाली राज्य की आर्थिकी

 

यह भी पढ़ें: हिमाचल के इस जिला में Self-Employment मार्गदर्शन के लिए उद्योग विभाग स्थापित करेगा Toll Free Number

सीएम ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान कोविड-19 महामारी के कारण प्रभावित अर्थव्यवस्था को विशेष रूप से कुटीर उद्योग ने विशेषकर ग्रामीण अर्थव्यवस्था को काफी हद तक संभाला है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार एक जिला एक उत्पाद की अवधारणा को बढ़ावा देने का प्रयास कर रही है। जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार राज्य में हथकरघा विकास के लिए प्रतिबद्ध है। हथकरघा उद्यमियों को राष्ट्रीय हथकरघा विकास निगम के माध्यम से धागा खरीदने के लिए 10 प्रतिशत अनुदान प्रदान किया जा रहा है। हिमाचल प्रदेश राज्य हथकरघा एवं हस्तशिल्प निगम के माध्यम से नौ जिलों में लगभग 450 हथकरघा बुनकरों को प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य में 12 विक्रय केन्द्रों और एक विक्रय केन्द्र दिल्ली के माध्यम से हथकरघा उत्पादों की बिक्री सुनिश्चित की जा रही है।

 

मुख्यमंत्री ग्रामीण कौशल योजना के तहत बुनकरों को किया जा रहा प्रशिक्षित

जयराम ठाकुर ने कहा कि राज्य के कुल्लू, मंडी और कांगड़ा जिलों में राष्ट्रीय हथकरघा विकास कार्यक्रम क्रियान्वित किया जा रहा है। इस कार्यक्रम के अन्तर्गत 10 हथकरघा समूहों के लगभग 2500 बुनकरों को वित्तीय सहायता प्रदान की गई है। मुख्यमंत्री ग्रामीण कौशल योजना के अन्तर्गत बुनकरों को प्रशिक्षण भी प्रदान किया जा रहा है। कुल्लू जिला में 700 से अधिक बुनकर सहकारी समितियां और कुटीर उद्योग काम कर रहे हैं। इस उद्योग में लगभग छह हजार उद्यमी कार्यरत है जिसके अन्तर्गत 150 करोड़ रुपये का वार्षिक कारोबार किया जा रहा है।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी Youtube Channel

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

#Mandi: बल्ह में पति ने शराब के नशे में पत्नी की डंडे से पीटकर दी हत्या

अनुष्का की खिंचाई पर गावस्कर की सफाई: मेरा कमेंट #Virat की प्रैक्टिस पर था, कुछ भी भद्दापन नहीं था

#High_Court: मुख्य सचिव और स्वास्थ्य सचिव को कल Court में उपस्थित होने के दिए निर्देश, जाने क्यों

हिमाचल Cabinet मीटिंग कल, बसों की इंटर स्टेट मूवमेंट पर हो सकता है फैसला

हाईकोर्ट में #SMC मामले को लेकर सरकार के आवेदन पर सुनवाई टली

जयराम की मौजूदगी में हिमाचल पुलिस व IIT मंडी में MOU साइन, जाने क्या होगा फायदा

#Fatehpur: फंदे पर झूली महिला व दो माह पहले कुत्ते के काटे मासूम ने तोड़ा दम

#Central University प्रवेश परीक्षा की तिथि बदली, विश्व पर्यटन दिवस पर होंगे कार्यक्रम

Inside: बीजेपी के पन्ना प्रमुख का तोड़ लेकर आ रही है Congress,दो दिन का निचोड़

गलवान घाटी संघर्ष में कितने चीनी सैनिक मारे गए थे: #China ने पहली बार हटाया राज से पर्दा

कोहली के Out होने पर गावस्कर बोले- लॉकडाउन में केवल अनुष्का की गेंदो का सामना किया, मिला जवाब

#Haryana: शख्स ने पत्नी, साली व सास की हत्या के बाद उनके शव का किया रेप; गिरफ्तार

#DC kangra को अस्पताल से मिली छुट्टी, सात दिन होम आइसोलेशन में रहेंगे

Harley-Davidson ने भारत से समेटा अपना कारोबार; जानें क्या है वजह

#Viral_Video : घर बैठे गेहूं पीसने के लिए लगाया ऐसा जुगाड़, कसरत के साथ हो रहा काम

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board

D.El.Ed CET स्पोर्ट्स कैटेगरी काउंसलिंग में आधे अभ्यर्थी ही पात्र

#HPBose: SOS मैट्रिक व जमा दो कक्षाओं की प्रैक्टिकल परीक्षा की डेटशीट जारी

तकनीकी विवि में द्वितीय, चतुर्थ और छठे समेस्टर के छात्रों को किया जाएगा Promote

शिक्षकों-गैर शिक्षकों को स्कूल बुलाने के लिए Notification जारी, विभाग ने ये दिए निर्देश

#HPBose: बोर्ड की अनुपूरक परीक्षाओं से संबंधित जानकारी के लिए घुमाएं ये नंबर

D.El.Ed. CET -2020 की स्पोर्टस कोटे की काउंसिलिंग अब 17 को डाइट में होगी

#HPBose: बोर्ड ने D.El.Ed.CET स्पोर्ट्स कैटेगरी काउंसलिंग की तिथि की तय

#HPBose: हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने घोषित किया यह रिजल्ट- जानिए

Himachal के सरकारी स्कूलों में नौवीं से 12वीं के #OnlineExam आज से शुरू

#HPBose: D.El.Ed. CET स्पोर्ट्स कैटेगरी की काउंसलिंग स्थगित- जाने कारण

#HPBose_ Dharamshala: बोर्ड ने घोषित किया यह रिजल्ट, वेबसाइट में देखें

बड़ी खबर: हिमाचल में सितंबर के बाद स्कूल खुलने के संकेत; छात्रों के #Syllabus को लेकर भी बड़ा फैसला

Himachal: तकनीकी शिक्षा बोर्ड विद्यार्थियों को अगली कक्षा में करेगा प्रमोट, इनकी होंगी परीक्षाएं

मार्च की 10वीं और 12वीं SOS की Practical परीक्षा में Absent छात्रों को विशेष अवसर

#HPBose: D.El.Ed. CET स्पोर्ट्स कैटेगरी काउंसलिंग की तिथियां घोषित



×
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है