शिमला: धामी में लोगों ने एक दूसरे पर जमकर बरसाए पत्थर, खेला खूनी खेल-जाने कारण

दिवाली के दूसरे दिन धामी के हलोग में होता है पत्थर का मेला

शिमला: धामी में लोगों ने एक दूसरे पर जमकर बरसाए पत्थर, खेला खूनी खेल-जाने कारण

- Advertisement -

शिमला। धामी में एक-दूसरे पर पत्थर बरसा रहे लोगों को देख कर यही लग रहा था कि यहां कोई झगड़ा हुआ है। लेकिन यह सच नहीं है। दरअसल शिमला से करीब 30 किलोमीटर दूर धामी के हलोग में पत्थरों का एक अनोखा मेला (Stone Fair) होता है। सदियों से मनाए जा रहे इस मेले को पत्थर का मेला कहा जाता है। दिवाली (Diwali) से दूसरे दिन मनाए जाने वाले इस मेले में दो समुदायों के बीच पत्थरों की जमकर बरसात होती है। ये तब तक जारी रहती है जब तक कि एक पक्ष लहूलुहान न हो जाए। सैंकड़ो की संख्या में लोग धामी के खेल मैदान में एकत्रित होकर इस पत्थर के खेल में शामिल होते है। फिर धामी रियासत के राजा पूरे शाही अंदाज में मेले वाले स्थान पर पहुंचते है।


हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी हजारों की संख्या में लोग हलोग धामी के खेल मैदान में एकत्रित हुए। धामी रियासत के राजा जगदीप सिंह पूरे शाही अंदाज में मेले वाले स्थान पर पहुंचे। शाम करीब साढ़े तीन बजे  मेला शुरू हुआ और दोनों और से पत्थरों की बारिश होने लगी। इसी बीच कतेडूं (धामी) की ओर से टीम में शामिल दीवांशु कश्यप के सिर पर पत्थर लगने पर पत्थरबाजी बंद करने का इशारा किया गया। खून का तिलक माता के मंदिर में बने चबूतरे में लगाया गया और माता का आशीर्वाद लिया गया। करीब 10 मिनट तक चले इस पत्थरबाजी का सिलसिला यहीं थम गया।


कहा जाता है कि पहले यहां हर वर्ष नर बलि दी जाती थी। एक बार रानी यहां सती हो गई। इसके बाद से नर बलि को बंद कर दिया। इसके बाद पशु बलि शुरू हुई। कई दशक पहले इसे भी बंद कर दिया। इसके बाद पत्थर का मेला शुरू किया गया। मेले में पत्थर से लगी चोट के बाद जब किसी व्यक्ति का खून निकलता है तो पत्थर लगने के बाद मेले को बंद कर सती माता के चबूतरे पर खून चढ़ाया जाता है। यहां एक राज परिवार की तरफ से तुनड़ूए जठौती और कटेड़ू परिवार की टोली और दूसरी तरफ से जमोगी खानदान की टोली के सदस्य ही पत्थर बरसाने के मेले में भाग ले सकते हैं। बाकी लोग पत्थर मेले को देख सकते हैंए लेकिन वह पत्थर नहीं मार सकते हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

ब्रेकिंग: सियाचिन में हिमस्खलन, चार सैनिक और दो नागरिकों की मौत

बिग ब्रेकिंगः Ravinder Ravi के कहने पर ही मसंद ने वायरल की थी पोस्ट, रिपोर्ट में खुलासा

कोटखाई में सड़क हादसा, दो लोगों की मौत- जांच में जुटी पुलिस

दलाई लामा से मिले बंडारू दत्तात्रेय, तिब्बतियों को पूर्ण समर्थन का दिया आश्वासन

Important : अब गैर हिमाचलियों की तृतीय और चतुर्थ श्रेणी के पदों पर नहीं होगी नियुक्ति

जयराम बोलेः अप्रशिक्षित व अनुभवहीन पैराग्लाइडर पर होगी कार्रवाई

कैबिनेट का बड़ा फैसला : भरी जाएंगी फार्मासिस्ट की यह 200 पोस्ट

जवाली महिला मौत मामलाः सड़क पर शव रख एक घंटा चक्का जाम, दर्ज हो मर्डर केस

कुल्लू: पत्नी संग हनीमून मनाने आया था युवक, पैराग्‍लाइडिंग हादसे में चली गई जान

जयराम सरकार यहां मनाएगी दो साल का जश्न, लगी मुहर

Live : विधानसभा का शीतकालीन सत्र दिसंबर की किस तारीख से, कैबिनेट में हुआ फैसला

सुंदर ठाकुर बोले- डबल इंजन कहलाने वाली सरकार का इंजन सीज हो गया

गाइड की सताई छात्रा ऐसे रोई कृषि विश्वविद्यालय पालमपुर पर आफत बन आई ,देखें वीडियो

केजरीवाल सरकार का बड़ा ऐलान : बिजली, पानी और यात्रा के बाद अब ये सेवा होगी मुफ्त

जेएनयू छात्रों का संसद मार्च शुरू : बैरिकेड तोड़े, पुलिस के साथ धक्का-मुक्की, छात्र हिरासत में

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है