सुक्खू ने ट्रिब्यूनल भंग करने के फैसले पर उठाए सवाल, इन्होंने किया स्वागत

सुक्खू बोले- ट्रिब्यूनल भंग होने से बढ़ेगा कर्मचारियों का उत्पीड़न

सुक्खू ने ट्रिब्यूनल भंग करने के फैसले पर उठाए सवाल, इन्होंने किया स्वागत

- Advertisement -

शिमला/नाहन। पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष व विधायक सुखविंद्र सिंह सूक्खू (Sukhwinder Singh Sukhu) ने हिमाचल प्रदेश प्रशासनिक ट्रिब्यूनल (Himachal Pradesh Administrative Tribunal) को भंग करने पर सवाल उठाए हैं। वहीं, हिमाचल प्रदेश अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ जिला ईकाई सिरमौर (Sirmaur) ने फैसले का स्वागत किया है।


यह भी पढ़ें: बीआरओ व बीएसएनएल के अधिकारी भी शामिल होंगे जनमंच में

 

सूक्खू ने कहा कि इससे कर्मचारियों का उत्पीड़न बढ़ेगा। तबादला माफिया को और फलने-फूलने में मदद मिलेगी। ट्रिब्यूनल न होने से कर्मचारी (Employee) न्यायालय के चक्कर काट-काटकर परेशान होंगे।

पूर्व कांग्रेस सरकार ने प्रशासनिक ट्रिब्यूनल गठित कर कर्मचारियों को तबादला (Transfer) होने पर अपनी बात रखने का एक माध्यम प्रदान किया था, जहां उसे आसानी से राहत मिल जाती थी। हाइकोर्ट (High Court) में पहले से काम का बोझ है। तबादले संबंधी केस जाने से मामलों की संख्या और बढ़ेगी। कर्मचारियों को तत्काल राहत नहीं मिल पाएगी। जेब भी ज्यादा ढीली करनी होगी। सूक्खू ने कहा कि कांग्रेस पार्टी इसका कड़ा विरोध करती है।

अब कर्मचारी हाईकोर्ट में दायर कर सकेंगे याचिका

उधर, सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक (Cabinet Meeting) में प्रशासनिक ट्रिब्यूनल को भंग (Dissolve) करने के फैसले का स्वागत करते हुए अराजपत्रित कर्मचारियों ने कर्मचारियों के पक्ष में लिया गया एक बड़ा फैसला करार दिया है।

 

यह भी पढ़ें: कुल्लू में माकपा लाल, रोष रैली निकाल की नारेबाजी-मंत्रियों का होगा घेराव

 

हिमाचल प्रदेश अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ जिला ईकाई सिरमौर (Sirmaur) के प्रधान अजय जोशी, वरिष्ठ उप प्रधान राम भगत, महासचिव गीतेश पराशर, मुख्य सलाहकार प्रेम पाल ठाकुर, भारत भूषण, जिला सिरमौर की समस्त ईकाईयों के प्रधान राजीव वालिया, प्रेम पाल, राजेंद्र, आत्माराम शर्मा, लायकराम, जगदीश शर्मा, धर्म सिंह चौधरी, उमेश शर्मा, हरीश पुंडीर, संजीव, अतुल शर्मा, दिनेश, प्रदीप शर्मा, जगतराम, राजेश चौहान, कला, रंजना माटा, अनीता शर्मा, प्रितिका परमार, पूजा, गंगवीर, कपिल शर्मा, विजय पाल, कृष्ण रावत, शान मोहम्मद, तेजवीर सिंह व जागर सिंह ने कहा कि अराजपत्रित कर्मचारी पिछले काफी अरसे से प्रशासनिक ट्रिब्यूनल को भंग करने की मांग कर रहे थे।

संघ के तदर्थ कमेटी (Committee) के राज्य अध्यक्ष विनोद कुमार द्वारा कर्मचारियों का पक्ष रखते हुए सीएम को ज्ञापन सौंप कर प्रशासनिक ट्रिब्यूनल को भंग करने की मांग की थी। उन्होंने कहा कि वर्ष 2008 में ट्रिब्यूनल भंग होने के पश्चात, हाईकोर्ट द्वारा वेतन लाभ, पदोन्नति तथा वरिष्ठता से संबंधित अनेकों मसलों में कर्मचारियों के पक्ष में निर्णय दिया। वर्ष 2015 में प्रशासनिक ट्रिब्यूनल की पुनः बहाली के बाद कर्मचारियों के मसलों पर समय से फैसले नहीं हो पा रहे थे। अब कर्मचारी अपने मसलों को लेकर हाईकोर्ट में याचिका दायर कर सकेंगे तथा कम समय में न्याय पा सकेंगे।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

नगवाईं में जनसमस्याएं सुनने गए एसडीएम सन्नी शर्मा पर हमले का प्रयास

पांवटा साहिब की अदालतों में दिन भर खड़े रखे 32 नशेड़ी चालक

भारी पुलिस बल की मौजूदगी में सुबाथू में तोड़े अवैध निर्माण

सीएम ने खोला खिलाड़ियों के लिए खजानाः 30 लाख बढ़ाई खेल अनुदान राशि

नादौन: इलाज के बहाने तांत्रिक ने महिला से दो साल तक किया दुष्कर्म

उपचुनावों पर बोले सत्ती , संसदीय बोर्ड को जल्द भेजी जाएगी उम्मीदवारों की सूची

वरिष्ठ न्यायाधीश धर्मचंद चौधरी फिर बने हाईकोर्ट के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश

कांग्रेस ने पच्छाद व धर्मशाला सीटों के लिए पार्टी प्रत्याशियों से आवेदन मांगे

जयराम बोले- कार्यकर्ताओं के साथ बैठकर जल्द करेंगे दोनों सीटों पर प्रत्याशियों की घोषणा

राठौर ने बीजेपी पर साधा निशाना, इतिहास से छेड़छाड़ के लगाए आरोप

चिट्टे के साथ पकड़े  बीजेपी नेता के पुत्र को नहीं मिली जमानत, कोर्ट ने रद्द की याचिका

जूनियर ऑफिस असिस्टेंट आईटी पद के लिए आए 47 आवेदन रद्द

मार्कंडेय बोलेः 25 दिसंबर को पीएम मोदी करेंगे रोहतांग टनल का उद्घाटन

सीएम को बुद्धिज्म कल्चरल स्टडी विवि का शिलान्यास करने के लिए किया आमंत्रित

हिमाचल उपचुनावः धर्मशाला व पच्छाद सीटों पर इस दिन डाले जाएंगे वोट

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है