उत्तराखंड के सभी स्कूलों में कक्षा 3 से 8 तक संस्कृत पढ़ाना हुआ अनिवार्य

शिक्षा मंत्री बोले- हमें स्वीकारना होगा कि संस्कृत ने हमारी संस्कृति को, समृद्ध बनाया है

उत्तराखंड के सभी स्कूलों में कक्षा 3 से 8 तक संस्कृत पढ़ाना हुआ अनिवार्य

- Advertisement -

 


नई दिल्ली। उत्तराखंड (Uttarakhand) सरकार ने सभी सरकारी और निजी स्कूलों (all schools) में तीसरी से लेकर आठवीं कक्षा तक संस्कृत भाषा (Teaching Sanskrit) को अनिवार्य (mandatory) कर दिया है। राज्य के स्कूली और संस्कृत शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने इस पहल की घोषणा करते हुए कहा कि मौजूदा पीढ़ी को प्राचीन भाषा जाननी चाहिए। उन्होंने कहा, ‘हमें स्वीकारना होगा कि संस्कृत ने हमारी संस्कृति को, समृद्ध बनाया है।’ बता दें कि पूरे उत्तराखंड में सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड के स्कूलों की संख्या तकरीबन पांच हजार है। इसके अलावा संस्कृत स्कूलों के शिक्षकों का मानदेय बढ़ाने का प्रस्ताव भी तैयार कर लिया गया है।

 

यह भी पढ़ें: हो जाएं तैयारः हिमाचल में जल्द लागू होगा सेंट्रल मोटर व्हीकल एक्ट

 

शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने शिक्षा और पंचायतीराज विभाग में नाम पट्टिका और कार्यक्रमों के निमंत्रण पत्रों में भी संस्कृत का उपयोग करने के लिए कहा है। इतना ही नहीं, पीएम नरेंद्र मोदी के प्लास्टिक के खिलाफ अभियान के तहत 19 और 20 सितंबर को राज्य के सभी स्कूलों में जागरूकता अभियान भी चलाया जाएगा। शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने कहा कि इस सत्र में कुछ निजी स्कूलों की शिकायतें मिली हैं। हाईकोर्ट भी आदेश दे चुका है। महंगी किताबें किसी सूरत में नहीं लगाई जा सकतीं। अगले शैक्षिक सत्र में इसे 100 फीसदी लागू करेंगे। दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। जरूरत पड़ी तो सरकार एनसीईआरटी किताबों की अनिवार्यता के लिए कानून भी बनाएगी।

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

कांगड़ा और ऊना में कार्यरत पंजाब के इन कर्मचारियों को अवकाश घोषित

काम में कौताही पर पंचायत प्रधान और वार्ड सदस्य बर्खास्त

संतोषगढ़ के चौकी प्रभारी लाइन हाजिर, एसपी के आदेशों को हल्के में ले रहे थे

सेल्फी ले रही दो सहेलियां पार्वती नदी में बही, एक बच निकली दूसरी का अता-पता नहीं

शांता क्यों बोले ,जीवन के अंतिम पड़ाव पर मुझे किसी से भी प्रमाण पत्र की जरूरत नहीं

धूमल बोलेः कागजी सवाल करते हैं कांग्रेसी, कागजों में बनती है राजधानी

ऊना में नशा माफियाः अवैध शराब, चरस और प्रतिबंधित दवाओं सहित दो धरे

महिला मौत मामलाः एसएचओ हमीरपुर ने शव ले जा रहे लोगों पर क्यों तानी पिस्टल, होगी जांच

रातों रात सड़क पर कर डाला कब्जा, विभाग ने भेजा नोटिस

शराब की बोतल हाथ में लेकर छात्राओं के सामने टिक टॉक वीडियो बनाता गया कॉलेज कर्मी

मुकेश बोले, धर्मशाला दूसरी राजधानी है,सत्ता में लौटते ही उठाएंगे व्यापक कदम

दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल के औचक निरीक्षण पर पहुंचे राज्यपाल दत्तात्रेय

टैक्सी चालक हत्या मामले में परिजनों ने मंडी-पठानकोट एनएच पर किया चक्का जाम

पच्छाद उपचुनाव : डैमेज कंट्रोल के लिए खुद प्रचार में उतरे सीएम, बडू साहिब गुरुद्वारे में नवाया शीश

पहले किया हमला फिर लगाई आग, पति-पत्नी की मौत, बेटी गंभीर

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है