अरे वाह ! कविताएं सुनाकर और गाने गाकर लोगों को ट्रैफिक रूल समझाते हैं ये जनाब

ट्रैफिक पुलिस अधिकारी ने निकाला जागरुकता का अनोखा तरीका

अरे वाह ! कविताएं सुनाकर और गाने गाकर लोगों को ट्रैफिक रूल समझाते हैं ये जनाब

- Advertisement -

नई दिल्ली। रोड सेफ्टी को लेकर लोगों को जागरूक करने के लिए सरकार कई तरह के प्रयास कर रही है। दिल्ली के एक ट्रैफिक पुलिस अधिकारी (Traffic police officer) ने लोगों को जागरूक करने का अनोखा ही तरीका निकाला है। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस में तैनात एएसआई रामवीर सागवान सड़कों पर हाथ में माइक लिए ये अधिकारी कविताएं सुनाकर और गाने गाकर लोगों को रोड सेफ्टी (Road safety) के लिए प्रेरित करते हैं।


यह भी पढ़ें :-यह है दुनिया की पहली फाइव स्टार जेल, कैदियों को मिलती हैं ये सुविधाएं

सागवान ट्रैफिक स्कूलों, कॉलेजों और पब्लिक प्लेस में भी ट्रैफिक रूल को फॉलो करने की अपील करते हैं। अपनी बातों को ज्यादा प्रभावशाली बनाने के लिए सागवान कविताओं और गाने का भी सहारा लेते हैं। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस की रोड सेफ्टी सेल (पंजाबी बाग) में एएसआई (ASI) के पद पर तैनात रामवीर सागवान रोहतक जिले के गांव पिलाना के रहने वाले हैं। शुरुआत के 12 साल झड़ोदा कलां स्थित पुलिस ट्रेनिंग कॉलेज में लॉ इंस्ट्रक्टर (Law instructor) के तौर पर काम किया जिसके बाद जून 2017 में दिल्ली ट्रैफिक पुलिस में शामिल हुए। सागवान बताते हैं कि दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ज्वाइन करने के बाद देशभर में रोजाना एक्सिडेंट में मरने वालों की संख्या देखकर उनके होश उड़ गए।

 


समझाते हैं इंसान की जिंदगी की अहमियत

एक्सिडेंट का कारण जानने पर पता चला कि अधिकतर रोड एक्सिडेंट खुद की लापरवाही से ही हो रहे हैं। यहां से रोड सेफ्टी पर काम करने का मन में विचार आया। इस पर उन्होंने जुलाई 2017 से काम करना शुरू किया। सागवान रोजाना सुबह दिल्ली (Delhi) की सड़कों पर ट्रैफिक के प्रति लोगों को जागरूक करने निकल जाते हैं। सबसे अधिक फोकस ग्रामीण सेवा और आरटीवी में ओवरलोडिंग पर है। ऐसे गाड़ियों को रोककर सागवान सबसे पहले यात्रियों से ही सुरक्षा को लेकर सवाल करते हैं, फिर उन्हें कविताओं और गानों के माध्यम से सुरक्षा का पाठ पढ़ाते हैं। वहीं ड्राइवर को इंसान की जिंदगी की अहमियत समझाते हैं। आइंदा ओवरलोडिंग पैसेंजर्स (Overloading passenger) न बैठाने को लेकर भी अपील करते हैं।

यह भी पढ़ें :-दुनिया का पहला कब्रिस्तान जहां लाशें नहीं जहाज होते हैं दफन


कानून की 16 किताबें लिख चुके

सागवान बताते हैं कि वह कानून की 16 किताबें लिख चुके हैं। एक हजार से ज्यादा आईपीसी, सीआरपीसी और अन्य अधिनियमों की धाराओं को याद रखने वाले सागवान बताते हैं कि खुद की लिखी गई किताबों में धाराएं कैसे याद रखें, इस पर खास जोर दिया गया है। सागवान बताते हैं कि गांव पिलाना में एक एकड़ खुद की जमीन पर रोड सेफ्टी सेंटर (Road Safety Center) और स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स बनवा रहे हैं। इस सेंटर के माध्यम से लोगों को निशुल्क ट्रैफिक रूल्स की जानकारी दी जाएगी।

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

सीएम जयराम बोले- कैदियों के प्रति समाज की धारणा बदलने की जरूरत

तेजस में उड़ान भरने वाले पहले रक्षा मंत्री बने राजनाथ सिंह

रेड अलर्ट : मायानगरी मुंबई में आज भारी बारिश की चेतावनी, स्कूल-कॉलेज बंद

हिमाचल प्रदेश हाईकोर्ट के CJ समेत 4 जज की हुई सुप्रीम कोर्ट में नियुक्ति, सोमवार को लेंगे शपथ

एचपीयू ने स्नातक प्रथम वर्ष में फेल हुए 21 हजार विद्यार्थियों को दी राहत, ले सकेंगे दाखिला

युवा कांग्रेस ने सुधीर को दी प्यार भरी सलाह,अपने "उपचुनाव" की करो तैयारी

रामलाल ठाकुर के जख्म हुए हरे, एचपीसीए को लेकर उठाए अब ये सवाल

सत्ती बोले, "सुधीर की हरकतें" बता रही हैं कांग्रेस का हाल

रिजल्ट अपग्रेड नहीं किया तो एनएसयूआई सड़कों पर करेगी आंदोलन

इस दिन होगी टैट की परीक्षाएं, शिक्षा बोर्ड ने जारी किया शैड्यूल  

पूजा के धूप से मैकेनिक की दुकान में लगी आग, दो युवक झुलसे

नाहन: अवैध कब्जों पर ताबड़तोड़ कार्रवाई, तीसरे दिन भी टूटे कई आशियानें

वीरभद्र सिंह की हालत स्थिर, पूरी तरह से स्वस्थ होने में लगेंगे कुछ दिन

सुंदरनगर: कलखर में खाई में लुढ़की कार, पेड़ से अटकी

सोलन में बोले भागवत- संघ कर्म के जरिए लोगों को धर्म से जोड़ने का काम करता है

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है