Covid-19 Update

38,327
मामले (हिमाचल)
28,993
मरीज ठीक हुए
602
मौत
9,351,224
मामले (भारत)
61,988,059
मामले (दुनिया)

पहाड़ी राज्य में बारिश का कहर, नदी पार करती तीन महिलाएं बहीं, एक का शव बरामद

पहाड़ी राज्य में बारिश का कहर, नदी पार करती तीन महिलाएं बहीं, एक का शव बरामद

- Advertisement -

देहरादून। पहाड़ी राज्य उत्तराखंड (Uttarakhand) से दुखदायी खबर सामने आ रही है। दो दिनों से आफत बनकर बरस रही बारिश के बीच नदी पार कर रही तीन महिलाएं बह गई हैं। भवाली अल्मोड़ा राष्ट्रीय राजमार्ग पर जौरासी के पास घास काटकर कोसी नदी (Kosi River) पार कर रही तीन महिलाएं पानी के तेज उफान में बहने से लापता हो गईं। घटना की सूचना मिलते ही एसडीआरएफ और भवाली कोतवाली समेत खैरना चौकी पुलिस की टीम भी मौके पर पहुंची। लापता महिलाओं की खोजबीन शुरू की तो इस दौरान एक महिला का शव बरामद हुआ है। वहीं, अन्य दो का अभी तक उनका कोई सुराग नहीं लग पाया है। बारिश के कारण नदियां उफान पर चल रही हैं। बारिश के कारण पहाड़ी इलाकों में जनजीवन अस्त-व्यस्त (Life disturbed) हो गया है। पहाड़ियों से मलबा सड़कों तक आ गया है। वहीं, करीब एक दर्जन दुकानों और घरों में पानी भी घुस गया।

ये भी पढे़ं – बारिश-तूफान के बीच Kangra District में हो गया क्या हाल, देखें तस्वीरें

 

कुमाऊं के बागेश्वर में कलना बैंड के पास सड़क का करीब 10 मीटर तक हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया है। वहीं, श्रीनगर के श्रीकोट में अलकनंदा नदी का अचानक जलस्तर बढ़ने से एक व्यक्ति बीच नदी में ही फंस गया। लोगों ने किसी तरह इसकी सूचना एसडीआरएफ (SDRF) को दी। नदी में फंसे व्यक्ति को राहत दल ने राफ्ट के सहारे बाहर निकाला। हरिद्वार में रविवार सुबह तेज बारिश से जगह-जगह जलभराव हो गया है। वहीं, कनखल के लाटो वाली कॉलोनी में भी पानी भरा गया है। बारिश के कारण चंडी देवी के पहाड़ से पत्थर भी गिर रहे हैं। इसके चलते रास्ता बंद हो गया है। कोटद्वार (Kotdwar) में भारी बारिश के कारण तटबंध टूट गया। जिसके कारण क्षेत्र के नदी-नाले उफान पर आ गए। इसके चलते लोगों के घरों में पानी और मलबा घुस गया। वहीं, कई जगह खेती को भी नुकसान हुआ है। आंधी-तूफान से पेड़ भी गिर रहे हैं। पहाड़ी से भूस्खलन होने से कई जगह रास्ते बंद हैं। मलबा आने से लोगों के घरों में पानी भी घुस गया है।

 

 

बद्रीनाथ-यमुनोत्री हाईवे डेंजर जोन में तब्दील

बारिश के शुरू होते ही बद्रीनाथ और यमुनोत्री हाईवे (Badrinath and Yamunotri Highway) डेंजर जोन में तब्दील हो गए हैं। यहां लगातार पहाड़ी से पत्थर गिर रहे हैं वहीं मलबा आने से रास्ता भी बंद है। हाईवे के हालात ऐसे हो गए हैं कि यहां जाना खतरे से खाली नहीं है। पहाड़ में दो दिन से लगातार हो रही बारिश के कारण बद्रीनाथ नेशनल हाईवे सुबह तोता घाटी और सकनिधार के बीच बंद हो गया है। बारिश से बद्रीनाथ हाईवे पर पहाड़ी से पत्थर गिर रहे हैं। यमुनोत्री धाम सहित यमुना घाटी में भी आधी रात से बारिश हो रही है। यमुनोत्री हाईवे ओजरी डबरकोट मे मलबा और बोल्डर आने से बंद हो गया है। हाईवे को खोलने के प्रयास किए जा रहे हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है