Covid-19 Update

37,497
मामले (हिमाचल)
28,993
मरीज ठीक हुए
589
मौत
9,309,871
मामले (भारत)
61436,257
मामले (दुनिया)

पुलिस स्मृति दिवस पर प्रदेश भर में पुलिसकर्मियों के बलिदान को किया याद

लद्दाख में शहीद हुए वीर पुलिसकर्मियों को दी श्रद्धांजलि

पुलिस स्मृति दिवस पर प्रदेश भर में पुलिसकर्मियों के बलिदान को किया याद

- Advertisement -

मंडी/ऊना। कोरोना संक्रमण महामारी के बीच आज पूरे देश व प्रदेश में पुलिस स्मृति दिवस (Police Commemoration Day) मनाया गया। मंडी जिला में भी पुलिस स्मृति दिवस के मौके पर पुलिस लाइन मंडी में देश सेवा में बलिदान देने वाले पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। इस मौके पर शहीद पुलिसकर्मियों की याद में 2 मिनट का मौन भी रखा गया। एसपी शालिनी अग्निहोत्री, डीएसपी करण गुलेरिया सहित कई पुलिसकर्मियों ने शहीद पुलिसकर्मियों को श्रद्धा सुमन अर्पित किए। शालिनी अग्निहोत्री ने बताया कि पुलिस स्मृति दिवस पूरे भारत में पुलिसकर्मियों और उनके परिवारों के प्रति आभार व्यक्त करने का दिन है। उन्होंने कहा कि आज के दिन पूरे देश में शहीद (Martyr) हुए सभी पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि दी जा रही है और उनके बलिदान को याद किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: #Ram_Vilas_Paswan को अंतिम विदाई : राष्ट्रपति-PM Modi-जेपी नड्डा सहित कई नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

उन्होंने कहा कि कोरोना काल के दौरान सभी पुलिसकर्मियों ने बेहतर कार्य किया है जिसके लिए वे बधाई के पात्र हैं। गौरतलब है कि देश में सुरक्षा बलों के साथ-साथ पुलिस कर्मियों के शौर्य और बलिदान का इतिहास भी किसी से कम नहीं है। साल 1959 में पुलिसकर्मी चीनी सैनिकों (Chinese soldiers) की गोलियां सीने पर खाकर शहीद हुए थे। जनवरी 1960 में राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों के पुलिस महानिरीक्षकों का वार्षिक सम्मेलन हुआ था इस सम्मेलन में लद्दाख में शहीद हुए वीर पुलिसकर्मियों और हर वर्ष ड्यूटी के दौरान जान गंवाने वाले अन्य पुलिसकर्मियों को सम्मानित करने का फैसला लिया गया था तब से यह दिवस मनाया जाता है।

 

 

ऊना में एसपी अर्जित सेन ने 265 शहीदों को अर्पित किए श्रद्धा सुमन

वहीं, ऊना पुलिस ने पुलिस स्मृति दिवस के अवसर पर देश के अर्द्धसैनिक पुलिस संगठनों और पुलिस बलों के शहीदों को नमन कर श्रद्धांजलि (Tribute) अर्पित की। पुलिस लाइन झलेड़ा में आयोजित स्मृति दिवस कार्यक्रम में एसपी अर्जित सेन ठाकुर ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। इस दौरान शोक परेड की टोली ने शहीदी पुस्तिका को ससम्मान मंच पर रखा, जिसे मुख्यातिथि ने पढ़ा तथा पुलिस सेवाओं में रहते हुए शहादत का जाम पीने वाले 265 शहीदों को श्रद्धा सुमन अर्पित किए। पुलिस लाइन झलेड़ा में बने स्मृति स्मारक पर सभी पुलिस अधिकारियों और जवानों ने फूल मालाएं अर्पित की। एसपी अर्जित सेन ठाकुर ने बताया कि 21 अक्तूबर, 1959 को भारत चीन सीमा पर भारत के अर्द्धसैनिक बल सीआरपीएफ की एक टुकड़ी ने चीनी रेगुलर सेना के साथ भारत की सीमाओं का अतिक्रमण रोकने के लिए लोहा लेते हुए देश पर अपने प्राणों की आहुति दी थी तब से प्रतिवर्ष देश भर में 21 अक्तूबर को पुलिस स्मृति दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस दौरान डीएसपी ऊना रमाकांत, डीएसपी हरोली अनिल मेहता और डीएसपी अंब सृष्टि पांडे सहित पुलिस कर्मी भी मौजूद रहे।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है