Covid-19 Update

34,781
मामले (हिमाचल)
27,518
मरीज ठीक हुए
550
मौत
9,170,900
मामले (भारत)
59,245,882
मामले (दुनिया)

इस देश में रखा IPL-2020 की मेजबानी का प्रस्ताव, अब BCCI लेगी फैसला

इस देश में रखा IPL-2020 की मेजबानी का प्रस्ताव, अब BCCI लेगी फैसला

- Advertisement -

नई दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी (Corona virus epidemic)के कारण आईपीएल 2020 (IPL 2020) के आयोजन को लेकर संशय बरकरार है ऐसे में अब यूएई ने बीसीसीआई (BCCI) के सामने आपीएल 2020 की मेजबानी का प्रस्ताव रखा है। ऐसे में अब बीसीसीआई क्या फैसला लेती है, ये देखना रोचक होगा। हालांकि, ये पहली बार नहीं है जब यूएई आईपीएल की मेजबानी की बात कर रहा हो, इससे पहले भी ये देश IPL की मेजबानी कर चुका है। भारत में हुए 2014 आम चुनावों के दौरान यूएई ने IPL के 20 मैचों का आयोजन किया था।

अब तक दो बार आईपीएल (IPL) को भारत से बाहर स्थानांतरित किया जा चुका है. 2009 के आईपीएल संस्करण को लोकसभा चुनाव के कारण दक्षिण अफ्रीका ले जाया गया था. इसके बाद 2014 के चुनाव के समय भी आईपीएल के पहले दो हफ्ते की मेजबानी यूएई ने की थी.

अमीरात क्रिकेट बोर्ड (Emirates Cricket Board)के महासचिव मुबाशिर उस्मानी ने मीडिया से कहा- ‘हमने कई सीरीजों की एक तटस्थ आयोजन स्थल के रूप में मेजबानी की है। हमारी सुविधाएं सभी तरह के क्रिकेट की मेजबानी के लिए इसे उपयुक्त बताती हैं। हम आगे आकर भारत और इंग्लैंड को अपने यहां खेलने का प्रस्ताव देते हैं। पहले भी ईसीबी ने यूएई में आईपीएल मैचों की मेजबानी की है। हमने इंग्लैंड (England) टीम के कई मैचों की मेजबानी की है। अगर कोई भी बोर्ड हमारा प्रस्ताव मंजूर करता है तो हम उनके मैचों की मेजबानी कर खुश होंगे।’

उधर, यूएई के इस प्रस्ताव पर बीसीसीआई (BCCI)के एक अधिकारी का कहना है कि, आईपीएल के आयोजन को लेकर यही कहा जाता है कि लीग भारत में ही हो,  लेकिन कुछ ऐसे भी हैं जो चाहते हैं कि परिस्थिति की मांग को देखते हुए अगर जरूरत पड़ती है तो लीग को भारत के बाहर भी ले जाया जा सकता है।’

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा- ‘बोर्ड में यह निर्णय लेने वालों का 3-2 से विभाजित होने का मामला है। किसने क्या कहा, के नाम पर न जाते हुए, मैं आपको बता सकता हूं कि आम धारणा यह है कि भारत में लीग होना न केवल देश के लोगों में सकारात्मकता का प्रतीक होगा, बल्कि हमारी मदद भी करेगा क्योंकि हमें भी विदेश जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।’

अधिकारी ने कहा-  ‘यहां कुछ लोग ऐसा भी मानते हैं कि हर हाल में टूर्नामेंट का आयोजन होना चाहिए और यह उनकी प्राथमिकता है और इसका मतलब इसे देश से बाहर ले जाने की है। इसलिए ऐसे में जब हम सभी योजनाओं पर काम कर रहे हैं, तो आयोजन स्थल एक ऐसा क्षेत्र है जिसपर और ज्यादा विचार-विमर्श की आवश्यकता होगी। इसके अलावा खिलाड़ियों की सुरक्षा और सभी लोगों की सुरक्षा भी हमारी प्राथमिकता है।’

उन्होंने कहा- देखिए, अगर लीग का आयोजन देश में होता है तो इससे न केवल विश्व को एक सकारात्मक संदेश जाएगा, बल्कि भारत के लोगों को भी यह विश्वास हो जाएगा कि हम चीजों को फिर से सामान्य करने में सफल रहे। अगर आप बाहर जाते हैं तो यह थोड़ा महंगा भी होगा। मेरा मानना है कि अधिकतर टीमें भारत को अपनी प्राथमिकता देगी।’ बता दें BCCI आईपीएल के 13वें सीजन का आयोजन 25 सितंबर से एक नवंबर के बीच कराने का मन बना रहा है।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है