Covid-19 Update

34,781
मामले (हिमाचल)
27,518
मरीज ठीक हुए
550
मौत
9,170,900
मामले (भारत)
59,245,882
मामले (दुनिया)

#Kangra: तीन माह में सड़क पक्की ना हुई तो होगा प्रदर्शन और चक्का जाम

फतेहपुर की नंगाल पंचायत के सात गांवों के ग्रामीणों ने एसडीएम को मांगपत्र सौंप दी चेतावनी

#Kangra: तीन माह में सड़क पक्की ना हुई तो होगा प्रदर्शन और चक्का जाम

- Advertisement -

रविन्द्र चौधरी/फतेहपुर। जिला कांगड़ा के उपमंडल फतेहपुर (Fatehpur) की पंचायत नंगाल के करीब 7 गांव आजादी के इतने सालों बाद भी काले पानी जैसी सजा काट रहे हैं। इन गांवों के लिए तत्कालीन केंद्र की वाजपेई सरकार के दौरान कच्ची सड़क (Road) का निर्माण करवाया गया था। लेकिन उसके बाद सरकार और विभाग जैसे सो ही गए। यह सड़क आज तक पक्की नहीं हो पाई, जिसके चलते बरसात के मौसम में गांव में बीमार हुए लोगों को कंधों पर या चारपाई पर उठाकर मुख्य सड़क तक पहुंचाना पड़ता है, लेकिन अब ग्रामीणों ने सरकार और प्रशासन से आमने सामने की लड़ाई का मन बना लिया है। ग्रामीणों ने मंगलवार को समाज सेवी रमेश दत कालिया के साथ मिलकर एसडीएम फतेहपुर (SDM Fatehpur) को एक मांग पत्र सौंप कर उनकी सड़क को पक्का करवाने की गुहारा लगाई है। साथ ही ग्रामीणों ने चेतावनी दी है कि 25 जनवरी 2021 तक अगर सड़क पक्की नहीं की गई तो ग्रामीण 20 जनवरी से धरना प्रदर्शन (Protest) शुरू करेंगे और साथ ही चक्का जाम किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: हिमाचल High Court का विद्युत बोर्ड कर्मचारियों के धरना-प्रदर्शन को लेकर बड़ा फैसला

जानकारी देते हुए ग्रामीणों में पूर्व पंचायत प्रधान अशोक कुमार, पूर्व पंचायत उपप्रधान मोहिंदर सिंह, महिला मंडल प्रधान रेशमा देवी, शुभम, जगदेव, कल्पना देवी, स्नेहा देवी, शिवानी, इंद्रा देवी, मीना कुमारी, जगीरो देवी, रक्षा देवी सहित अन्य ने बताया उनके करीब सात गांवों को जोड़ने वाला मुख्य मार्ग जब से बना है तब से कच्चा ही है। जिसे आज तक सरकार या प्रशासन (Govt and adminstration) पक्का नहीं कर पाया है। उन्होंने बताया कि अधिक मुशिकलें तब आती हैं जब बरसात के दिनों में गांव में कोई व्यक्ति बीमार हो जाता है। वहीं एसडीएम फतेहपुर बलबान चंद मंडोत्रा ने बताया कि लोगों ने सड़क को पक्का करने को लेकर मांगपत्र सौंपा है जिसे जल्द लोकनिर्माण विभाग को आगामी कार्रवाई के लिये प्रेषित कर दिया जाएगा।

राजनेताओं को वोट के समय आती है इन गांवों की याद

ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि राजनेताओं को उनके गांवों की याद वोट के समय आती है। वोट लेने के समय राजनेता उन्हें कई तरह के प्रलोभन देते हैं, लेकिन उसके बाद वह फिल पलट कर कभी अपना मुंह नहीं दिखाते हैं। लोगों का कहना है कि उनके क्षेत्र का प्रतिनिधित्व मौजूदा विधायक सुजान सिंह पठानिया व पूर्व में सांसद रहे डॉ. राजन सुशांत (Dr Rajan sushant) करते आए हैं, लेकिन उन्होंने भी आज तक इस सड़क को पक्का करने की जहमत नहीं उठाई। ग्रामीणों ने बताया कि उन्होंने अब आरपार की लड़ाई का मन बना लिया है। ग्रामीणों ने 25 जनवरी 2021 तक सड़क पक्की ना होने पर 26 जनवरी से धरना प्रदर्शन और चक्का जाम की चेतावनी दी है।

 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है