Covid-19 Update

1,98,313
मामले (हिमाचल)
1,89,522
मरीज ठीक हुए
3,368
मौत
29,419,405
मामले (भारत)
176,212,172
मामले (दुनिया)
×

यौन शोषण केस के विरोध में लॉ टॉपर ने चीफ जस्टिस से मेडल लेने से किया इंकार

यौन शोषण केस के विरोध में लॉ टॉपर ने चीफ जस्टिस से मेडल लेने से किया इंकार

- Advertisement -

 

नई दिल्ली। नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी दिल्ली की एलएलएम टॉपर (Law topper) सुरभि कारवा शनिवार को हुए दीक्षांत समारोह में शामिल नहीं हुई, जहां उन्हें चीफ जस्टिस (Chief Justice) रंजन गोगोई से गोल्ड मेडल मिलना था। कारवा ने कहा कि चीफ जस्टिस पर महिला कर्मचारी द्वारा लगाए गए यौन शोषण (sexual abuse case) के आरोप के केस को जिस तरीके से निपटाया गया, वह उसके विरोध में हैं। सुरभि ने कहा कि कक्षा में मैंने जो कुछ भी सीखा है, उसने मुझे पिछले कुछ हफ्तों में एक नैतिक प्रश्न में डाल दिया कि क्या मुझे CJI गोगोई से पुरस्कार मिलना चाहिए। करवा ने कहा कि वह पुरस्कार को अस्वीकार नहीं कर रही हैं।


 

यह भी पढ़ें- पीएम मोदी ने किया बड़ा ऐलान : तीनों सेनाओं का सेनापति होगा चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ

 

करवा ने कहा, ‘स्वर्ण पदक प्राप्त करना अपने आप में एक सम्मान है और मैं अपने माता-पिता और शिक्षकों का शुक्रगुजार हूं जिन्होंने मेरी मदद की। इसे एक व्यक्ति से प्राप्त करना उतना महत्वपूर्ण नहीं है जितना कि इसे प्राप्त करना।’ गौरतलब है कि एक महिला, जिसने पहले सुप्रीम कोर्ट में एक जूनियर कोर्ट असिस्टेंट के रूप में काम किया था, ने एक हलफनामे में आरोप लगाया कि गोगोई ने 10 अक्टूबर और 11 अक्टूबर, 2018 को अपने निवास कार्यालय में उसके साथ यौन संबंध बनाए। उसने एक शिकायत भेजी थी। सुप्रीम कोर्ट के 22 न्यायाधीशों ने 19 अप्रैल को गोगोई के कार्यों की जांच के लिए कहा, जिन्होंने कहा कि उन्होंने न केवल उसे परेशान किया, बल्कि उसके बाद के उत्पीड़न और उसके परिवार के लिए भी जिम्मेदार था।

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है