Covid-19 Update

2,00,282
मामले (हिमाचल)
1,93,850
मरीज ठीक हुए
3,423
मौत
29,853,870
मामले (भारत)
178,745,302
मामले (दुनिया)
×

Mukesh का तंज-हिमाचल की खज्जल सरकार ने लोग भी कर दिए ‘खज्जल’

Mukesh का तंज-हिमाचल की खज्जल सरकार ने लोग भी कर दिए ‘खज्जल’

- Advertisement -

ऊना। नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री (Leader of Opposition Mukesh Agnihotri) ने प्रदेश सरकार द्वारा कोविड-19 (Covid-19) की रोकथाम के लिए उठाए जा रहे कदमों को लेकर तंज कसा है। उन्होंने कहा कि सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) के पास अपने विधानसभा क्षेत्र सराज के लिए तो पैसा है, लेकिन कोविड-19 से जूझते लोगों के इलाज के लिए पैसा नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में लोग कोरोनावायरस के चलते मर रहे हैं, लेकिन सरकार इस वक्त भी संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रभावी कदम उठाने से बच रही है। उन्होंने कहा कि वर्तमान परिपक्ष में केवल मात्र पीएम के उस कथन को पूरा किया जा रहा है, जिसमें पीएम ने लॉकडाउन (Lockdown) नहीं लगाने की बात कही है। नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि हिमाचल प्रदेश की खज्जल सरकार ने प्रदेश के लोगों को भी खज्जल कर दिया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में सरकार द्वारा लागू किया गया कर्फ्यू किसी भी प्रकार से कर्फ्यू नहीं। कर्फ्यू (Curfew) लागू करना केवल मात्र डीसी के हाथ में होता है ऐसे में प्रदेश किस प्रकार का कर्फ्यू लागू कर रही है यह समझ से परे है।

यह भी पढ़ें :- Corona के बढ़ते मामलों पर मुकेश ने आड़े हाथ ली जयराम सरकार, क्या बोले-जाने

नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि इस समय प्रदेश में एक खज्जल सरकार है जो पूरे प्रदेश की जनता को भी खज्जल कर रही है। सरकार द्वारा जारी आदेशों में कहा गया है कि हमने लॉकडाउन लगा दिया है, अंतिम पैरा में यह भी कहा गया है कि जो लॉकडाउन के निर्देशों का पालन नहीं करेगा उस पर कार्रवाई की जाएगी। पीएम (PM) ने कह दिया है कि लॉकडाउन अंतिम विकल्प होगा और इसका इस्तेमाल नहीं होना चाहिए। यह सरकार लकीर के फकीर निकली है, ये बोलेगी ही नहीं। इसलिए बैक डोर तरीके से बातें करके लोगों को कर्फ्यू बताया जा रहा है, कर्फ्यू तो डीसी लगाएंगे, जिनके पास उसे इम्पोज़ करने का अधिकार है। उन्होंने कहा कि सर्वदलीय बैठक लॉकडाउन की एसओपी को लेकर कोई निर्णय नहीं लिए गए थे, यह कैबिनेट के निर्णय है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार जिसे कर्फ्यू का नाम दे रही है, वह दरअसल किसी भी प्रकार से कर्फ्यू नहीं है। 60 फ़ीसदी दुकानों को खुला रखकर आवाजाही को भी अनुमति दी गई है। इसके अलावा पब्लिक ट्रांसपोर्ट (Public Transport) को भी जारी रखा जा रहा है ऐसे में प्रदेश में सरकार किस तरह का कर्फ्यू लागू कर रही है।


नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार के पास सराज के लिए तो पैसा है, लेकिन प्रदेश के विकास और कोरोनावायरस (Coronavirus) से जूझते लोगों के इलाज के लिए पैसा नहीं है। मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि प्रदेश भर में लोग कोरोनावायरस की चपेट में आकर मौत का शिकार हो रहे हैं। इस समय हिमाचल प्रदेश की जनता को बचाना सबसे जरूरी है। इन परिस्थितियों में तो चाहे दूसरे विकास कार्यों को रोका भी जा सकता था। प्रदेश सरकार किस रणनीति के तहत काम कर रही है, यह समझ से परे है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है