Covid-19 Update

2,06,832
मामले (हिमाचल)
2,01,773
मरीज ठीक हुए
3,511
मौत
31,810,427
मामले (भारत)
200,650,253
मामले (दुनिया)
×

ब्रेकिंग : शीतकालीन सत्र के पांचवे दिन की कार्यवाही शुरू होते ही Mukesh ने सरकार को घेरा

ब्रेकिंग : शीतकालीन सत्र के पांचवे दिन की कार्यवाही शुरू होते ही Mukesh ने सरकार को घेरा

- Advertisement -

धर्मशाला। हिमाचल विधानसभा (Himachal Vidhansabha) के शीतकालीन सत्र के पांचवे दिन की कार्यवाही शुरू होते ही नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री (Leader of Opposition Mukesh Agnihotri) ने जयराम सरकार (Jai Ram Government) को घेरने का प्रयास किया। मामला हरियाणा के कुंडली (Kundli in Haryana) के पास हिमाचल सरकार की एचपीएमसी (HPMC) से जुड़ी जमीन का था। सरकार उसे बेचना चाहती है, जिस बाबत कैबिनेट में भी चर्चा हुई है। क्योंकि, प्रदेश सरकार के इस जमीन पर रखरखाव पर ही 65 लाख रुपये खर्च हो चुके हैं, साथ ही इस पर अवैध कब्जे भी हो गए हैं। हालांकि, सरकार का पक्ष है कि इसे बेहतर दाम पर बेचने जा रही है। लेकिन नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री इस मसले पर सरकार को घेरने में लगे रहे।


मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि यह जमीन प्राइम लोकेशन पर है और यह स्थान दिल्ली से महज 50 से 55 मिनट की दूरी पर है। उन्होंने कहा कि भविष्य में दिल्ली में जमीन नहीं मिलेगी और न ही सरकार खरीद पाएगी। इसलिए सरकार इसे बेचने का निर्णय छोड़े और यहां पर रेस्ट हाउस या सर्किट हाउस बनाएं। वहीं सैकड़ों ट्रक सेब के जाते हैं उन्हें खड़ा करने के लिए भी यह स्थान इस्तेमाल किया जा सकता है। मुकेश ने कहा कि सरकार अतिक्रमण के डर से जमीन बेचने की बात कर रही है जो कि तर्कसंगत नहीं है। हरियाणा में भी बीजेपी की सरकार है और सरकार अपने प्रभाव का इस्तेमाल करते हुए उस मसले को सुलझाने का काम करे न कि बेचने पर उतारू हो जाए।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें… 

गौर रहे कि बीते दिन हिमाचल मंत्रिमंडल (Himachal Cabinet) ने हरियाणा के कुंडली स्थित जमीन को बेचने का फैसला लिया है। सीएम जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में यह बैठक धर्मशाला के तपोवन स्थित विधान भवन में हुई। यह जमीन पहले एचपीएमसी के पास थी, जिसे बाद में जीएडी को ट्रांसफर किया गया था। इस जमीन पर बहुत अतिक्रमण (Encroachment) हो रहे हैं, दो कोर्ट केस भी चल रहे हैं। इससे परेशान होकर सरकार ने सारे झमेले से बचने के लिए इसे खुली नीलामी में बेचने का फैसला लिया है। जिस पर आज नेता प्रतिपक्ष अग्निहोत्री ने सरकार को घेरा था कि सरकार जमीन खरीद नहीं सकती तो बेचने का अधिकार भी नहीं है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है