×

झूठ का पर्दाफाशः नरबलि नहीं अफवाह फैली थी

झूठ का पर्दाफाशः नरबलि नहीं अफवाह फैली थी

- Advertisement -

Male Sacrifice : मंडी। थुनाग में नरबलि नहीं अफवाह फैली थी। तमाम छानबीन के बाद मंडी प्रशासन ने इस मामले को बंद कर दिया है। बहरहाल, एसडीएम गोहर को सौंपी गई शिकायत के बाद इस मामले में तुरंत कार्रवाई हुई है, जिसके बाद पुलिस और चाइल्ड लाइन मंडी व बाल विकास अधिकारी ने मामले को सिरे से खारिज कर दिया है और अब पुनः बालिका को उसके परिवार वालों को सौंप दिया गया है। गौर रहे कि  बीते रोज सराज विधानसभा क्षेत्र के थुनाग में नाबालिग की नरबलि की अफवाह फैली थी, जिसे अधिकारिक जांच में सिरे से खारिज कर दिया गया है। मंडी में बालिका को चाइल्ड वेलफेयर कमेटी के समक्ष पेश किया गया और उसके बयान कलमबद्ध किए गए। चाइल्ड वेलफेयर कमेटी ने बच्ची के माता पिता को भी यहां बुलाया और उनसे भी इस बारे में बात की।

नरबलि के प्रमाण न मिलने पर खारिज किय़ा मामला

चाइल्ड वेलफेयर कमेटी मंडी के अध्यक्ष चंद्र सिंह ठाकुर ने बताया कि जो अफवाह फैली थी उन पर पुलिस विभाग, जिला बाल संरक्षण अधिकारी और चाइल्ड वेलफेयर कमेटी  द्वारा एक्शन लिया और मामले की तह तक जाने का प्रयास किया गया। अधिकारिक जांच में कहीं भी नरबलि के प्रमाण न मिलने पर इस मामले को समाप्त कर दिया है। सीडब्ल्यूसी के अध्यक्ष ने बताया कि नरबलि की आशंका न होते हुए बच्ची को फिर से उसके परिवार वालों के सुपुर्द कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि बालिका के माता पिता से शपथ पत्र भी लिए गए हैं ताकि वे आने वाले समय में बच्ची की परवरिश में कोई कोताही न बरते। साथ ही चाइल्ड वेलफेयर कमेटी ने बच्ची की देखरेख के लिए आने वाले समय में उसकी निगरानी भी समय-समय पर करने का फैसला लिया है।

बालिका ने नकारी नरबलि की बात

सीडब्ल्यूसी के समक्ष बालिका ने उसके परिवार वालों द्वारा उसकी नरबलि देने या इस तरह की किसी भी तरह की घटना से इनकार किया है। बता दें कि बीते रोज थुनाग में नाबालिग बच्ची की नरबलि देने की अफवाहों से लोगों में हडकंप मच गया था। इस बारे में एसडीएम गोहर को इस बाबत एक मांग भी सौंपा गया था कि एक पिता तांत्रिक प्रयोग के लिए अपनी ही बच्ची बलि देने का प्लान बना रहा है। साथ ही इस घटना का एक वीडियो भी वायरल हो रहा था। इस पर एसडीएम ने पुलिस विभाग को आगामी कार्रवाई करने और जो वीडियो सामने आ रहा है उसकी सत्यता की जांच करने के आदेश दिए। जिला में नरबलि देने की अफवाहों को जहां अधिकारिक जांच में झूठा पाया गया है वहीं लोगों में अभी भी इस बात को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म है। गौरतलब है कि पुलिस ने इस संदर्भ में कोई मामला दर्ज नहीं किया है। अब जो वीडियो वायरल हो रहा है उसमें कितनी सच्चाई है यह तो आने वाला समय ही बता सकता है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है