Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,571,295
मामले (भारत)
197,365,402
मामले (दुनिया)
×

Delhi:नए नियमों वाला फैसला LG ने लिया वापस; अब 5 दिन का संस्थागत क्वारंटाइन नहीं

Delhi:नए नियमों वाला फैसला LG ने लिया वापस; अब 5 दिन का संस्थागत क्वारंटाइन नहीं

- Advertisement -

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में वृद्धि होने के साथ ही साथ सीएम अरविंद केजरीवाल और दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल के बीच के मतभेद खुलकर सबके सामने आने लगे हैं। इस सब के बीच एलजी बैजल ने पांच दिन के संस्थागत क्वारंटाइन (Institutional quarantine) के नए नियम वाला अपना फैसला वापस ले लिया है। बीते दिन ही दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने कोरोना वायरस के पॉजिटिव मरीजों को होम क्वारंटाइन (Home quarantine) किए जाने पर रोक लगाते हुए पहले पांच दिन अनिवार्य संस्थागत क्वारनटीन करने का आदेश दिया था। हालांकि अब उपराज्यपाल ने अपना ये फैसला वापल ले लिया है। उपराज्यपाल बैजल द्वारा क्वारंटाइन नियमों के बदलाव का फैसला लिए जाने के बाद से ही प्रदेश सरकार और उनके बीच ठनी हुई थी।

यह भी पढ़ें: PM के बयान से लोगों ने समझा- गलवान में हुई चीनी घुसपैठ; सवाल उठने पर PMO ने दी सफाई

एलजी बैजल के फैसले के खिलाफ हाईकोर्ट में दायर की गई थी याचिका

एलजी (Lieutenant Governor) बैजल के इस फैसले का आम आदमी पार्टी (AAP) ने विरोध किया था। इसके बाद दवाब में आकर एलजी ने 24 घंटे के अंदर ही अपना फैसला वापस ले लिया है। वहीं कोरोना के मरीजों का 5 दिनों का इंस्टिट्यूशनल क्वारंटीन अनिवार्य करने वाले दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल के आदेश को चुनौती देते हुए दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका भी दाखिल की गई थी। याचिका में कहा गया है कि ऐसे आदेश से मरीजों को जबरन इंस्टिट्यूशनल क्वारंटीन करने को कहा जा रहा है, जबकि सरकार जरूरतमंदों को भी पर्याप्त मात्रा बेड और नर्स उपलब्ध नहीं करवा पा रही है। वहीं इस मुद्दे पर दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा कि सीएम अरविंद केजरीवाल ने उपराज्यपाल से कहा है कि होम आइसोलेशन खत्म करने पर समस्याएं होंगी। उन्होंने कहा कि सरकारी अस्पतालों और अन्य सरकारी इंतजामों में अभी सिर्फ 6000 बेड उपलब्ध हैं। जबकि दिल्ली में अभी होम आइसोलेशन में 10 हजार लोग रह रहे हैं। अब सवाल है कि इन्हें कहां रखा जाए।


- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है