Covid-19 Update

2,21,203
मामले (हिमाचल)
2,16,124
मरीज ठीक हुए
3,701
मौत
34,043,758
मामले (भारत)
240,610,733
मामले (दुनिया)

Una: रिटायर ITBP Inspector कश्मीर हत्या मामले के तीन दोषियों को उम्रकैद

Una: रिटायर ITBP Inspector कश्मीर हत्या मामले के तीन दोषियों को उम्रकैद

- Advertisement -

ऊना। गगरेट क्षेत्र के बहुचर्चित कश्मीर हत्याकांड के मामले में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायालय ने तीन आरोपियों को दोषी करार दिया है। इस ब्लाइंड मर्डर की गुत्थी सुलझाने के लिए पुलिस को भी खासा पसीना बहाना पड़ा था। अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश प्रीति ठाकुर ने मामले की सुनवाई के बाद आरोपियों को दोषी करार दिया।

यह भी पढ़ें: Chamba में लगातार दूसरे दिन महसूस किए भूकंप के झटके, दहशत में लोग

दोषियों में पंजाब के होशियारपुर निवासी अमरेंद्र नागरा, युवराज और गगरेट निवासी विशाल बंसल को विभिन्न धाराओं के तहत आजीवन करावास की सजा सुनाई है। मामले की पैरवी जिला न्यायवादी भीषम पाल और अतिरिक्त जिला न्यायवादी संजय पंडित ने की। अदालत ने तीनों दोषियों को धारा 302 के तहत कठोर आजीवन कारावास और 25-25 हजार रुपए जुर्माना, धारा 120बी के तहत कठोर आजीवन कारावास और 25-25 हजार रुपए जुर्माना, धारा 341 के तहत 7-7 साल कठोर कारावास 20-20 हजार रुपए जुर्माना और धारा 201 के तहत 3-3 साल साधारण कारावास और 5-5 हजार रुपए जुर्माना अदा करने की सजा सुनाई गई।

 

क्या था मामला

जानकारी देते हुए जिला न्यायवादी भीषम पाल ने बताया कि आईटीबीपी (ITBP) से सेवानिवृत्त इंस्पेक्टर (Inspector) कश्मीर सिंह रिटायरमेंट के बाद गगरेट कस्बे में ही करियाना की दुकान चलाते थे। 25 मार्च 2016 की रात करीब साढ़े आठ बजे कश्मीर सिंह रोजाना की तरह दुकान बंद कर मवा सिंधियां स्थित अपने घर जा रहे थे। इसी दौरान विशाल बंसल ने अपनी कार से उनका पीछा किया और अपने दोनों साथियों अमरेंद्र नागरा और युवराज को कश्मीर सिंह की कार में लिफ्ट दिलवा दी। सभी कश्मीर सिंह की जान पहचान के थे, इसलिए उन्होंने दोनों को गाड़ी में बिठा लिया।

लिफ्ट लेने के बाद करीब 200 मीटर आगे बढ़ने के बाद युवराज और अमरेंद्र ने गाड़ी रूकवाकर क्लच वायर से कश्मीर सिंह का गला दबा दिया, जबकि हथौड़े से उसके सिर पर वार भी किए गए। जिससे उनकी मौत हो गई। उनकी निर्मम हत्या करके आरोपी उनके शव को गगरेट-होशियारपुर रोड पर गहरी खाई में फेंक कर उनकी कार उड़ा ले गए थे।

यह भी पढ़ें: मौसम ने ली करवट: Una में कोहरा छाने से ठंड

ब्लाइंड मर्डर की इस गुत्थी को सुलझाना पुलिस के लिए भी किसी चुनौती से कम नहीं था, लेकिन लंबी पड़ताल के बाद तत्कालीन ऊना (Una) पुलिस कप्तान द्वारा हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने के लिए गठित की गई एसआईटी ने इस हत्याकांड के आरोप में होशियारपुर के अमरेंद्र नागरा व युवराज सिंह को गिरफ्तार किया।

उनकी निशानदेही पर पुलिस ने कश्मीर सिंह की कार होशियारपुर से ही बरामद कर ली थी। पुलिस की प्रारंभिक पूछताछ में अमरेंद्र नागरा व युवराज सिंह ने अपना गुनाह कबूल कर लिया था और उन्होंने पुलिस को बताया था कि इस हत्याकांड की साजिश गगरेट के विशाल बंसल ने रची थी। जिस पर पुलिस ने विशाल बंसल को भी गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस द्वारा इस मामले में न्यायालय में चालान पेश करने के बाद जिला न्यायवादी भीष्म ठाकुर व अतिरिक्त जिला न्यायवादी संजय पंडित ने इस मामले की अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश की अदालत में पैरवी की। अभियोजन पक्ष द्वारा इस मामले में अदालत में 56 गवाह पेश किए गए। गत दिवस अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश प्रीति ठाकुर ने सारे साक्ष्यों को मद्देनजर रखते हुए तीनों आरोपियों को हत्या के लिए दोषी करार दिया।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है