Covid-19 Update

22,059
मामले (हिमाचल)
18,842
मरीज ठीक हुए
312
मौत
8,179,250
मामले (भारत)
46,186,426
मामले (दुनिया)

मंडी के बागवान हेमराज ने सघन खेती मॉडल को अपना कमाए लाखों

मंडी के बागवान हेमराज ने सघन खेती मॉडल को अपना कमाए लाखों

- Advertisement -

मंडी। मिट्टी से सोना उगाने का हुनर रखने वाले लोग खेती में नयापन लाकर केवल पैसा ही नहीं कमाते हैं बल्कि दूसरे लोगों के लिए प्रेरणा स्रोत भी बन जाते हैं। ऐसे ही एक बागवान हैं मंडी जिले की पांगणा उप-तहसील के गांव मरोठी (Marothi) के निवासी हेमराज गुप्ता।


यह भी पढ़ें: रूखे और बेजान बालों में फिर से चमक लानी है तो अपनाएं गुलाब जल

हेमराज ने सेब की खेती के पुराने तरीके को छोड़कर बागवानी विभाग के सघन खेती मॉडल को अपनाया और आज उनकी सफलता की कहानी पूरे इलाके के लिए प्ररेणा का सबब है। वे बताते हैं कि सघन खेती में पुरानी फसल के एक पेड़ की जगह रूट स्टॉक के 15 से 20 पौधे लगते हैं, इससे दुगनी फसल और दुगनी आमदनी होती है।


5 बीघा से कमाए 5 लाख

हेमराज गुप्ता खेती में नई तकनीकें अपनाने और नवीन प्रयोगों को आजमाने की तरफदारी करते हुए कहते हैं कि पुराने तरीके से सेब की खेती पर उनके पांच बीघा बगीचे से 60 से 70 बक्से निकलते थे, फिर उन्होंने सघन खेती के मॉडल को अपनाया और पुराने बगीचे का सुधार किया। पांच बीघा जमीन पर बागवानी विभाग द्वारा उपलब्ध करवाए उन्नत नस्ल के सेब के करीब एक हजार पौधे लगाए और इससे बगीचे से सेब के 200 बक्से निकले, औसतन 2500 रुपए प्रति बक्से के हिसाब से उन्हें मौजूदा सीजन में लगभग 5 लाख रुपए की आमदनी हुई है।


सघन खेती से उन्हें सेब के पौधों के अतिरिक्त पौधों के बीच की भूमि पर मौसमी सब्जियां व दालें उगाकर भी लाभ मिल रहा है।वे बताते हैं कि उन्होंने अपने यहां पास के गांव के 2 लोगों को खेती में मदद के लिए स्थाई रोजगार दे रखा है। सेब के सीजन में तो वे 10 लोगों को रोजगार देते हैं। उनका कहना है कि सेब की परंपरागत खेती की अपेक्षा क्लोनल रूट स्टॉक पर तैयार बगीचों में 2 से 3 सालों में फल लगना शुरू हो जाते हैं, जबकि सेब की पुराने तरीके की खेती के बगीचों में फल आने में 10 से ज्यादा साल लग जाते हैं।

हेमराज आगे बताते हैं कि उन्हें बागवानी विभाग से जो उन्न्त नस्ल के पौधे मिले हैं उनके फल का आकार और रंग विदेशी फसल के मुकाबले का है। इसमें प्राकृतिक रूप से ही फल का रंग निखरा होता है जिससे रंग के लिए किसी प्रकार के स्प्रे की जरूरत नहीं पड़ती। बाजार में इनके दाम भी अच्छे मिलते हैं। इसके अलावा सरकारी मदद से बगीचे में वर्मी कम्पोस्ट भी बना लिया है जिससे घरेलू खाद तैयार कर बागवानी में मदद मिल रही है।


हर प्रकार से की जा रही बागवानों की मदद

करसोग के सहायक बागवानी विकास अधिकारी युवराज वर्मा बताते हैं कि हिमाचल प्रदेश बागवानी विकास परियोजना के तहत करसोग क्षेत्र में 150-150 बीघा के 9 क्लस्टर बना गए हैं। इनमें बागवानों को सरकार की ओर से उन्नत नस्ल के पौधे, खेती की नई तकनीक एवं विधि की जानकारी एवं प्रशिक्षण, आधुनिक उपकरण, मल्चिंग शीट, ऐंटी हेल नैट, टपक (ड्रिप) सिंचाई व पानी टैंक, की व्यवस्था में मदद दी जाती है।

बागवानी विभाग मंडी के उपनिदेशक अमर प्रकाश कपूर का कहना है कि विभाग पुराने बगीचों के जीर्णोद्धार के लिए मदद कर रहा है। पुराने पौधों को हटाने का आधा खर्च सरकार वहन करेगी साथ ही नए पौधे लगाने के लिए भी प्रति एक हैक्टेयर पर करीब 85 हजार रुपए सब्सिडी का प्रावधान है। उन्होंने बताया कि जिला के लिए सेब के क्लोनल रूट स्टॉक पौधे विदेश से लाए गए हैं। इनसे सेब उत्पादन में तीन से चार गुणा बढ़ोतरी की जा सकती है। जिला में सेब के 22 हजार क्लोनल रूट स्टॉक पौधे बांटे जा चुके हैं। इसके अलावा करीब 47 हजार और क्लोनल रूट स्टॉक पौधे विभाग की नर्सरियों में लगाए गए हैं।


क्या है सेब की सघन खेती

उपनिदेशक अमर प्रकाश कपूर बताते हैं कि सेब की सघन खेती में क्लोनल रूट स्टॉक के बौने और मध्यम बौने पौधे आपस में कम दूरी पर लगाए जाते हैं, इससे भूमि का अधिक से अधिक उपयोग किया जा सकता है। इसमें जहां कम भूमि पर अधिक पौधे लग जाते हैं वहीं पौधों के बीच की भूमि पर अन्य खेती की जा सकती है, जिससे अधिक लाभ होता है। डीसी ऋग्वेद ठाकुर का कहना है कि मंडी जिले में बागवानी गतिविधियों को नई गति देने के प्रयास किए जा रहे हैं। बागवानी पैदावार बढ़ाने और इससे जुड़े कार्यों को मुनाफे वाला बनाकर किसानों की आय दुगनी करने के लिए कदम उठाए गए है। फलों के उत्पादन में वृद्धि के लिए बागबानों को क्लोनल रूट स्टॉक और फलदार पौधों की उन्नत किस्मों का प्लांटिंग मैटिरियल प्रदान करने पर विशेष जोर दिया जा रहा है। इससे जिले में बागवानी की मौजूदा स्थिति में व्यापक सुधार और मजबूती आएगी।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Solan: सुबाथू में 42 सप्ताह की कठिन ट्रेनिंग के बाद 136 जवानों ने खाई देश पर मर मिटने की कसम

Transfer: निदेशक परिवहन बदले- संदीप को HRTC की कमान, HPU रजिस्ट्रार का भी तबादला

अन्नकूट उत्सव पर भगवान रघुनाथ के मंदिर में होगी देव अदालत जगती

इंदिरा गांधी की पुण्यतिथिः Agricultural law के खिलाफ रिज पर कांग्रेसियों का सत्याग्रह एवं उपवास

बाजार की उम्मीदों से बेहतर रहे #Reliance इंडस्ट्रीज के नतीजे; 6 महीनों में 30 हजार रोजगार

राष्‍ट्रीय एकता दिवस: वाल्मीकि-इंदिरा और सरदार पटेल को CM जयराम ने किया याद, सुनें क्या बोले

राष्ट्रीय संदर्भ में लें निर्णय, जो देश की एकता अखंडता को मजबूत करने वाले हों: IAS प्रोबेशनर्स से बोले PM

Kullu में पकड़ी 209 किलो भुक्की, Punjab के 2 लोग श्रीनगर से लाए थे खेप

हिमाचल में #Corona से दो की Death,मेडिकल कॉलेज नेरचौक में तोड़ा दम

Chamba: घर में लग गई अचानक आग, कमरे में सो रहा व्यक्ति जिंदा जला

हिमाचल High Court ने #Solan के ढाबा मालिक के हत्यारोपी की जमानत याचिका खारिज की

अमेठी में दलित प्रधानपति की जलाकर हत्‍या: Smriti Irani ने दिए जल्द गिरफ्तारी के निर्देश

Basketball Court का मुनीष ने किया शिलान्यास, कोमल ने गिनवाए नप के विकास कार्य

अगली कैबिनेट बैठक में रखा जाएगा NPS कर्मचारियों का मामला

#HP_Transfer: जयराम सरकार ने इधर-उधर किए 19 HPS अधिकारी, यहां पढ़े किसे कहां भेजा

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board

#HP_Board ने जारी किया D.El.Ed नियमित व रि-अपीयर वार्षिक परीक्षाओं का Schedule

Big Breaking: शिक्षा बोर्ड ने जमा दो अनुपूरक परीक्षा का Result किया आउट

अब कभी भी-कहीं भी पढ़ाई कर सकेंगे Himachal के छात्र, शिक्षा मंत्री ने किया #Jio_TV का शुभारंभ

#Himachal के इन स्कूलों में सर्दियों की छुट्टियों पर चलेगी कैंची, प्रस्ताव तैयार

जवाहर नवोदय विद्यालय कक्षा 6 का #Entrance_Exam अब 7 नवंबर को

स्कूलों के बाद अब Colleges खोलने की तैयारी, नवंबर से आएंगे Practical विषयों के छात्र

TET Exam में इन अभ्यर्थियों को मिली छूट, बिना आवेदन दे सकेंगे परीक्षा, बस करना होगा ये काम

#Himachal में School खोलने की तैयारी में सरकार, क्या रहेगा प्लान पढ़े यहां

Big Breaking: हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने टैट परीक्षा का शेड्यूल किया जारी- जानिए

#HPBose: 9वीं, 10वीं, 11वीं और 12वीं कक्षाओं के छात्रों को बड़ी राहत- पढ़ें खबर

हिमाचल में 100% मास्टर जी लौट आए #School, बनने लगा स्टूडेंट्स के लिए माइक्रो प्लान

SMC शिक्षकों को बड़ी राहत, #Supreme_Court ने हिमाचल हाईकोर्ट के फैसले पर लगाई रोक

गोविंद ठाकुर बोले- #Himachal में स्कूल खोलने हैं या नहीं, 9 को होगा फैसला

शिक्षा विभाग ने तैयार किया #Himachal में स्कूल खोलने का प्रस्ताव; जानें क्या है योजना

D.El.Ed CET 2020: 12 से 23 अक्टूबर तक होगी स्क्रीनिंग, अभ्यर्थी करें ऐसा



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है