नकारात्मक सोच बीमारियों की जड़, बन सकती है मौत का कारण

नकारात्मक सोच बीमारियों की जड़, बन सकती है मौत का कारण

- Advertisement -

मन स्वस्थ तो तन स्वस्थ ये बात बिल्कुल सच है। 75% बीमारियों का मूल कारण नकारात्मक सोच (Negative thinking ) से उत्पन्न होने वाली ऊर्जा ही होती है। ये नकारात्मक सोच कभी कभी किसी की मौत का कारण भी बन सकती है। नकारात्मक सोच अत्यधिक चिंता, थकान और तनाव की वजह से आती है। कभी-कभी नकारात्मक सोच की वजह हम खुद भी होते हैं, लेकिन कुछ बातें ऐसी हैं जो आपको नकारात्मक सोच से दूर रख सकती हैं। अगर आप कोशिश करें तो 100 में से 90 सिचुएशंस में पॉज़िटिव (Positive) रह सकते हैं। अगर लगन हो तो कोई भी अपने लक्ष्यों, सपनों, अपनी महत्वाकांक्षाओं को आसानी से प्राप्त कर सकता है।



यह भी पढ़ें :-  गर्मियों में इन चीजों को खाने में शामिल कर बनाएं अपनी सेहत और रहें चुस्त-तंदुरुस्त

बेशक आपने बहुत बुरे दिनों, परिस्थितियों का सामना किया होगा, लेकिन अगर आप सकारात्मक सोच को अपनी आदत बनाएंगे, तो आप जल्दी ही उन बुरी यादों और विचारों से बाहर निकल पाएंगे, लेकिन अपने अंदर सकारात्मकता (Positiveness) लाने के लिए प्रैक्टिस और मज़बूत इच्छाशक्ति ज़रूरी है। शुरुआत में आपको बहुत निराशा भी होगी और आपका मन करेगा कि नहीं हो रहा है और इसे छोड़ने की कोशिश करेंगे, लेकिन आपको इसे छोड़ना नहीं है। आपको नकारात्मक सोच से जुड़ा एक किस्सा सुनाते हैं ताकि आप इसे ठीक से समझ पाएं।

अमेरिका में जब एक कैदी को फांसी की सजा सुनाई गई तो वहां के कुछ वैज्ञानिकों (Scientists) ने सोचा कि क्यों न इस कैदी पर कुछ प्रयोग किया जाए। तब कैदी को बताया गया कि हम तुम्हें फांसी देकर नहीं परन्तु जहरीला कोबरा सांप (Poisonous cobra snake) डसाकर मारेंगे। उसके सामने बड़ा सा जहरीला सांप ले आने के बाद कैदी की आंखे बंद करके कुर्सी से बांधा गया और उसको सांप नहीं बल्कि दो सेफ्टी पिन्स चुभाई गईं। इस बाद कैदी की कुछ सेकेंड में ही मौत हो गई।

पोस्टमार्डम के बाद पाया गया कि कैदी के शरीर मे सांप के जहर के समान ही जहर था। अब ये जहर कहां से आया जिसने उस कैदी की जान ले ली। वो जहर उसके खुद शरीर ने ही सदमे में उत्पन्न किया था। हमारे हर संकल्प से पॉजिटिव एवं निगेटिव एनर्जी उत्पन्न होती है और वो हमारे शरीर मे उस अनुसार हार्मोन (Hormones) उत्पन्न करती है। इसलिए नकारात्मक सोच से दूर रहिए और सकारात्मक सोच अपनाइए।

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

हिमाचल में लॉजिस्टिक पार्क और ड्राई पोर्ट बनाएगी दुबई की कंपनी, एमओयू पर हुए हस्ताक्षर

कोटखाई: सड़क दुर्घटना में आल्टो सवार बुजुर्ग की मौत, 2 लोग हुए घायल

घुमाने के बहाने नाबालिग को फंसाया फि‍र होटल में किया रेप

ओवरलोडिंग बंद: कम दूरी के यात्री-छात्र परेशान, फूटा गुस्‍सा लगाया जाम

जयराम ठाकुर 80 देशों के राजदूतों को करेंगे संबोधित

हिमाचल: ग्रीष्मकालीन स्कूलों में मानसून की छुट्टियों की अधिसूचना जारी, जानें कब से कब तक

नूरपुर: नहाने गए युवक का शव मिला, हत्‍या की आशंका

केंद्रीय विवि के स्‍थायी कैंपस निर्माण को सरकार गंभीर

धर्मशाला-मैक्लोडगंज रोपवे की डेड लाइन तय,अगले साल इसी महीने तक करना होगा इंतजार

राठौर बोले, बंजार हादसे में गोविंद की क्लीन चिट बस ऑपरेटर को बचा रही

जयराम कैबिनेट की हो गई तारीख तय,अहम मसलों में इन पर होगी चर्चा-जानें

माल रोड पर लंच करने पहुंचे आडवाणी, आम जनों के संग ली सेल्फी

ओवरटेक करते स्कूटी से गिरी महिला, ट्रक के टायर से कुचली

दुबई से हिमाचल को मिला सहयोग का आश्वासन, पर्यटन, रियल इस्टेट पर गंभीर चर्चा

दुराचार के बाद स्कूल स्टॉफ वापस भेजा, दूसरे स्कूल के साथ थाना प्रभारी ने भी पढ़ाए बच्चे

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है