Covid-19 Update

40,518
मामले (हिमाचल)
31,548
मरीज ठीक हुए
636
मौत
9,457,551
मामले (भारत)
63,286,254
मामले (दुनिया)

फेफड़ों में इन्‍फेक्‍शन हुआ तो सामने आई गंदी जुराबें सूंघने की लत

फेफड़ों में इन्‍फेक्‍शन हुआ तो सामने आई गंदी जुराबें सूंघने की लत

- Advertisement -

चीन। नशे की लत अब किसी एक देश की समस्‍या नहीं रही है। यह एक ग्‍लोबल समस्‍या बनती जा रही है। हालांकि कई देशों ने तो नशे की तस्‍करी के खिलाफ मौत की सजा तक का प्रावधान कर रखा है। इस बीच कुछ नशे ऐसे भी हैं, जिनके बारे में सुन और सोच कर आम आदमी सिहर जाता है। ऐसा ही एक नशा है अपने गंदे मोजे (dirty socks) सूंघने का। चीन (China) के झेंगझाउ शहर में रहने वाले एक ऐसे ही शख्‍स की कहानी इन दिनों विश्‍व भर में चर्चा का विषय बनी हुई है। इस नशेड़ी (addict) शख्‍स को कोई महंगा नशा करने की लत नहीं थी बल्कि वह ऑफि‍स से आने के बाद अपने गंदे मोजों की बदबू संघने का नशा करता था। कोई भी आम व्‍यक्‍ति उसकी इस आदत से शरीर पर पड़ने वाले कुप्रभाव की कल्‍पना तक नहीं कर सकता, मगर जब उसे गंभीर हालत में अस्‍पताल पहुंचाया गया तो डॉक्‍टर उसकी जांच करके चौंक गए।

यह भी पढ़ें- मॉनसून में यूं रखें बालों और स्किन का ख्याल, आजमाएं ये तरीके

गंदी जुराबें सूंघने के कारण उसके फेफड़े (Lungs) गंभीर इन्‍फेक्शन के शिकार हो चुके थे। आम तौर पर फेफड़ों में इन्‍फेक्‍शन (Infection) सिगरेट, ड्रग्‍स या धूल के कारण होता है, मगर पेंग के मामले में तो गंदे मोजे की बदबू भी फेफड़ों में इन्‍फेक्‍शन का कारण बन गई। पेंग यह काम काफी दिनों से कर रहा था और उसके लिए गंदे मोजे सूंघन एक नशे की तरह था। डॉक्‍टरों ने जांच में पाया कि मोजे सूंघने की लत के कारण उसके पैरों में हुआ फंगल इन्‍फेक्‍शन उसके फेफड़ों तक पहुंच गया था, जिसके कारण उसे कफ और सांस लेने में तकलीफ हो रही थी।


हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है