गुड़हल की चाय का सेहत से कनेक्शन 

गुड़हल की चाय का सेहत से कनेक्शन 

- Advertisement -

गुड़हल के फूल देखने में जितने सुंदर होते हैं उतने ही स्वास्थ्य के लिए रामबाण भी होते है। ये कई रंगों में मिलते हैं। जैसे सफेद,लाल, गुलाबी, बैंगनी आदि। गुड़हल का फूल (Hibiscus) काफी लाभप्रद और पौष्टिक होता है क्योंकि इसमें कई पौष्टिक तत्व जैसे विटामिन सी, मिनरल और एंटीऑक्सीडेंट के गुण पाए जाते हैं। इसके साथ-साथ इसमें कैल्शियम, वसा फाइवर आयरन की भरपूर मात्रा पाई जाती है। जो आपके स्वास्थ्य के लिए काफी उपयोगी होते हैं और साथ ही में बालों की समस्या से भी असानी से निजात पा सकते हैं।
गुड़हल की कुछ प्रजातियों को उनके सुन्दर फूलों के लिये उगाया जाता है। नींबू, पुदीने आदि की तरह गुड़हल की चाय भी सेहत के लिए अच्छी मानी जाती है। गुड़हल की एक प्रजाति ‘कनाफ’ का प्रयोग कागज बनाने में किया जाता है। एक अन्य प्रजाति ‘रोज़ैल’ का प्रयोग प्रमुख रूप से कैरिबियाई देशों मे सब्जी, चाय और जैम बनाने मे किया जाता है। गुड़हल के फूलों को देवी और गणेश जी की पूजा में अर्पित किया जाता है। गुड़हल के फूलों में, फफूंदनाशक, आर्तवजनक, त्वचा को मुलायम बनाने और  गुण भी पाए जाते हैं। कुछ कीट प्रजातियों के लार्वा इसका प्रयोग भोजन के रूप में करते हैं।


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group
दक्षिण भारत के मूल निवासी गुड़हल के फूलों का इस्तेमाल बालों की देखभाल के लिए करते हैं। इसके फूलों और पत्तियों को पीस कर इसका लेप सर पर बाल झड़ने और रूसी की समस्या से निपटने के लिये लगाया जाता है।भारतीय पारंपरिक चिकित्सा पद्धति आयुर्वेद के अनुसार सफेद गुड़हल की जड़ों को पीस कर कई दवाएं बनाई जाती हैं। डायटिंग करने वाले या गुर्दे की समस्याओं से पीड़ित व्यक्ति अक्सर इसे बर्फ के साथ पर बिना चीनी मिलाए पीते हैं, क्योंकि इसमें प्राकृतिक मूत्रवर्धक गुण होते हैं। इस फूल में एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित रखने में मददगार होते हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

हिमाचल में 23 की मौत, शिमला और सोलन में 15 की गई जान-887 सड़कें बंद

रामपुर में बेकाबू ट्रक ने रौंदे दो बच्चे, नारकंडा में मकान पर गिरा पेड़- तीन की मौत

शिमला-सिरमौर, सोलन और कुल्लू के बाद इस जिले के शिक्षण संस्थानों में भी कल छुट्टी

देहराः टिप्पर ने एक स्कूटी को पीछे से मारी टक्कर-एक को रौंदा, मां-बेटे की मौत

चंडीगढ़-मनाली एनएच बहाली को करना होगा लंबा इंतजार, कब तक- जानिए

कुल्लू की महिला नेत्री के वीडियो वायरल मामले में मंडी के दो लोग गिरफ्तार

इक्डोलः 19 को होनी वाली बीएड काउंसलिंग की तिथि में फेरबदल, जानिए कब अब होगी

हिमाचल में बारिश से मिले 490 करोड़ के जख्म, 20 से अधिक की गई जानें

रेल सेवा पर बारिश का असर, सभी ट्रेनें रद्द-नंगल में रोकी जनशताब्दी

पंडोह बाजार घरों- दुकानों में घुसा डैम का पानीः लोग बोले,  बीबीएमबी की लापरवाही 

ब्रेकिंगः प्रदेश के इन जिलों में सोमवार को बंद रहेंगे शिक्षण संस्थान

देखें वीडियो : मारकंडा नदी पर बना पुल धंसा, बढ़ा खतरा

सोलनः साधुपुल नाले में आई बाढ़, घरों-होटलों में घुसा मलबा, कालका-शिमला रेल मार्ग बंद

पिता ने की बेटी से रेप की कोशिश, सफल न हुआ तो गला काटकर की हत्या

सिरमौरः नेड़ा खड्ड में बाढ़, ताश के पत्तों की तरह ढही पीएचसी, मकान-घराट बहे

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है