Covid-19 Update

36,566
मामले (हिमाचल)
28,080
मरीज ठीक हुए
575
मौत
9,257,945
मामले (भारत)
60,416,976
मामले (दुनिया)

मोबाइल व लैपटॉप की Blue light है खतरनाक, अपनी  Skin का इस तरह करें बचाव

मोबाइल व लैपटॉप की Blue light है खतरनाक, अपनी  Skin का इस तरह करें बचाव

- Advertisement -

इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स( Electronic gadgets) के यूजर्स की संख्या लगातार बढ़ रही है। इसके साथ इससे जुड़ी बीमारियों के घेरे में लोग आ रहे हैं। पूरा दिन सोशल मीडिया (Social media) पर काफी एक्टिव रहने वाले लोगों की कमी नहीं है। इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स जैसे कंप्यूटर, लैपटॉप, स्मार्टफोन , स्मार्ट टीवी , एलसीडी से जो ब्लू लाइट ( Blue light) निकलती है वह हमारी आंखों के साथ स्किन ( Skin) को नुकसान पहुंचाती है। डिवाइसेस से निकलनेवाली ब्लू लाइट (Blue Light) छोटी-छोटी तरंगें हैं, जो एक हाई एनर्जी लाइट हैं।  इस रोशनी के सम्पर्क में बहुत समय तक रहने से, सिरदर्द, आंखों में खिंचाव और  थकान जैसी परेशानियां महसूस हो सकती हैं। इस ब्लू लाइट से फोटो-एजिंग, स्किन में सूजन, हाइपरपिग्मेंटेशन और रिंकल्स जैसी परेशानियां हो सकती हैं। जब आप कड़ी धूप में रहते हैं तो आपकी त्वचा का रंग हल्का हो जाता है। इसी तरह, आपकी त्वचा (चेहरे की त्वचा) तब तनावपूर्ण हो जाती है जब आप लैपटॉप और फोन के सामने बहुत समय बिताते हैं।  नीली लाइट की वजह से फोटो-एजिंग, त्वचा में सूजन, हाइपरपिग्मेंटेशन और चेहरे पर झुर्रियां भी होती हैं। यदि आप चाहते हैं कि आपकी त्वचा शानदार और निर्दोष दिखे, तो नीले प्रकाश से बचें। आज हम आप को बता रहे हैं कि इस ब्लू लाइट से स्किन को कैसे बचाएं:-

यह भी पढ़ें: Online class में बच्चों को सर्वाइकल का खतरा, मां-बाप इस तरह दें स्वास्थ्य का ध्यान

ब्लू लाइट से बचने के लिए ब्लू लाइट वाली सनस्क्रीन का इस्तेमाल करना चाहिए। क्योंकि ब्लू लाइट की वजह से चेहरे पर झुर्रियां और सूजन देखने को मिलती हैं। अगर आपको ब्लू लाइट वाली सनस्क्रीन नहीं मिलती है तो आप उस सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें जिसमें जिंक ऑक्साइड, टाइटेनियम डाईऑक्साइड और एंटी ऑक्सिडेंट्स भरपूर मात्रा में हो। आप घरेलू मास्क और क्रीम का भी यूज कर सकती हैं।

स्किन को खतरनाक ब्लू लाइट से बचाने के लिए अपनी स्किन केयर रूटीन में टॉपिकल ऐंटी-ऑक्सिडेंट्स को शामिल करें। खाने में फल और सब्जियों का सेवन करें। क्योंकि हरी सब्जियों और फल में ऐंटी-ऑक्सिडेंट और विटामिन ई पाया जाता है जो कि स्किन के लिए बहुत ही लाभकारी होता है।

रात में सोते समय नाइट क्रीम या सीरम लगाना चाहिए। नाइट क्रीम या सीरम लगाने से स्किन पर ब्लू लाइट के नुकसान से बचा जा सकता है। नाइट क्रीम लगाने से स्किन के दाग धब्बे भी कम हो जाते है।

स्मार्टफोन को नाइट मोड से यूज करें इससे ब्लू लाइट से स्किन के डैमेज से बचा जा सकता है। त्वचा को खतरनाक ब्लू लाइट से बचाने के लिए आप अपने फोन का इस्तेमाल नाइट मोड में यूज करें। साथ ही मोबाइल फोन का कम से कम इस्तेमाल करें।

घंटों अंधेरे में बैठे रहने से बचना चाहिए और एंबर लेंस वाले चश्मे का इस्तेमाल करना चाहिए। ये चश्मे ब्लू लाइट को आंख तक नहीं पहुंचने देते और रेटीना को सुरक्षित रखते हैं। फोन, लैपटॉप और दूसरी डिवाइसेज को ब्लू एमिशन ब्लॉक करने के लिए भी सेट किया जा सकता है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है