सिर्फ धोना काफी नहीं, ऐसे निकालें फल-सब्जियों पर लगे खतरनाक पेस्‍टीसाइड

सिर्फ धोना काफी नहीं, ऐसे निकालें फल-सब्जियों पर लगे खतरनाक पेस्‍टीसाइड

- Advertisement -

फल और सब्जियां तो आपकी डेली रूटीन का हिस्सा होंगी। आज रोज इन्हें खाते होंगे लेकिन आपको ये जानकर हैरानी होगी कि इनमें पेस्‍टीसाइड यानी कीटनाशक लगा होता है। कीट-खर पतवार से फल-सब्जियों (Fruits-Vegetables) और फसलों को बचाने के ल‍िए कीटनाशक दवाओं (Pesticides) का छिड़काव किया जाता है, जोकि स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत ही हानिकारक होते हैं। हम यही समझते हैं कि पानी से धो लिया बस इतना ही काफी है, जबकि इससे पेस्‍टीसाइड्स ठीक तरह से नहीं निकल पाते हैं और कई तरह के कीटनाशक भी हमारे शरीर में चले जाते हैं जो लीवर और किडनी संबंधित बीमारियों (Disease) की वजह बनते हैं। हम आपको बताते हैं कि किस तरह आप फल-सब्जियों से ये पेस्‍टीसाइड्स निकाल सकते हैं …


यह भी पढ़ें : रोज करेंगे मॉर्निंग वॉक तो दिनभर रहेंगे तरोताजा


  • आम, नाशपाती, किवी जैसे फलों और लौकी, तोरई, खीरा जैसी सब्जियों के छिलके उतार कर काटें।
  • आलू, गाजर, शलजम आदि सब्‍जियों को 5 से 10 सेकेंड के लिए नरम ब्रश या साफ कपड़े से पोछें और हल्के गुनगुने पानी से धोंए।
  • गाजर और बैंगन जैसी सब्जियों को इमली वाले पानी के घोल से धोएं। इससे इन सब्‍जी की परत में लगे कीटनाशक का खात्‍मा हो जाएगा। ओजोनेटेड पानी (Ozoneated water) से धोने से पेस्टीसाइड को काफी हद तक साफ किया जा सकता है।
  • फल और सब्जियों, जिन पर वैक्स किया हो के लिए एक कप पानी, आधा कप सिरका, एक बड़ा चम्मच बेकिंग सोडा और अंगूर बीज के अर्क का छींटा करें और 1 घंटे के लिए छोड़ें। उसके बाद धोएं और इस्तेमाल करें।
  • फलों और सब्जियों पर लगे कीटनाशकों को हटाने का यह सबसे आसान तरीका धुलाई है। सब्जियों और फलों को नल के साफ चलते पानी या पीने के पानी से धोएं और साफ कपड़े या पेपर नैपकिन (Napkin) से सुखाएं। एक अनुमान के मुताबिक लगभग 75-80 फीसदी पेस्टीसाइड के अवशेष ठंडे पानी की धुलाई से दूर हो जाते हैं। सामान्यतः सब्जियों और फलों की सतह पर आने वाले कीटनाशक अवशेष 2 प्रतिशत नमक पानी के घोल से धुलाई करने पर निकल जाते हैं। उत्पादों को भिगोने के बजाय डुबोकर पानी की धार के नीचे धो लेना ज्यादा अच्छा होता है।
  • ब्लीचिंग यानी सब्जियों को गर्म पानी या भांप में कुछ समय के लिए सब्जियों को रखा जाता है। कुछ खास कीटनाशक अवशेष प्रभावी ढंग से ब्लीचिंग (Bleaching) से हटाएं जा सकते हैं। हालांकि ब्लीचिंग से पहले सब्जियों और फलों को अच्छी तरह से धोया जाना जरूरी होता है।
  • जो छिलके वाले फल और सब्जियां होती हैं उन्‍हें छीलने से उनके सतह पर होने वाले सिस्टेमिक (प्रणालीगत) और कॉन्टैक्ट (सम्पर्क) पेस्टीसाइड को आसानी से हटाया जा सकता है।
  • सब्जियों और फलों को 5 से 10 मिनट तक सिरका यानी विनेगर (Vinegar) मिले पानी में भिगोएं और उसके बाद अच्छी तरह से धो लें। फूलगोभी, पालक, ब्रोकली, बंदगोभी जैसी सब्जियों को चुटकी भर साधारण नमक वाले गर्म पानी से धोएं। धोने से पहले पत्तेदार सब्जियों जैसे बंदगोभी और अन्‍य सब्जियों की ऊपरी परत को उतार लें। सब्जियों को उबलते पानी में एक मिनट तक रखें और उसके बाद चलते पानी में धोएं।

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

जवाली : पिस्तौल और चाकू की नोक पर पेट्रोल पंप से लूटे 50 हजार

ऊना : मोदी का मुरीद मिठाई वाला, मुखौटे पहनवाकर बनवा रहा स्पेशल लड्डू

शिक्षा बोर्ड ने एसओएस परीक्षा के लिए आवेदन तिथि बढ़ाई

गंगथ : छात्र की मौत गैर इरादतन हत्या - शिक्षकों और एक स्टूडेंट पर केस

मौसम: अगले दो दिन अंधड़, ओलावृष्टि की चेतावनी, येलो अलर्ट जारी

पौंग बांध विस्थापित मामले को लेकर दिल्ली में चर्चा, जल्द होगी समिति की बैठक

फौजी बनने को हो जाएं तैयारः सेना में भर्ती 3 जून से, 15 जून तक चलेगी

पोस्ट कोड 556-हाईकोर्ट की सरकार को हरी झंडी, गठित होगी कमेटी

हिमाचल हाईकोर्ट ने किए 14 न्यायिक अधिकारियों के तबादले

बिग ब्रेकिंगः एसपी ने खुद संभाला छात्र मौत मामले की जांच का जिम्मा, पहुंचे नूरपुर

दिल्ली में जयराम के पैर पर चढ़ा प्लास्टर, आठ दिन करनी होगी रेस्ट

शिमला दुराचार मामलाः वीरभद्र ने जयराम से मांगा इस्तीफा

अनिल शर्मा की दो टूकः पहले रहने की व्यवस्था करो, तभी छोड़ूंगा मंत्री की कोठी

सत्ती ने अनिल को घेरा-बोले, कार्यकर्ताओं की मेहनत पर सवाल उठाने का नहीं अधिकार

सरकार अगले छह महीने तक नहीं भरेगी मंत्री पद, जानिए क्या हैं कारण

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है