Covid-19 Update

345
मामले (हिमाचल)
128
मरीज ठीक हुए
05
मौत
1,98,706
मामले (भारत)
62,66,192
मामले (दुनिया)

खामोशी से दुनिया को निगल रहा है यह फंगस, 3 महीने में निकल जाती है जान

इस पर दवाएं भी बेअसर

खामोशी से दुनिया को निगल रहा है यह फंगस, 3 महीने में निकल जाती है जान

- Advertisement -

नई दिल्ली। दुनिया को बड़ी खामोशी से एक जानलेवा फंगस (Fungus) निगलता जा रहा है। यह फंगस खून में पहुंचकर पर शरीर में खतरनाक इन्फेक्शन (Infection) पैदा करता है। इसके इन्फेक्शन से 90 दिन में इंसान की मौत हो जाती है। इस पर दवाएं भी बेअसर हैं, इसलिए इसका इलाज भी नहीं हो सकता। इस फंगस ने भारत (India), पाकिस्तान और दक्षिण अफ्रिका में भी पैर जमाने शुरू कर दिए हैं।



यह भी पढ़ें: बाप रे ! महिला की आंख से निकलीं चार जिंदा मक्खियां, देखकर डॉक्टर भी हुए हैरान

इससे भी खतरनाक बात यह है कि इससे पीड़ित व्यक्ति की भले ही मौत हो जाए लेकिन फंगस जिंदा रहता है और दूसरों के शरीर में आसानी से प्रवेश कर उन्हें भी मरीज बना सकता है। न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले साल मई के महीने में ब्रुकलिन (Bruklyn) के माउंट सिनाई हॉस्पिटल फॉर ऐब्डॉमिनल सर्जरी में एक बुजुर्ग व्यक्ति को भर्ती किया गया था। ब्लड टेस्ट में सामने आया कि वह एक नए तरह के जीवाणु से संक्रमित है, जो अभी तक जितना रहस्यमयी बना हुआ है। टेस्ट रिपोर्ट सामने आने के बाद डॉक्टरों ने मरीज को इन्टेन्सिव केयर यूनिट में शिफ्ट कर दिया।


यह भी पढ़ें:
यह है दुनिया की पहली फाइव स्टार जेल, कैदियों को मिलती हैं ये सुविधाएं


कमजोर शरीर को जकड़ता है कैंडिडा ऑरिस

कैंडिडा ऑरिस (Candida Auris) नाम का यह फंगस उन लोगों को अपनी चपेट में लेता है जिनका इम्यून सिस्टम (Immune System) कमजोर है। पिछले पांच साल में यह वेनेजुएला के नवजात शिशु संबंधी यूनिट और स्पेन के एक अस्पताल में फैल चुका है। फंगस के कारण एक ब्रिटिश मेडिकल सेंटर को अपनी इन्टेन्सिव केयर यूनिट तक बंद कर देनी पड़ी थी।


यह भी पढ़ें:
दुनिया का पहला कब्रिस्तान जहां लाशें नहीं जहाज होते हैं दफन


व्यक्ति की मौत के साथ नहीं मरता फंगस

माउंट सिनाई (Mount Cinai) हॉस्पिटल में भर्ती कैंडिडा ऑरिस से पीड़ित बुजुर्ग की 90 दिन बाद मौत हो गई। टेस्ट से पता चला कि उन्हें जिस कमरे में रखा गया था, वहां की हर चीज पर कैंडिडा ऑरिस मौजूद था। इसके बाद अस्पताल को रूम की सफाई के लिए स्पेशल क्लीनिंग इक्विपमेंट का इस्तेमाल करना पड़ा। उन्हें फंगस को खत्म करने के लिए सीलिंग से लेकर फ्लोर की टाइल्स तक उखाड़नी पड़ी।


दवाई का नहीं होता असर

कैंडिडा ऑरिस पर ऐंटीफंगल मेडिकेशन (Anti Fungal Medication) का भी असर नहीं होता है। इस वजह से यह स्वास्थ्य के लिए खतरा बने उन इन्फेक्शन्स का एक नया उदाहरण बन गया है जो दवा प्रतिरोधी हैं। आसान शब्दों में कहें तो बैक्टीरिया की तरह अब फंगस भी मॉर्डन मेडिसिन के प्रति डिफेंस विकसित कर रहा है। यह फंगस अस्पताल में मौजूद लोगों के हाथों और उपकरणों, बोट के जरिए ले जाए जाने वाले मीट, खाद से उपजाई गई सब्जियों, सीमा के पार यात्रा कर रहे यात्रियों और अन्य चीजों के आयात-निर्यात व प्रभावित मरीज के जरिए घर और अस्पताल में आने-जाने से आसानी से सभी जगह फैल जाता है।

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook. Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

हिमाचल में 6 Police अधिकारी इधर-उधर, एक को सौंपा अतिरिक्त कार्यभार

Corona Update: हिमाचल 128 पहुंचा ठीक होने वालों का आंकड़ा, आज 6 जीते जंग

मौसम: Himachal में तीन दिन भारी बारिश-अंधड़ की चेतावनी, आठ जिलों में Yellow Alert जारी

कांगड़ा में 57 वर्षीय Ex Serviceman निकला पॉजिटिव, दिल्ली से है लौटा

एलीमेंटरी या Secondary Board स्तर की कक्षाएं लगाने पर हो रहा विचार- क्या बोले शिक्षा मंत्री-जानिए

Sirmaur: जमीनी विवाद में एक की हत्या, दो घायल- 7 लोग गिरफ्तार

Kangra में दिल्ली पुलिस के कर्मचारी सहित Flight से आई युवती कोरोना पॉजिटिव

PM Modi ने आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए दिया पांच 'I' का फॉर्मूला

72 दिन बाद 200 हिमाचलियों को लेकर ऊना पहुंची Janshatabdi Express, सुबह दिल्ली रवाना

नड्डा की Home State में पार्टी गुटबाजी से लगी जलने, सीधे-सीधे नेता लगे मैदान में उतरने

Corona in India - हर रोज सामने आ रहे 8 हजार से अधिक मामले, 2 लाख के करीब पहुंचा आंकड़ा

Primary Teacher बनना चाहते हैं तो पढ़ लें इस रपट को, क्या कहा है Himachal सरकार ने

White House के बाहर प्रदर्शन पर भड़के Trump ने चेताया - हालात जल्द काबू नहीं हुए तो भेजेंगे सेना

HPSSC ने घोषित किया रेडियोग्राफर भर्ती परीक्षा का परिणाम, जाने कितने हुए सफल

BJP संगठनात्मक जिला कांगड़ा के अध्यक्ष के खिलाफ खोला मोर्चा, MLA को भी घेरा

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

HP : Board

निजी स्कूलों को राहत,पहली जून से ले सकेंगे Fees, नहीं लगेगा कोई जुर्माना

Breaking: लॉकडाउन के बीच हिमाचल के Schools में 15 जून तक छुट्टियां घोषित, ये रहा अहम कारण

ब्रेकिंगः 12वीं Geography और 10वीं वाद्य संगीत व गृह विज्ञान परीक्षा की तिथि घोषित

लाॅकडाउन के बीच Employment का मौका, Himachal में एक कंपनी भरने जा रही है 800 से ज्यादा पद

CBSE: 15,000 से अधिक सेंटरों में आयोजित होंगी 10वीं-12वीं की बची हुई परीक्षाएं, जानिए डिटेल

ICSE की 10वीं और ISC की 12वीं की बची हुई परीक्षाएं 1 जुलाई से 14 जुलाई तक

CBSE: अपने ही स्कूलों में बचे हुए सब्जेक्ट्स के Exam देंगे छात्र; जानें कब आएगा रिजल्ट

D.EL.ED CET- 2020 की तिथि घोषित, 21 मई से करें ऑनलाइन आवेदन

सरकार के आदेशों का कड़ाई से पालन करें Private School वरना होगी कड़ी कार्रवाई

CBSE: 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षाओं में स्‍टूडेंट्स को पहनना होगा Mask; जानिए नए निर्देश

CBSE ने जारी की 10वीं-12वीं की Pending Exams की डेटशीट, जाने कब शुरू होंगे पेपर

12वीं Geography, कंप्यूटर साइंस और वोकेशनल परीक्षा को लेकर Board का बड़ा फैसला-जानिए

अर्धवार्षिक व प्री बोर्ड परीक्षाओं में प्राप्त अंकों के आधार पर मिलेंगे Practical के अंक

Himachal के सरकारी स्कूलों में 31 मई तक छुट्टियां, आदेश जारी

Corona से बचावः स्कूल शिक्षा बोर्ड ने की "नमस्ते भारत" अभियान की शुरुआत


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है