Expand

आईजीएमसी में कैंसर इलाज के लिए जल्द लगेगी लीनियर एक्सीलेटर मशीन

परमार बोले, प्रदेश सरकार ने एनजीटी के समक्ष रखा पक्ष

आईजीएमसी में कैंसर इलाज के लिए जल्द लगेगी लीनियर एक्सीलेटर मशीन

- Advertisement -

शिमला। प्रदेश के सबसे बड़े अस्पताल आईजीएमसी में अभी भी कैंसर का इलाज पुरानी मशीनों से ही किया जा रहा है। जिसके चलते अधिकतर लोगों को कैंसर के इलाज के लिए बाहरी राज्यों या निज़ी अस्पतालों के रुख करते हैं जिसके कारण उन्हें कैंसर का इलाज महंगा पड़ता है। वर्तमान में आईजीएमसी शिमला में कैंसर का इलाज कोबाल्ट मशीन से किया जाता है जो काफ़ी पुरानी पद्दति है जिसके कई दुष्प्रभाव हैं।

अब केन्द्र ने आधुनिक मशीन लीनियर एक्सीलेटर के लिए 48 करोड़ मंजूर किया है लेकिन पिछले आठ माह से इस पर कोई काम नहीं हुआ है। इस बाबत स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार ने बताया कि इसको लेकर अभी एनजीटी के आदेशों की रुकावट आ रही है। सरकार ने अपना पक्ष एनजीटी के समक्ष रखा है उम्मीद है कि जल्द ही इस मशीन को आईजीएमसी में लगाया जाएगा। परमार ने बताया कि प्रदेश में डॉक्टरों एवम दवा कंपनियों के बीच सांठगांठ की 400 शिकायतें आई हैं ऐसे डॉक्टरों को विभाग की तरफ से नोटिस जारी किए गए हैं। दोषी डॉक्टरों के ख़िलाफ़ कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है