आसमान में मछलियां

Story of mother and child

आसमान में मछलियां

- Advertisement -

वह एक छोटा सा परिवार था जिसमें पिता नहीं थे। पिता की मृत्यु बहुत पहले ही एक दुर्घटना में हो गई थी। अब उस घर में मां ग्रीनऑल्गा और उनका बेटा डेरिक और आया डोरोथी थी। एक दिन डेरिक अपने ही घर में घूमता-घूमता एक ऐसे कमरे में पहुंच गया जो काफी दिनों से बंद था। हालांकि उसमें ताला नहीं लगा था। डेरिक ने धीमे से दरवाजा खोला अंदर सफाई थी । करीने से सजा हुआ सोफा छोटी सी गोलमेज थी। आलमारी में ढेरों किताबें सलीके से सजी हुई थीं और एक तरफ फिशिंग का सामान रखा था। कमरे की एक दीवार पर उसके पिता की तस्वीर थी। इसका मतलब यह था कि यह उसके पिता का कमरा था मिस्टर एल्विन नेल्सन का। वह देर तक सोफे पर बैठा रहा और सोचता रहा कि इस बार वह छुट्टियों में फिशपौंड तक फिशिंग के लिए जरूर जाएगा। अचानक दरवाजा खुला और डोरोथी ने अंदर झांका।
-डेरिक बाबा आप यहां क्या कर रहे हैं? मॉम जानेंगी तो गुस्सा होंगी। इस कमरे में आने की किसी को भी इजाजत नहीं है।
-क्यों डोरा आंटी यह मेरे पापा का कमरा है। मैं कभी भी इसमें आ सकता हूं। और इस संडे को मैं फिशिंग के लिए भी जाऊंगा।
-चलो यहां से निकलो …जल्दी। बाद में बातें करते रहना। कहते हुए डोरोथी ने उसका हाथ पकड़कर उठा लिया और लेकर बाहर निकल आई।
सीढयि़ां उतरते हुए डेरिक उदास था…उसने सोचा कि वह इस सिलसिले में मां से बात करेगा। वह सीधे किचन में चला गया… ।
-लुक डेरिक व्हाट आइ हैव मेड फॉर यू… चॉकलेट केक एंड मफिंस… वे मुस्कुराईं।
-थैंक यू मॉम …पर मैं आपसे कोई और बात करना चाहता हूं।
-क्या कहना है …? कहते हुए वे उसके पास आ गईं।
-इस संडे मैं फिशिंग के लिए जाना चाहता हूं।
-नो …नेवर, कभी नहीं।
-पर क्यों…? वह उलझकर रह गया था। बारह साल का डेरिक मां की आंखों में आंसू देख घबरा गया।
वे बरामदे में आकर कुर्सी पर बैठ गईं।
-तुम्हारे पिता को फिशिंग का बेहद शौक था। हर छुट्टी के दिन वे झील पर जाते थे। कभी उनके साथ कोई दोस्त होता था और कभी अकेले चले जाते थे । उस दिन भी वे अकेले ही थे फिशिंग बोट लेकर थोड़ा आगे निकल गए… और फिर जाने क्या हुआ कि झील में बोट डूब गई साथ ही तुम्हारे पिता भी। तुम बहुत छोटे थे । तब से मुझे फिशिंग से नफरत हो गई है । मैं नहीं चाहती कि तुम भी उनकी तरह यह शौक रखो।
डेरिक बोला कुछ नहीं। चुप चाप अपने कमरे में चला गया। उस रात वह सोचता रहा … काश मछलियां पानी में न रहकर हवा में रहतीं तो पापा कभी न डूबते।
वह अजीब सा सपना था… वह मॉम के साथ एक खुले मैदान में था। आसमान में बादल थे और बादलों के बीच मछलियां उड़ रही थीं एकदम पंछियों की तरह।
-ओह माय गॉड सचमुच उड़ती मछलियां। वह चीख पड़ा।
-क्या हुआ … ? उसकी चीख सुनकर मां घबरा कर उसके कमरे में आ गईं।
– मैंने सपना देखा आप मेरे साथ थीं और आसमान में मछलियां उड़ रही थीं।
-कोई बात नहीं इस संडे तुम फिशिंग के लिए जा सकते हो साथ में मैं भी चलूंगी और हां मछलियां हमेशा पानी में होती हैं आसमान में नहीं।
-थैंक्यू मॉम डेरिक ने कहा और करवट बदल कर सो गया।
-यह क्या मैम ? डोरोथी चकित थी।
-वह बड़ा हो गया है और एल्विन की ही तरह सपने भी देखने लगा है। कहकर वे अपने कमरे में चली गईं।


- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook. Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

कुल्लू में हमीरपुर नंबर की गाड़ी से 340 ग्राम चरस बरामद, 6 युवक धरे

चंबाः बनीखेत में महिला टीचर ने फंदा लगाकर दी जान, ऊना की थी रहने वाली

कांगड़ा के गगल में घर में लगी आग, लाखों का हुआ नुकसान

आईआईटी प्रशिक्षुओं से बोले राज्यपाल, नौकरी पर न रहें निर्भर, लगाएं उद्योग

First Hand: अध्यक्ष पद से हटने के बाद क्या करेंगे BJP प्रदेशाध्यक्ष सत्ती, स्वयं बता दिया वीडियो में

जामिया के छात्रों का उग्र प्रदर्शन : तीन बसों में लगाई आग, एक कर्मचारी घायल

नागरिकता क़ानून पर पीएम मोदी का बयान, कहा- कपड़े बताते हैं आग लगाने वाले कौन हैं

मनाली गोलीकांड से गुस्साए होमगार्ड जवानों ने किया सुंदरनगर में प्रदर्शन

ओटीआर के आश्वासन के बाद पोस्ट कोड 556 के रिजेक्ट अभ्यर्थियों का धरना समाप्त

सरकारी नौकरी : जल्दी करें हाईकोर्ट में स्टेनो टाइपिस्ट के पदों पर बंपर भर्ती

मौसम ने बदली करवटः राजधानी में हुआ सीजन का दूसरा हिमपात

पुलिस ने 1440 नशीले कैप्सूल के साथ धरा नशा तस्कर

लाखों की ऑनलाइन ठगी के मामले में कुल्लू पुलिस ने झारखंड से पकड़ा शातिर

जूते चुराने की रस्म पर भड़का दूल्हा, घर वालों को कहे अपशब्द, दुल्हन ने तोड़ी शादी

लड़कियों की स्टेट जूनियर हॉकी चैंपियनशिप 20 से,तैयारियों को लेकर बैठक आयोजित

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है