Covid-19 Update

59,014
मामले (हिमाचल)
57,428
मरीज ठीक हुए
984
मौत
11,190,651
मामले (भारत)
116,428,617
मामले (दुनिया)

अवैध कटान कर रहे वन माफिया ने कर्मचारियों पर चलाई गोलियां

अवैध कटान कर रहे वन माफिया ने कर्मचारियों पर चलाई गोलियां

- Advertisement -

सचिन ओबरॉय/पांवटा साहिब। खैर के पेड़ काटने में जुटे वन माफिया ने निहत्थे वन कर्मियों पर माफिया ही गोलियां चला दी। हालांकि इस हमले में किसी तरह का जानी नुकसान नहीं हुआ है, लेकिन वन काटुओं ने खैर के 26 पेड़ों को पूरी तरह से हलाक कर दिया। मामला उत्तराखंड व हिमाचल की सीमा पर यमुना नदी के किनारे स्थित रामपुर घाट का है। यहां मंगलवार रात बोलेरो गाड़ी और एक ट्रक के साथ करीब 25 से 30 लोग पेड़ कटान को पहुंचे। इसी बीच वन विभाग को इसकी भनक लगी और गश्त कर रही टीम यहां आ पहुंची। टीम के सदस्यों ने यहां पेड़ों के कटने व ट्रक में लादने की आवाजें सुनीं। मौके पर जाकर वे हैरान रह गए, खैर के 26 पेड़ जमींदोज थे। जैसे ही वन काटुओं ने निहत्थे वन कर्मियों देखा तो उन पर गोलियां चला दी। साथ ही अंधेरे का फायदा उठा कर मौके से भाग निकले। गनीमत यह रही कि घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है।

पकड़ी गई लकड़ी को किया सीज

वन विभाग व पुलिस ने मौके पर पकड़ा माल सीज कर दिया है और ट्रक नबंर (HR -37- 7997) को सीज कर अपने कब्जे में ले लिया है। काटे गए 26 पेड़ों की लकड़ी की कीमत 5 लाख से अधिक आंकी जा रही है। गौरतलब है कि विगत दिनों छछेती बीट में रंगे हाथ साल का पेड़ काटते पकड़े गए दो वन काटुओं के पास से भी एक दोनाली बंदूक बरामद हुई थी। ऐसे में निहत्थे वन कर्मियों की सुरक्षा पर लगातार सवाल उठ रहे हैं। गौर रहे कि पांवटा क्षेत्र में पहले भी कई बार वन माफिया वन कर्मियों पर फायर कर चुके हैं। उधऱ, पांवटा क्षेत्र के बेशकीमती साल और खैर के जंगल वन माफिया के निशाने पर हैं। वन माफिया को रोकना असंभव साबित होता जा रहा है। वन माफिया अपने इरादों को लगातार बेरोकटोक अंजाम दे रहे हैं। पांवटा वन क्षेत्र के हर हिस्से से पेड़ों के अवैध कटान की शिकायतें लगातार आ रही है। वहीं, डीएसपी पांवटा प्रमोद चौहान ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि पुलिस मौके पर पहुंची चुकी है। मामला दर्ज कर आगामी छानबीन की जा रही है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है