Covid-19 Update

1,98,901
मामले (हिमाचल)
1,91,709
मरीज ठीक हुए
3,391
मौत
29,570,881
मामले (भारत)
177,058,825
मामले (दुनिया)
×

बेखौफ माफिया: Kullu में वन कर्मियों पर पत्थरों से हमला, जब्त स्लीपर भी जलाए

बेखौफ माफिया: Kullu में वन कर्मियों पर पत्थरों से हमला, जब्त स्लीपर भी जलाए

- Advertisement -

कुल्लू। लॉक डाउन (Lockdown) में वन माफिया के हौंसले बुलंद हो गए हैं। यह लोग अब वन विभाग (Forest Department) और पुलिस से भी डर नहीं रहे हैं। जिला कुल्लू में एक ऐसा ही मामला सामने आया है। यहां वन विभाग ने एक वन माफिया से 35 स्लीपर पकड़े थे, लेकिन रात के अंधेरे में वन माफिया (Mafia) ने इन स्लीपरों को ही जला दिया और सबूत मिटाने की कोशिश की। यही नहीं आग बुझाने आए वन कर्मियों पर पहाड़ी के ऊपर से पत्थरों से हमला कर दिया। मामला जिला कुल्लू (Kullu) के भुट्टी बीट के माशना पंचायत का है। वन अरण्यपाल अनिल शर्मा ने बताया कि घाटी के भुटटी रेंज में माशना पंचायत में वन माफिया ने रेई का पेड़ काट कर उसकी लकड़ी के 35 स्लीपर निकाले थे, जिन्हें वन विभाग ने मौके पर पहुंच कर पकड़ लिया। घटना स्थल सड़क से दो किलोमीटर दूर था, जिसके चलते वन विभाग की टीम शाम साढे तीन बजे मौके पर पहुंची और स्लीपर और एक व्यक्ति को पकड़ा। व्यक्ति ने अपना गुनाह भी कबूल कर लिया।

यह भी पढ़ें: खाद्य आपूर्ति विभाग ने 53 मील में जब्त की दालें, चीनी, फल और सब्जियां-जाने क्यों

वन विभाग की टीम ने स्लीपरों को सड़क तक पहुंचाना शुरू किया। लॉकडाउन (Lockdown) के चलते उन्हें मजदूर ना मिलने से वन विभाग के कर्मचारियों ने ही अपने कंधों पर उठाकर इन्हें आधे रास्ते तक पहुंचाया और रात होने के चलते काम को बंद करना पड़ा। बताया जा रहा है कि वन विभाग के कर्मियों ने भी स्लीपरों से कुछ ही दूरी पर अपना डेरा लगा लिया। इस दौरान रात करीब दो बजे वन माफिया ने तेल छिड़ककर इन स्लीपरों को आग लगा दी। आग की लपटों को देख वन कर्मी घटना स्थल की ओर भागे, लेकिन वन माफिया ने उनपर पत्थरों से हमला कर दिया। जिसके चलते सारे स्लीपर आग की भेंट चढ़ गए। केवल दो स्लीपरों को ही आग से बचाया जा सका। घटना की सूचना पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल का मुआयना कर मामला दर्ज कर लिया है और आगामी जांच शुरू कर दी है।


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है