Covid-19 Update

2,04,887
मामले (हिमाचल)
2,00,481
मरीज ठीक हुए
3,495
मौत
31,329,005
मामले (भारत)
193,701,849
मामले (दुनिया)
×

महिला मौत मामलाः एसएचओ हमीरपुर ने शव ले जा रहे लोगों पर क्यों तानी पिस्टल, होगी जांच

महिला मौत मामलाः एसएचओ हमीरपुर ने शव ले जा रहे लोगों पर क्यों तानी पिस्टल, होगी जांच

- Advertisement -

हमीरपुर। निजी अस्पताल (Private Hospital) में रसौली के उपचार के दौरान सरकारी स्कूल की अध्यापिका अमिता की मौत के मामले में एसएचओ (SHO) के लोगों पर पिस्टल (Pistol) तानने और पुलिस कर्मियों के दुर्व्यवहार मामले में डीसी (DC) हरिकेश मीणा ने मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए हैं। एडीसी हमीरपुर रतन गौतम तीन दिन में जांच पूरी कर डीसी को सौंपेंगे। हमीरपुर सदर के एसएचओ (SHO) द्वारा नाल्टी के पास शव को हमीरपुर ला रहे लोगों पर किन परिस्थितियों में पिस्टल (Pistol) ताना गया तथा निजी अस्पताल (Private Hospital) से एंबुलेस में टांडा ले जाए जा रही अमिता को पुलिस ने क्यों एस्कोर्ट किया, जैसे गंभीर मुद्दों पर आरोपियों व गवाहों के बयान दर्ज किए जाएंगे।


यह भी पढ़ें: गलत साइड से ओवरटेक करते हुए गाड़ी ने मारी बाइक सवार को टक्कर


बता दें कि आज ब्राहलड़ी गांव से क़रीब 40-50 लोगों का प्रतिनिधिमंडल डीसी (DC) हमीरपुर को ज्ञापन सौंपने आया था। ज्ञापन में बताया गया कि निजी अस्पताल में डॉक्टरों की लापरवाही से 9 अक्टूबर को अमिता पत्नी अरुण शर्मा की मौत के बाद जब वे 11 अक्टूबर को शव के साथ शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने पक्का भरोह हमीरपुर आ रहे थे तो पुलिस (Police) ने उन्हें रास्ते में रोक लिया। नाल्टी के पास जब वे पैदल शव के साथ चलने लगे तो पुलिस ने शव की चारपाई को बलपूर्वक खींचकर तोड़ दिया और उसी वक़्त एक पुलिस अधिकारी द्वारा निहत्थे लोगों पर पिस्टल (Pistol) तानकर डराने की कोशिश की गई।

उन्होंने अंदेशा जताया कि पुलिस (Police) किसी प्रभावशाली व्यक्ति के दबाव में काम कर रही है और आरोपियों को बचाने की कोशिश की जा रही है। लोगों ने सारे घटनाक्रम की सीबीआई या मजिस्ट्रेट जांच की मांग की है। साथ ही अस्पताल और डॉक्टरों पर भी कार्रवाई की मांग की है। लोगों ने इस बाबत सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) को भी एक ज्ञापन भेजा है। ब्राहलडी पंचायत की प्रधान अमनदीप ने कहा कि जिला प्रशासन को अस्पताल व दोषी डॉक्टर के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने मामले की सीबीआई जांच की भी मांग की है। मृतका के पति अरुण शर्मा ने कहा कि अस्पताल के गलत रवैये के कारण सारी घटना हुई है और ज्ञापन के माध्यम से मांग की गई कि जल्द से जल्द दोषियों पर कार्रवाई हो।

डीसी हमीरपुर हरिकेश मीणा ने कहा कि पुलिस के दुर्व्यवहार और रेफर मरीज को एस्कोर्ट करने पर जांच होगी। उन्होंने यह भी कहा कि किन परिस्थितियों में पिस्टल (Pistol) तानी गई इस बात की भी जांच होगी। हरिकेश मीणा ने सारे घटनाक्रम की एडीसी (ADC) रतन गौतम से तीन दिन के अंदर मजिस्ट्रेट जांच करवाने के आदेश जारी किए हैं। उन्होंने कहा कि मेडिकल कॉलेज की टेक्निकल कमेटी, एफआईआर (FIR) तथा पोस्टमोर्टम रिपोर्ट को इस जांच से बाहर रखा गया है। पुलिस की हैंडलिंग व मिसबिहेव को लेकर मजिस्ट्रेट जांच तीन दिन में पूरी की जाएगी।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है