Expand

डीसी ऑफिस में हंगामा करने वालों के खिलाफ केस

डीसी ऑफिस में हंगामा करने वालों के खिलाफ केस

- Advertisement -

सोलन। डीसी ऑफिस सोलन में शिकायत निवारण समिति की बैठक के दौरान हुए हंगामे को लेकर पुलिस ने 20 से 30 लोगों के खिलाफ एफआईआर की है। एसपी अंजुम आरा ने जानकारी देते हुए बताया कि डीसी ऑफिस में शिकायत निवारण समिति की बैठक थी, जिसकी अध्यक्षता मंत्री कर रहे थे। इसमें हंगामा हुआ था, इसके खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई करते हुए एफआईआर दर्ज कर ली है। बैठक के दौरान जो भी लोग पोस्टर दिखा रहे थे, उन सभी के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। मामले की अगामी जांच जारी है। उन्होंने बताया कि एफआईआर 20 से 30 लोगों के खिलाफ की गई है। गौरतलब है कि डीसी ऑफिस सोलन में  उस समय हंगामा हो गया जब महर्षि मार्कंडेश्वर विवि प्रबंधन के खिलाफ रैली निकाल रहे भाजपाई ऑडिटोरियम में सीधे घुस गए और हंगामा करने लगे। इस दौरान कुछ कांग्रेस कार्यकर्ता भी वहां पर पहुंच गए और दोनों एक-दूसरे से उक्त मामले पर बहस करने लगे।

इतना ही नहीं वहां चल रही शिकायत निवारण समिति की बैठक में उपस्थित अधिकारी तक हक्के-बक्के रह गए और और चुपचाप सारा माजरा देखते रहे। डीसी सोलन राकेश कंवर ने बीजेपी व कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को शालीनता के साथ समझाने की पुरजोर कोशिश की तथा अतिरिक्त पुलिस अधिक्षक ने भी माहौल को शांत करवाने का भरसक प्रयास किया परन्तु बीजेपी व कांग्रेस कार्यकताओं ने मर्यादाओं की सारी हद पार कर दी और बहस करते रहे। इस बैठक में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री को पहुंचना था पर वे उस समय तक नहीं पहुंचे थे। उनकी गैर मौजूदगी में जोरदार हंगामा देर तक चला। दोनों पार्टियों के कार्यकर्ता एक-दूसरे को बैठक से बाहर जाने के लिए जमकर नारेबाजी करते देखे गए।

इससे पूर्व सोलन स्थित महर्षि मार्कंडेश्वर विवि प्रबंधन द्वारा एमबीबीएस के छात्रों को दाखिला न देने के विरोध में बीजेपी मंडल सोलन ने प्रवक्ता रीतु सेठी की अध्यक्षता में प्रदेश सरकार के खिलाफ रैली निकाली। यह रैली लोक निर्माण विश्राम गृह से माल रोड होते हुए उपायुक्त कार्यालय तक पहुंची।प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर हुई नारेबाजी बीजेपी नेताओं ने प्रदेश सरकार व स्वास्थ्य मंत्री के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। बीजेपी कार्यकर्ताओं का आरोप है कि अंतिम तारीख समाप्त होने के बावजूद छात्रों को दाखिला नहीं मिला है। विश्विद्यालय द्वारा फीस वृद्धि करने की शर्त के चलते ये दाखिले नहीं हुए और लगभग 150 होनहार छात्रों व उनके अभिभावकों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

डीसी ऑफिस सोलन में बीजेपी-कांग्रेस का हल्ला बोल

सोलन। डीसी ऑफिस सोलन में मामला उस समय हंगामा पूर्ण हो गया जब महर्षि मार्कंडेश्वर विवि प्रबंधन के खिलाफ रैली निकाल रहे भाजपाई ऑडिटोरियम में सीधे घुस गए और हंगामा करने लगे। इस दौरान कुछ कांग्रेस कार्यकर्ता भी वहां पर पहुंच गए और दोनों एक-दूसरे से उक्त मामले पर बहस करने लगे। इतना ही नहीं वहां चल रही शिकायत निवारण समिति की बैठक में उपस्थित अधिकारी तक हक्के-बक्के रह गए और और चुपचाप सारा माजरा देखते रहे। डीसी सोलन राकेश कंवर ने बीजेपी व कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को शालीनता के साथ समझाने की पुरजोर कोशिश की तथा अतिरिक्त पुलिस अधिक्षक ने भी माहौल को शांत करवाने का भरसक प्रयास किया परन्तु बीजेपी व कांग्रेस कार्यकताओं ने मर्यादाओं की सारी हद पार कर दी और बहस करते रहे।

solan2इस बैठक में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री को पहुंचना था पर वे उस समय तक नहीं पहुंचे थे। उनकी गैर मौजूदगी में जोरदार हंगामा देर तक चला। दोनों पार्टियों के कार्यकर्ता एक-दूसरे को बैठक से बाहर जाने के लिए जमकर नारेबाजी करते देखे गए।  इससे पूर्व सोलन स्थित महर्षि मार्कंडेश्वर विवि प्रबंधन द्वारा एमबीबीएस के छात्रों को दाखिला न देने के विरोध में बीजेपी मंडल सोलन ने प्रवक्ता रीतु सेठी की अध्यक्षता में प्रदेश सरकार के खिलाफ रैली निकाली। यह रैली लोक निर्माण विश्राम गृह से माल रोड होते हुए उपायुक्त कार्यालय तक पहुंची।

solan3प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर हुई नारेबाजी

बीजेपी नेताओं ने प्रदेश सरकार व स्वास्थ्य मंत्री के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। बीजेपी कार्यकर्ताओं का आरोप है कि अंतिम तारीख समाप्त होने के बावजूद छात्रों को दाखिला नहीं मिला है। विश्विद्यालय द्वारा फीस वृद्धि करने की शर्त के चलते ये दाखिले नहीं हुए और लगभग 150 होनहार छात्रों व उनके अभिभावकों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। रीतु सेठी ने प्रदेश सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि प्रदेश सरकार व स्वास्थ्य मंत्री छात्र हितों का हनन कर रहे हैं, जिसका जीता-जागता उदाहरण एमएमयू में 150 छात्रों को फीस वृद्धि के कारण दाखिला नहीं दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यदि सरकार चाहे तो इस मामले मे हस्तक्षेप करके होनहार छात्रों का भविष्य संवार सकते हैं, लेकिन सरकार इस और कोई ध्यान नहीं दे रही है। इसके चलते बीजेपी मंडल सोलन द्वारा रोष रैली निकाली गई। उधर, हिमाचल प्रदेश खादी बोर्ड के उपाध्यक्ष रमेश चौहान ने बताया कि प्रदेश सरकार को भी छात्रों के भविष्य की चिंता है, जिसके लिए सीएम वीरभद्र सिह प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी याद करें कि एमएमयू को खोलने के लिए किसने स्वीकृति दी गई थी। उन्होंने कहा कि इस तरह बैठक में हंगामा  खड़ा करने से कुछ हासिल नहीं होगा इस मामले में सभी को एकसाथ खड़े होना चाहिए। बाद में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने डीसी के माध्यम से राज्यपाल को इस मामले मे हस्तक्षेप करने के लिए ज्ञापन भी सौंपा।

 

https://youtu.be/Mcvl80kgLxc

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है