Covid-19 Update

2,01,049
मामले (हिमाचल)
1,95,289
मरीज ठीक हुए
3,445
मौत
30,067,305
मामले (भारत)
180,083,204
मामले (दुनिया)
×

कैबिनेट सब कमेटी से बोले ग्रामीण – हमें टीसीपी किसी भी सूरत में मंजूर नहीं

कैबिनेट सब कमेटी से बोले ग्रामीण – हमें टीसीपी किसी भी सूरत में मंजूर नहीं

- Advertisement -

मंडी। शहर के साथ सटे ग्रामीण इलाकों में वर्ष 1984 से लगे टाउन एंड कंट्री प्लानिंग एक्ट को लोगों ने अपनाने से साफ इनकार कर दिया है। प्रदेश भर में टीसीपी एक्ट को लेकर आ रहे ग्रामीणों के विरोध के बीच राज्य सरकार ने कैबिनेट की सब कमेटी (Cabinet sub committee) का गठन किया, जिसका अध्यक्ष आईपीएच मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर (IPH Minister Mahendra Singh Thakur) को बनाया गया है। आज महेंद्र सिंह ठाकुर कैबिनेट सब कमेटी के नाते मंडी पहुंचे और टीसीपी के दायरे में आए ग्रामीणों से उनकी समस्याएं सुनी। ग्रामीणों ने एकमत से टीसीपी को सिरे से खारिज कर दिया।


यह भी पढ़ें: टीसीपी में पंचायतें शामिल और बाहर करने पर कल यहां होगी सुनवाई


मंत्री के समक्ष ग्रामीणों ने खुलकर अपनी बात रखी और कहा कि टीसीपी को उनपर जबरन थोपा गया है। 1984 से लागू इस एक्ट का आज दिन तक ग्रामीणों को कोई लाभ नहीं मिला बल्कि नुकसान और परेशानियां ही झेलनी पड़ी हैं। ग्रामीणों ने सरकार को स्पष्ट शब्दों में चेताया है कि इस एक्ट को किसी भी सूरत में बर्दाशत नहीं किया जाएगा। इनका कहना है कि बिजली, पानी और मकान बनाने से लेकर अन्य मूलभूत सुविधाओं के लिए इन्हें दर-दर भटकना पड़ रहा है और कार्यालयों के चक्कर काटने पड़ रहे हैं। यहां तक की गौशालाएं बनाने के लिए भी नक्शे पास करवाने पड़ रहे हैं। इन्होंने मंत्री से सभी ग्रामीण इलाकों को टीसीपी (TCP) से बाहर करने की मांग उठाई।


महेंद्र सिंह ने दो घंटे तक सुनी लोगों की समस्याएं

कैबिनेट सब कमेटी के अध्यक्ष महेंद्र सिंह ठाकुर ने दो घंटों से अधिक समय तक ग्रामीणों की बातें सुनी और उन सभी बातों को अपने पास नोट कर लिया। महेंद्र सिंह ठाकुर ने बताया कि अब ग्रामीणों की बातों पर अधिकारियों के साथ बैठकर चर्चा की जाएगी और उसके बाद इसे कैबिनेट में भेजा जाएगा। महेंद्र सिंह ठाकुर ने स्पष्ट किया कि ग्रामीणों को टीसीपी से बड़ी राहत दिलाने के उद्देश्य से ही सब कमेटी का गठन किया गया है। इसके बाद महेंद्र सिंह ठाकुर ने नगर परिषद नेरचौक और ग्राम पंचायत सरकाघाट में भी टीसीपी के दायरे में आए ग्रामीणों की समस्याएं सुनी और उन्हें भी जल्द राहत देने का भरोसा दिलाया है।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है