Expand

धोनी बोले, कोहली से बढ़ा है संवाद

धोनी बोले, कोहली से बढ़ा है संवाद

- Advertisement -

गफूर खान/धर्मशाला। भारतीय एकदिवसीय क्रिकेट टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का कहना है कि भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली से उनका संवाद बढ़ा है। क्योंकि कोहली लम्बे समय तक खिलाड़ियों के साथ बतौर कप्तान रहते हैं और खेल के छोटे प्रारूप में निर्णय लेते वक्त कोहली का मशविरा भी मायने रखता है।

  • खेल के छोटे प्रारूप में निर्णय लेते वक्त कोहली का मशविरा भी रखता है मायने
  • टेस्ट टीम के कप्तान के रूप में कोहली की प्रतिभा और भी निखरी है

धोनी ने यह शब्द एचपीसीए के मीडिया सेंटर में पत्रकारों से बातचीत के दौरान एक सवाल के जवाब में कहे। धोनी ने कहा कि टेस्ट टीम की कप्तानी भी एक महत्वपूर्ण स्थान है और टेस्ट टीम के कप्तान के रूप में कोहली की प्रतिभा और भी निखरी है। एकदिवसीय मैच के दौरान भले ही सबसे अधिक जिम्मेदारी मेरी होती है, लेकिन उस दौरान भी मैं कोहली से विचार विमर्श कर लेता हूं।

हर कोई जीत ही चाहता है
धोनी ने कहा कि भारतीय क्रिकेट टीम देश में खेल रही हो या विदेशों में, लेकिन हर भारतीय क्रिकेट प्रेमी टीम को जीतते हुए देखना indचाहता है। धोनी ने यह बात उस सवाल के जवाब में कही, जिसमें उनसे पूछा गया था कि टीम में नए खिलाड़ी शामिल तो किए जाते हैं पर उनको खेलने का मौका नहीं दिया जाता। धोनी का कहना था कि टीम इंडिया पर क्रिकेट प्रेमियों की अपेक्षाओं को पूरा करने का भी दवाब रहता है। इसलिए प्लेइंग 11 में उन खिलाड़ियों को जगह दी जाती है जो टीम को जीत दिला सकें। जीतने का दबाव बहुत ज्यादा एक्सपेरिमेंट्स का मौका नहीं देता और इसी कारण ज्यादा खिलाड़ियों को भी खेलने का मौका नहीं मिल पाता।

अब पूछते हैं दो कप्तान क्यों
महेंद्र सिंह धोनी ने कहा कि जब टीम इंडिया का टेस्ट, वन-डे और टी 20 में एक ही कप्तान होता था तो प्रश्न यह उठाया जाता था कि अन्य देशों की तरह हमारे भी अलग-अलग कप्तान क्यों नहीं हैं। अब जबकि टेस्ट और वन-डे की कप्तानी अलग-अलग लोगों को सौंपी गई है, तो सवाल यह उठाया जाता है कि दो-दो कप्तान क्यों हैं। धोनी ने कहा कि दो कप्तान होने से टीम बेहतर ही हुई है। विश्व के अन्य क्रिकेट खेलने वाले देश भी यही फॉर्मेट अपनाते हैं। इसलिए इसपर सवाल उठाया जाना शायद सही नहीं है।

ऊपरी क्रम में बल्लेबाजी करेंगे माही

गफूर खान/धर्मशाला। इस सीरिज में टीम इंडिया को अपनी बेंच सट्रेथ परखने का बेहतर मौका सामने है और यह इस साल के लंबे सीजन के लिहाज से भी बेहतर है। यह कहना है टीम इंडिया के कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी का। धोनी ने एचपीसीए के मीडिया सेंटर में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान कहे। धोनी ने कहा कि आगे लंबा सीजन है जिसको देखते हुए कुछ खिलाड़ियों को आराम देने का फैसला सही है। टीम में खुद के रोल पर माही का कहना है कि बतौर सीनियर खिलाड़ी उनकी जिम्मेदारी बढ़ जाती है।

  • कैप्टन कूल बोले, सीनियर खिलाड़ी होने के नाते बढ़ी जिम्मेदारी

team2उन्होंने कहा कि इस टीम कॉम्बिनेशन में उन्हें ऊपरी क्रम में बल्लेबाजी करने का मौका मिलेगा क्योंकि अमूमन अन्य खिलाड़ियों की मौजूदगी में उन्हें बहुत नीचे बल्लेबाजी करने आना पड़ता है। अपने फिनिशर के रोल पर धोनी ने कहा कि उनका मानना है कि नंबर 5, 6 या 7 पर बल्लेबाजी करने वाले खिलाड़ी अच्छे फिनिशर साबित हो सकते हैं। लेकिन यह भी सही है कि फिनिशर पर दवाब भी बहुत ज्यादा रहता है, खासकर उन परिस्थितियों में जब टॉप ऑर्डर नाकाम हो चुका हो और टीम का स्कोर 40 रन पर 5 विकेट हो। धोनी ने कहा कि हमने कुछ लोगों को चिन्हित किया है जो की टीम में फिनिशर का रोल बखूबी निभा सकते हैं। अभी उनके नामों का खुलासा करना, उन पर अनावश्यक दवाब बनाने के बराबर होगा। धोनी ने कहा कि इस सीरीज में धवल कुलकर्णी, पंड्या, बुमराह और उमेश यादव सहित कुछ अन्य खिलाड़ियों के पास बेहतर मौका है। क्योंकि यह लोग घरेलू और ए टीम में बेहतर प्रदर्शन करते आए हैं और इन मैचों के मुकाबले अंतरराष्ट्रीय मैचों का स्तर बड़ा होता है। यहां ज्यादा जिम्मेदारी के साथ बड़ा मौका भी हाथ में होता है और उम्मीद है कि नए लड़के इस मौके को भुनाएंगे।

न्यूजीलैंड पर टेस्ट हार का दबाव नहीं

धर्मशाला। टेस्ट और एकदिवसीय दोनों क्रिकेट के अलग अलग प्रारूप हैं और न्यूजीलैंड एकदिवसीय मैचों की बेहतर टीम है। यह शब्दnewz न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के विकेटकीपर बल्लेबाज ल्यूक रोंकी ने मीडिया सेंटर में पत्रकार वार्ता के दौरान कहे। रोंकी ने कहा कि टेस्ट सीरीज 3-0 से हारने का टीम पर कोई दबाव नहीं है। वह टेस्ट मैच थे और एकदिवसीय मैचों में न्यूजीलैंड भारत को कड़ी टक्कर देगी। पूर्व में भी हमने एकदिवसीय मैचों में बेहतर प्रदर्शन किया है और वहीं हमारे लिए प्रेरणा का काम करेगा।

  • वनडे में भारत को कड़ी टक्कर देंगे कीवी

teams-6भारतीय टीम में नए खिलाड़ियों के होने पर रोंकी ने कहा कि आईपीएल से किसी भी खिलाड़ी की पहचान करने में मदद मिलती है। यह पुरानी बात हो गई है कि नया खिलाड़ी कैसे खेलता है या कैसे गेंदबाजी करता है। कुछ लोगों के साथ हम आईपीएल में खेल चुके होते हैं और कुछ के बारे में हम सबको जानकारी होती है। पॉवर प्ले नियमों के बारे में रोंकी ने कहा कि इसका कोई ख़ास फर्क नहीं पड़ता, क्योंकि टॉप आर्डर ने रन बनाकर आधार तैयार किया हो तो, ज्यादा से ज्यादा रन बनाने के लिए अंतिम 10 ओवर सबसे बेहतर होते हैं। यदि आपके हाथ में विकेट हैं तो इन अंतिम ओवरों में आप बड़ा स्कोर कर सकते हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है