×

मिलिए…! भारत मां के असली सपूत से, ताउम्र करेंगे शहीद के माता-पिता की सेवा

मिलिए…! भारत मां के असली सपूत से, ताउम्र करेंगे शहीद के माता-पिता की सेवा

- Advertisement -

नाहन। बेटा-बेटी को गोद लेने की ख़बरें अक्सर सुनने को मिलती है। लेकिन, यह खबर कुछ हटके है। एक फौजी अफसर ने सही मायनों में भारत मां के सपूत की मिसाल पेश की है। इस फौजी अफसर ने शहीद के माता-पिता को गोद लेकर ताउम्र उनकी सेवा करने का संकल्प लिया है। 
पिछले महीने 24 अप्रैल को जम्मू कश्मीर में शहीद हुए हिमाचल के सिरमौर जिला के बेटे अजय कुमार के बेसहारा माता-पिता को मेजर दीपक धवन ने गोद लेने का फैसला लिया है। मेजर धवन वर्तमान में सैनिक कल्याण बोर्ड नाहन में Deputy Director हैं। अब मेजर दीपक शहीद अजय के बेसहारा माता-पिता के लिए बेटे की तरह सारी जिम्मेदारी निभाएंगे। मेजर धवन ने हाल ही में जम्मू कश्मीर में शहीद हुए सिरमौर जिले की पच्छाद की कोटला पंजोला पंचायत के 25 वर्षीय अजय कुमार के माता-पिता को गोद लेते हुए दत्तक पुत्र बने हैं। दत्तक पुत्र बनने के साथ-साथ मेजर धवन ने ताउम्र भर शहीद के माता-पिता की सेवा करने का संकल्प लिया है। उन्होंने शनिवार को नाहन के सैनिक कल्याण बोर्ड में शहीद के माता-पिता की पेंशन से जुड़ी सभी औपचारिकताएं पूरी की।

मेजर से लिपटकर रो पड़ीं शहीद की मां

इसी दौरान मौके पर मौजूद शहीद की मां मेजर धवन से लिपटकर रो पड़ीं। फिर क्या था, मेजर धवन ने तुरंत शहीद के माता-पिता की देखभाल की निर्णय ले लिया। मेजर धवन के इस बड़े व काबिलेतारीफ फैसले के बाद अब शहीद के माता-पिता को deputy director office के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे, बल्कि deputy director मेजर धवन व्यक्तिगत तौर पर नके घर जाकर परिवार की समस्याओं का समाधान करेंगे।

शहीद के मां-बाप बने दादा-दादी 

मेजर धवन ने कहा कि उनके दो बेटे हैं, जो शहीद के माता-पिता को अब दादा-दादी कहकर पुकारेंगे। निश्चित तौर पर पत्नी शैली धवन भी उन्हें सास-ससुर का दर्जा देकर पुत्रवधू की परंपरा निभाएंगी।

बेटा ही था इकलौता सहारा 

शहीद अजय की माता कमला और पिता सुरेश के पास अजय ही एकमात्र सहारा बचा था। अजय ने भारत मां की सेवा में अपने प्राणों की आहूति दे दी। अजय के छोटे भाई को गुजरे 3 माह का ही वक्त हुआ था। ऐसे में अजय के माता-पिता पर मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा था। 


- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है