Covid-19 Update

2,06,161
मामले (हिमाचल)
2,01,388
मरीज ठीक हुए
3,505
मौत
31,693,625
मामले (भारत)
198,846,807
मामले (दुनिया)
×

जानें, क्यों बोले मानकोटिया-चार माह आग ही सेंकते हैं सचिवालय के कर्मचारी, धर्मशाला भेजो

जानें, क्यों बोले मानकोटिया-चार माह आग ही सेंकते हैं सचिवालय के कर्मचारी, धर्मशाला भेजो

- Advertisement -

धर्मशाला। वीरभद्र शासनकाल में दूसरी राजधानी का दर्जा पाने वाले धर्मशाला (Dharamshala) पर उपचुनाव में राजनीति शुरू है। बीजेपी नेता शांता कुमार (Shanta Kumar) इसे एक रोज पहले औचित्यहीन बता चुके हैं, तो अब पूर्व मंत्री मेजर विजय सिंह मानकोटिया ( Major Vijay Singh Mankotia ) ने नए सिरे से इसे दूसरी राजधानी बनाने की नए सिरे से मांग उठा दी है। यहां मीडिया से बातचीत करते हुए मानकोटिया ने कहा कि सर्दियों के चार महीने पूरी सरकार धर्मशाला शिफ्ट हो।


यह भी पढ़ें: दलाई लामा को ग्लोबल इन्वेस्टर मीट में करो आमंत्रित, गांधी शांति पुरस्कार से हों सम्मानित


यह चार माह सचिवालय में कर्मचारी और अधिकारी (Staff and Officers in Secretariat) सिर्फ आग ही सेंकते हैं। कोई काम नहीं करते। या फिर सेब के बगीचों को संभालते हैं। इसलिए यह चार माह इन्हें धर्मशाला शिफ्ट करना चाहिए। इससे न केवल कांगड़ा बल्कि आसपास जिले के लोगों को भी फायदा होगा। उन्होंने कहा कि दूसरी राजधानी हमारा हक है। हम कोई भीख नहीं मांग रहे हैं।

मानकोटिया ने कहा ग्लोबल इन्वेस्टर मीट धर्मशाला में होने जा रहा है, जिसमें बहुत बड़े-बड़े लोग आ रहे हैं, तो सरकार धर्मशाला को दूसरी राजधानी क्यों नहीं बना देती। उन्होंने कहा कि ये बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है कि जब इस तरह के मुद्दे का कांगड़ा (Kangra) के ही नेता डिफ्यूज करने सामने आ जाते हैं। इससे महत्व कम हो जाता है। उन्होंने कहा कि पहले वीरभद्र सिंह (Virbhadra Singh) थे तो वह अप्पर की बात करते थे, अब जयराम हैं तो वह मंडी से हैं। हैरानी की बात है कि जब भी कांगडा का मुद्दा होता है तो यही की नेता उसके विरोध में खडे़ हो जाते हैं। मानकोटिया ने कहा कि धर्मशाला को दूसरी राजधानी की मांग दिन व दिन बढ़ती ही जाएगी।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है