Expand

उपचार के अभाव में मौत

उपचार के अभाव में मौत

- Advertisement -

सुंदरनगर। इंसान दम तोड़ रहे हैं और उनके साथ इंसानियत भी। सरकारी तंत्र भी बेबस लोगों के सामने बेबस हो जाता है। ऐसा ही कुछ वाक्या उपमंडल सुंदरनगर में सामने आया है। एक लाचार व्यक्ति की सही उपचार न मिलने से मौत हो गई। अब शव डेड हाउस में रखा हुआ है और उसकी शिनाख्त नहीं हो पाई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार यह व्यक्ति पिछले करीब दस वर्षों से बीबीएमबी कॉलोनी सुंदरनगर के आसपास भीख मांगकर पेट पाल रहा था जिसे सभी लोग राजा के नाम से जानते थे।

  • sndrडेड हाउस में शिनाख्त के लिए रखा है शव
  • मूल रूप से आंध्र प्रदेश का निवासी था राजा

कहा जा रहा है कि मूल रूप से राजा आंध्र प्रदेश का निवासी था लेकिन उसके परिजनों के बारे में अभी तक कुछ पता नहीं चल पाया है। राजा लंबे अरसे से बीमार चल रहा था। दो माह पहले उसकी तबीयत ज्यादा बिगड़ गई थी तो स्थानीय व्यापारियों ने उसे नागरिक चिकित्सालय भिजवाया। उसके आगे-पीछे कोई नहीं था तो शायद अस्पताल वालों ने उसे लगातार इलाज देने की बजाय एक-दो दिन उपचार देकर भेज दिया। गंभीर बीमारी में सही इलाज न मिलने पर राजा की तबीयत बिगड़ती गई और दो दिन पहले वह सड़क किनारे निढाल होकर गिर पड़ा। उसे तड़पता देख स्थानीय दुकानदारों ने उसे 108 एंबुलेंस के माध्यम से अस्पताल पहुंचाया जहां उसने कुछ घंटों के बाद दम तोड़ दिया। अस्पताल प्रबंधन द्वारा राजा की मौत की सूचना दिए जाने पर पुलिस ने शव को कब्जे में ले पोस्टमाटर्म करवा पहचान हेतु डेड हाउस में रखा  है।

dead-body11डीएसपी सुंदरनगर संजीव भाटिया ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि पुलिस ने मृतक के पास से एक मोबाइल बरामद किया लेकिन जब उसमें मौजूद तमाम फ़ोन नंबरों पर संपर्क करने पर भी उसके परिजनों का पता नहीं लग सका है। पुलिस ने शव को सुरक्षित रखा हुआ है। वहीं वसुधा एनजीओ के पदाधिकारी कर्म प्रताप सिंह का कहना है कि  सर्वोच्च न्यायालय के आदेशानुसार सरकारी व गैर सरकारी अस्पताल जरूरतमंदों को स्वास्थ्य सेवा देने के लिए बाध्य हैं। इसके बावजूद अस्पतालों का रवैया बेहद निराशाजनक है। इसकी शिकायत संबंधित महकमे के आलाधिकारियों से की जाएगी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है