Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,526,589
मामले (भारत)
196,267,832
मामले (दुनिया)
×

ऐसा क्या हुआ कि लड़के ने ‘लड़की’ नहीं ‘लकड़ी’ से कर ली शादी; जानें अनोखा मामला

ऐसा क्या हुआ कि लड़के ने ‘लड़की’ नहीं ‘लकड़ी’ से कर ली शादी; जानें अनोखा मामला

- Advertisement -

नई दिल्ली। देश दुनिया से आए दिन ढेरों अजीबो गरीब खबरें सामने आती रहती हैं। अब उत्तर प्रदेश के प्रयागराज (Prayagraj) से भी एक बड़ा ही अनोखा मामला सामने आया है। जहां पर एक लड़के ने किसी लड़की से शादी (marriage) करते हुए एक लकड़ी से शादी कर ली, वो भी पूरे रस्मों रिवाज के साथ। अब पूरे इलाके में यह अनोखी शादी चर्चा का विषय बनी हुई है। यह मामला प्रयागराज में स्थित घूरपुर थाना क्षेत्र के मनकवार गांव से सामने आया है। इस गांव में रहने वाले शिवमोहन के 9 बेटे और तीन बेटियां हैं। उन्होंने अपने सभी बच्चों की शादी वक्त पर कर दी थी, सिवाय सबसे छोटे बेटे पंचराज के। शिवमोहन खुद मास्टर डिग्री लिए हुए हैं। पढ़ाई की वजह से ही उन्हें सरकारी नौकरी मिली थी। उन्होंने अपने सभी बच्चों को बेहतर ढंग से पढ़ाया भी, लेकिन बेटा पंचराज उनकी लाख कोशिशों के बावजूद कभी स्कूल नहीं गया।

पहले नहीं चाहते थे पिता कि शादी करे अनपढ़ बेटा, बाद में बदल गया मूड

वह बेटे पंचराज के बिलकुल ना पढ़ने और उसके बेरोजगार रहने की वजह से काफी दुखी रहते हैं। बेटे की लापरवाही की वजह से ही उन्होंने उसका ब्याह ना कराने का फैसला लिया था। उनका मानना था कि अनपढ़ और बेरोज़गार पंचराज के साथ शादी कर कोई लड़की जीवन भर खुश नहीं रह सकेगी। लेकिन अब अपनी उम्र के आखिरी पड़ाव में जब उनका मन हुआ कि वो अपने सबसे छोटे बेटे की शादी भी देखें तो, उन्होंने पुरोहितों से राय लेकर छोटे बेटे पंचराज की शादी कराने का संकल्प लिया। इस शादी के लिए पंचराज ने पहले मना किया लेकिन बूढ़े पिता का मान रखने के लिए लकड़ी से बने पुतले से शादी करने के लिए तैयार हो गया।


यह भी पढ़ें: MP राज्यसभा चुनाव: PPE Kit पहनकर Vote देने पहुंचे कांग्रेस के कोरोना पॉजिटिव विधायक

बेटा बर्बाद ना कर दे किसी लड़की की जिंदगी इसलिए लकड़ी से कराई शादी

पिता ने पुरोहितों से शादी का मुहूर्त निकलवाया तो सारी रस्मों के साथ शादी हुई। सुबह से ही शादी की पूरी रस्में शुरू हुईं और शाम तक पंचराज की शादी लकड़ी के पुतले के साथ हो गई। इस अवसर पर लॉकडाउन का पालन करते हुए बाराती भी पहुंचे। बारातियों को भोज भी कराया गया। इस अनोखे शादी समारोह में हर वो रस्म निभाई गई, जो एक आम शादी में निभाई जाती है। बताया जा रहा है कि लड़के के पिता किसी लड़की की ज़िंदगी से खिलवाड़ नहीं कराना चाहते थे, इसीलिये पुतले के साथ बेटे की प्रतीकात्मक शादी कराई। आज यह चर्चा विषय बना हुआ है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है