Covid-19 Update

2,01,049
मामले (हिमाचल)
1,95,289
मरीज ठीक हुए
3,445
मौत
30,067,305
मामले (भारत)
180,083,204
मामले (दुनिया)
×

मनाली-चंडीगढ़ एनएच अभी तक बंद, चट्टान तोड़ने में जुटी टीमें

मनाली-चंडीगढ़ एनएच अभी तक बंद, चट्टान तोड़ने में जुटी टीमें

- Advertisement -

मंडी।मनाली-चंडीगढ़ नेशनल हाईवे बनाला के पास भूस्खलन के कारण अभी तक बंद पड़ा हुआ है। गुरुवार शाम तक हाईवे के बहाल होने की संभावना जताई जा रही है। पहाड़ी से जो मलबा गिरा है उसे हटाना मुश्किल हो गया क्योंकि इस मलबे के ऊपर एक बहुत बड़ी चट्टान है।

अगर हाईवे पर गिरे मलबे को हटाया गया तो फिर चट्टान खिसकने से भारी तबाही मच सकती है। ऐसे में कोई रिस्क न लेते हुए पहले चट्टान को तोड़ने का काम शुरू किया गया है। इस चट्टान को ब्लास्टिंग से तोड़कर यहां से हटाया जाएगा। उसके बाद यहां गिरे मलबे को हटाने का काम शुरू होगा।फोरलेन निर्माण में लगी कंपनी की मशीनरी इस काम में लगाई गई है। पुलिस और प्रशासन की टीमें मौके पर हैं और पूरी स्थिति का जायजा ले रही हैं और सारे काम को अपनी निगरानी में करवाया जा रहा है।


बता दें कि बुधवार दोपहर करीब दो बजे से हाईवे यातायात के लिए पूरी तरह से बाधित हो गया। यहां फोरलेन निर्माण के लिए पहाड़ की जो कटिंग की गई उसके कारण पहाड़ी का एक हिस्सा दरक गया। पहाड़ी दरकने के कारण हाईवे पूरी तरह से बाधित हो गया। शाम को अंधेरा हो जाने के कारण यहां कुछ नहीं किया जा सका और गुरुवार सुबह अब चट्टान को तोड़ने की प्रक्रिया शुरू की गई है।

डीएसपी पधर मदनकांत शर्मा ने बताया, ‘पुलिस और प्रशासन की टीमे मौके पर हैं और सारे कार्य को पूरी निगरानी में करवाया जा रहा है। हाईवे का ट्रैफिक छोटे वाहनों के लिए वाया कटौला डायवर्ट किया गया है और बड़े वाहनों को अभी यहां से नहीं भेजा जा रहा है।कंपनी को निर्देश दिए गए हैं कि चट्टान को तोड़कर एक बार में ही स्थायी समाधान निकाला जाए ताकि भविष्य में बार-बार कोई परेशानी न झेलनी पड़े। शाम तक हाईवे के बहाल होने की संभावना है और इसके लिए लगातार कार्य किया जा रहा है।’

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है