Expand

Mistake : डेड हाउस में पहले से पडे़ शव को भी गिनते रहे

Mistake : डेड हाउस में पहले से पडे़ शव को भी गिनते रहे

- Advertisement -

मंडी। बिंद्रावणी हादसे के बाद बार-बार 18 के मरने की खबर बाहर आती रही…पर असल में 17 ही शव थे। यह तो बाद में जाकर पता चला कि डेड हाउस में पहले से पडे़ शव की भी गिनती बस हादसे में मारे गए लोगों के साथ होती रही। खैर, बाद में जब सारे पहलुओं की पड़ताल होने लगी तो सही आंकड़ा सामने आया, जोकि 18 नहीं बल्कि 17 का बैठता है। यह सारी बात मंडी के एडीएम विवेक चंदेल स्वयं बता रहे हैं। चंदेल के अनुसार डेड हाउस मंडी में पहले से एक शव रखा गया था जिसे भी हादसे वाले शवों के साथ गलती से काउंट कर लिया गया। इस कारण 18 मौतों की जिक्र किया जा रहा था।
  • accident2उन्होंने बताया कि 17 यात्रियों की मौत हुई है, जिसमें सभी की पहचान हो चुकी है। जो तीन शव पहचान के लिए बचे थे उनमें कंढ़ निवासी कुंज राम, मुज्जफरनगर निवासी शहीद कुमार और बरोट निवासी मंजू का नाम शामिल है।
  • हादसे में कांगड़ा जिले के तीन घायलों को डॉ राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कॉलेज अस्पताल टांडा रैफर कर दिया गया है, जबकि दो घायलों को पीजीआई चंडीगढ़ रैफर किया गया है।
  • तीन घायलों को मामूली चोटें आई थीं, जिन्हें उपचार के बाद घर भेज दिया गया है और बाकी बचे 20 घायलों को जोनल अस्पताल मंडी में उपचार दिया जा रहा है। उधर, सभी शवों का पोस्टमार्टम कर उन्हें परिजनों के हवाले कर दिया गया है।

स्पीड क्यों बढ़ाई कोई समझ न पाया, कुछ पता नहीं चला
इस बीच अस्पताल में उपचाराधीन घायलों का कहना है कि पहले तो बस धीमी गति से चल रही थी, लेकिन कुछ दूर जाने के बाद चालक ने स्पीड को बढ़ा दिया। हादसे के वक्त पहले बस की टक्कर बाइक के साथ हुई और फिर कब बस ब्यास में जा गिरी, किसी को कुछ पता नहीं चला। घायलों का कहना है कि उन्हें यह भी पता नहीं चला कि बाइक सवार के साथ टक्कर कैसे हुई, लेकिन टक्कर के बाद बस ने ऐसा पलटा मारा की किसी को संभलने तक का मौका तक नहीं मिला। इससे पहले कि लोग कुछ समझ पाते, तब तक काफी देर हो चुकी थी। वहीं, हादसे के बाद घायल बस चालक को उसके परिजन मीडिया से दूर रखने की कोशिश कर रहे हैं।

accident317 हुई मंडी हादसे में मरने वालों की संख्या

मंडी। जिला मुख्यालय के साथ लगते बिंद्रावणी में शनिवार दोपहर हुए बस हादसे में मरने वालों की संख्या बढ़कर 17 हो गई है। मौके पर से 29 लोगों को घायलावस्था में अस्पताल पहुंचाया गया है। इस हादसे में मरने वाले सभी लोगों की शिनाख्त अभी तक नहीं हो पाई है। जिला कांगड़ा के बड़ोह के कंडी गांव के एक ही परिवार के छह लोगों के इस बस में सवार होने की बात भी कही जा रही है और मृतकों में कंडी गांव के रिंकू व कर्म सिंह की शिनाख्त हुई है। वहीं जिला मंडी के ही सुभाष मल्होत्रा और उनकी पत्नी लता मल्होत्रा की पहचान मृतकों में हुई है।
  • 29 घायलों को पहुंचाया गया अस्पताल
  • चार शवों की शिनाख्त, दो कांगड़ा के कंडी गांव निवासी
  • मंडी का दंपत्ति भी बना इस हादसे में काल का ग्रास

बाकी मृतकों की पहचान भी जल्द कर लेने का दावा पुलिस कर रही है। शनिवार दोपहर को मंडी से कुल्लू की ओर जा रही एक बस अनियंत्रित होकर ब्यास नदी में गिर गई थी। बस का पिछला हिस्सा नदी के पानी में डूब गया, जिसके चलते अधिकतर यात्री भी पानी में डूब गए और काल का ग्रास बने। नदी में गिरने से पहले बस की टक्कर एक बाइक से होने की बात भी सामने आ रही है और कहा जा रहा है कि बाइक से टक्कर होने के बाद बस अनियंत्रित होकर नदी में गिर गई थी। हादसे की सूचना मिलते ही स्थानीय लोगों के साथ-साथ प्रशासन भी मौके पर पहुंच गया। सभी घायलों को निकालकर, उन्हें उपचार के लिए मंडी अस्पताल में भर्ती करवाया गया। पुलिस ने मामला दर्ज कर हादसे की जांच शुरू कर दी है। वहीं ब्यास में शवों की तलाश के लिए  सुंदरनगर से गोताखोरों को भी बुलाया गया है।

मृतकों की सूचीmandi-new2

मंडी सड़क हादसे में कुल 17 लोग काल का ग्रास बने हैं। इनमें सुभाष मल्होत्रा (66) पुत्र लालू राम मल्होत्रा, हेम लता पत्नी सुभाष मल्होत्रा दोनों निवासी प्रेम गली मंडी हाउस नंबर 133/8, चूड़ामणि (30) पुत्र देवी सिंह, लता देवी (30) पत्नी चूड़ामणि निवासी गांव डेघर डाकघर, देवरी तहसील सदर जिला मंडी, दुर्गा दास (42) पुत्र रेलु राम गांव सरोआ तहसील चच्योट जिला मंडी, हरी सिंह (52) पुत्र नारायण गांव बास्ता पोस्ट ऑफिस पंडोह जिला मंडी, गोपाल (25) पुत्र तेज राम गांव नेरी पोस्ट ऑफिस देवरी तहसील औट जिला मंडी, सुरेंद्र पाल (39) पुत्र धनी राम गांव हमग्राम पोस्ट आफिस पुरानी मंडी तहसील सदर जिला मंडी, उदय प्रकाश (23) पुत्र कुलदीप सिंह गांव कुडाची पोस्ट ऑफिस मसाहनी तहसील थुनाग जिला मंडी, प्रकाश चंद (45) पुत्र खीरा मणि निवासी शिवावदार तहसील सदर जिला मंडी, भुवनेश्वर कटोच, राकेश कटोच दोनों निवासी गांव फनोटी तहसील आनी जिला कुल्लू, रिंकु शर्मा पुत्र कर्म चंद, कर्म चंद पुत्र परस राम दोनों निवासी कंडी तहसील बड़ोह जिला कांगड़ा शामिल हैं। कुल 14 मृतकों की शिनाख्त हुई है। बाकी चार मृतकों की शिनाख्त का प्रयास पुलिस कर रही है।

घायलों की सूचीmandi

मंडी सड़क हादसे में घायल 25 लोगों की अभी तक शिनाख्त हो चुकी है जिन्हें कि उपचार के लिए जोनल अस्पताल मंडी में दाखिल करवाया गया है। इन घायलों में कर्म चंद (32) पुत्र लज्जा राम निवासी गांव टांडी डाकघर सरोआ तहसील चच्योट जिला मंडी, प्रवीन कुमार (25) पुत्र बिहारी लाल निवासी पत्यानी डाकघर ब्रिकमानी तहसील बल्ह जिला मंडी, गिरधारी लाल शर्मा पुत्र शुभकरण शर्मा निवासी गांव व डाकघर पुढवा तहसील देहरा जिला कांगड़ा, इंदिरा देवी (35) पत्नी डोले राम निवासी गांव बांदला, डाकघर दियोरी तहसील सदर जिला मंडी,  धनी राम (42) पुत्र सानू राम निवासी गांव व डाकघर पनारसा तहसील औट जिला मंडी, लता देवी (32) पत्नी तुलसी राम निवासी गांव चौकी चंद्राहण, डाकघर रियूर तहसील बल्ह जिला मंडी, कमल शर्मा (29) पुत्र कर्म चंद निवासी गांव बैज बड़ोह जिला कांगड़ा, रीना देवी(32), पत्नी रिंकू शर्मा निवासी गांव बैज बड़ोह जिला कांगड़ा, ओम प्रकाश पुत्र लाल सिंह निवासी गांव व डाकघर सुराडी तहसील कोटली जिला मंडी, प्यार चंद (36) पुत्र खजीरामणि निवासी गांव व डाकघर शिवावदार तहसील सदर जिला मंडी, अमित कुमार (11) पुत्र देवेंद्र राम ट्रांजिट कैंप पंडोह जिला मंडी, रमेश चंद (40) पुत्र हेम सिंह निवासी गांव कंडी तारापीर डाकघर गागल, तहसील बल्ह जिला मंडी, बबिता गुलेरिया (20) पत्नी उमेश कुमार गांव व डाकघर पंडोह, शहजाद अलि (23) निवासी गांव व डाकघर ककड हाल्टी जिला सोलन, कुशल चंद (31) पुत्र जगदीश चंद निवासी 39 मील तहसील शाहपुर जिला कांगड़ा, शांता (40) पत्नी दुर्गा सिंह निवासी गांव नियूल डाकघर घरां तहसील सदर जिला मंडी, दिनेश (22) पुत्र नरपत निवासी गांव व डाकघर थाची तहसील बालीचौकी जिला मंडी, विनोद कुमार (22) पुत्र जोगिंद्र सिंह निवासी गांव कलोह डाकघर तरक्वाडी जिला हमीरपुर, पुष्प राज (7) पुत्र हुक्म चंद निवासी गांव तांदी डाकघर सरोआ तहसील चचि्योट जिला मंडी, मेनका (25) पत्नी किशोरी लाल, वंशिता (4) पुत्री किशोरी लाल, ललित (10 माह) पुत्र किशोरी लाल निवासी गांव नियूल डाकघर घारन तहसील सदर जिला मंडी, बशीर अहमद (42) पुत्र अली मुहम्मद लोन निवासी गांव करनपुरा तहसील कुपवाड़ा (जेएंडके), केसरी देवी और एक अन्य अज्ञात व्यक्ति शामिल हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है