Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,526,589
मामले (भारत)
196,267,832
मामले (दुनिया)
×

23 दिनों के बाद मंडी-पठानकोट नेशनल हाई-वे बहाल 

23 दिनों के बाद मंडी-पठानकोट नेशनल हाई-वे बहाल 

- Advertisement -

मंडी। 23 दिनों की कड़ी मशक्कत के बाद कोटरोपी के पास मंडी-पठानकोट नेशनल हाई-वे को बहाल कर दिया गया। बता दें कि भारी बारिश के चलते 27 जुलाई को हुए भूस्खलन से कोटरोपी के पास बनाया गया अस्थाई मार्ग बह गया था। इसके बाद वैकल्पिक तौर पर दो संपर्क मार्गों से सारा ट्रैफिक भेजा जा रहा था, लेकिन यह संपर्क मार्ग इतने अधिक ट्रैफिक के लिए नाकाफी थे। बड़ी बात यह थी कि सेना को लेह तक अपना सामान भेजने में काफी दिक्कतें आ रही थी।
प्रशासन लगातार यहां पर मार्ग बहाली के प्रयास करता रहा। 13 अगस्त को यह मार्ग बहाल होने ही वाला था, लेकिन उस दिन भारी बारिश के कारण फिर से यहां भूस्खलन हुआ और बनाई जा रही सड़क फिर से बह गई।
हालांकि प्रशासन का प्रयास था कि पुरानी सड़क का जो ट्रेस था उसे ढूंढकर वहां से सड़क निर्माण किया जाए, लेकिन यह संभव नहीं था। इसके बाद प्रशासन ने एक नया ट्रेस बनाकर अस्थाई सड़क बनाने का कार्य शुरू किया और आज 19 अगस्त को इसमें सफलता पाते हुए शाम करीब 5 बजे मार्ग को बहाल कर दिया गया। सांसद राम स्वरूप शर्मा, एसडीएम पधर आशीष शर्मा और एनएच के अधिकारियों सहित अन्य लोगों की मौजूदगी में कोटरोपी के पास मार्ग को यातायात के लिए खोला गया।
सांसद राम स्वरूप शर्मा ने प्रशासन सहित सभी अधिकारियों को इसके लिए बधाई दी और बताया कि कोटरोपी के पास अब एनएच को बहाल कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि यदि बारिश अधिक होती है और खतरा नजर आता है, तो फिर इसे यातायात के लिए बंद किया जाएगा अन्यथा यहां से यातायात इसी तरह से दिन रात जारी रहेगा।  बता दें कि बीते वर्ष 12 और 13 अगस्त की रात को कोटरोपी में हिमाचल के इतिहास का सबसे बड़ा भूस्खलन हुआ था और पहाड़ी का एक बहुत बड़ा हिस्सा दरक गया था। पहाड़ी से गिरे मलबे की चपेट में एचआरटीसी की दो बसें आई थीं, जिस कारण 48 लोगों की मौत हो गई थी। इस भूस्खलन के कारण कोटरोपी में अभी तक नेशनल हाई-वे स्थाई रूप से बहाल नहीं हो पाया है। पहले भी अस्थाई तौर पर बहाल हुआ था और अभी भी वैसी ही बहाली की गई है। सरकार और प्रशासन ने इसके स्थाई समाधान की बात बरसात के बाद कही है।

 


- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है