Expand

फिर बोले MODI, सिर्फ 50 दिन

फिर बोले MODI, सिर्फ 50 दिन

- Advertisement -

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज रेडियो के जरिये देशवासियों से 26वीं बार ‘मन की बात’ की। ये कार्यक्रम आकाशवाणी और दूरदर्शन के सभी चैनलों पर प्रसारित किया गया। उन्होंने कहा कि पिछले साल की तुलना इस साल ज्यादा बआई हुई। देश के लोगों में बहुत क्षमता है। व्यापारी भी सीख लें कि बिना नोट व्यापार कैसे किया जाता है। छोटे व्यापारी बदलाव का नेतृत्व कर सकते हैं। छोटे व्यापारी मोबाइल बैंकिग से व्यापार कर सकते हैं। मजबूरों का बहुत शोषण हुआ। बैंकों में खाता खोलें मजदूर, खाते के जरिये पेमेंट लें। देश के युवक नोटबंदी के समर्थन में हैं। देश का युवक सच्चा साथी है।

  • modi56PM MODI ने की मन की बात
  • कार्यक्रम आकाशवाणी व दूरदर्शन के सभी चैनलों पर प्रसारित
  • पीएम बोले गांव के लोगों के जीवन में आ रहा बदलाव

मोबाइल एप्प तकनीक का इस्तेमाल करें। कैशलेस सोसायटी की कोशिश करें। RuPay कार्ड का इस्तेमाल करें। इसका इस्तेमाल 300% बढ़ा। एप और ऑनलाइन बैंकिंग युवक बेहतर जानते हैं। ऑनलाइन सरचार्ज खत्म कर दिया है। देश बदलाव से गुजर रहा है। नौजवान मेरी मदद करें। आप हर रोज कम से कम 10 लोगों को मोबाइल बैंकिंग के बारे में बताएं। नौजवान कैशलेस सोसायटी का हिस्सा बनें। युवा सिर्फ समर्थन नहीं करें बल्कि इस बदलाव का सैनानी बनें। कालेधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई को आगे बढ़ाएं। केन्या में M-पैसा पर पूरा कारोबार चलता है। नोटबंदी का फैसला कठिनाइयों से भरा था। नोटबंदी पर देशवासियों की कठिनाइयों को समझ सकता हूं। 500 और 1000 रुपये नोट को बैन करने का फैसला सामन्य नहीं था। देशवासियों को कोई भ्रम में नहीं डाला। कठिनाइयों से उबरने में 50 दिन का वक्त लगेगा। 125 करोड़ देशवासी संकल्प पूरा करेंगे।

notebandi

लोगों को भ्रमित करने के ढेर सारे प्रयास किए जा रहे हैं। कुछ लोगों को बुराई करने की आदत हो जाती है। देशहित के लिए देशवासियों ने इसे स्वीकार किया। कुछ लोग गरीबों को लालच देने की कोशिश कर रहे हैं। गरीबों के खाते में डालकर कुछ लोग कालाधन छिपा रहे हैं। नहीं चाहते कि देशवासियों को परेशानी हो। कठिनाई के बावजूद सभी लोग बैंक, पोस्ट ऑफिस में काम कर रहे हैं। कुछ लोग पैसे बचाने के लिए गैरकानूनी रास्ते ढूंढ रहे हैं। नोटबंदी से देश के लोगों को तत्काल लाभ हो रहा है। नोटबंदी से पुराने टैक्स, कर्ज चुकाये जा रहे हैं। एक हफ्ते में 13 हजार करोड़ रुपये टैक्स जमा हुए।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है