Covid-19 Update

2,01,049
मामले (हिमाचल)
1,95,289
मरीज ठीक हुए
3,445
मौत
30,067,305
मामले (भारत)
180,083,204
मामले (दुनिया)
×

लोकसभा चुनावः ईडीसी हो गईं रिजेक्ट, वोट नहीं डाल पाए कई कर्मचारी

लोकसभा चुनावः ईडीसी हो गईं रिजेक्ट, वोट नहीं डाल पाए कई कर्मचारी

- Advertisement -

रविंद्र चौधरी/फतेहपुर। लोकसभा के महाकुंभ को सफल बनाने का बीड़ा उठाने वाले कई कर्मचारी अपना वोट (Vote) तक नहीं डाल पाए। ऐसा ईडीसी रिजेक्ट(EDC Reject) होने के चलते हुआ है। इसके कारण दूसरी विधानसभा में विधानसभा फतेहपुर के कई कर्मचारियों को ईडीसी नहीं मिला, जिस कारण वो अपना मत नहीं डाल पाए। वहीं, काफी सारे कर्मचारियों को पोस्टल बैलेट पेपर (Postal ballot paper) तो मिले, लेकिन उन्हें जमा करवाने के लिए परेशानी उठानी पड़ रही है। आईपीएच (IPH) विभाग में तैनात अवनिंद्र शर्मा व सोम राज ने बताया कि उनकी ड्यूटी सुलह व इंदौरा लगी थी। उन्हें पोस्टल बैलेट पेपर दिए गए थे, जिन्हें एसडीएम कार्यालय (SDM Office) में जमा करवाने के लिए कह रखा था। लेकिन, अब उनके पोस्टल बैलेट पेपर को एसडीएम कार्यालय में नहीं लिया जा रहा है।

 


यह भी पढ़ें: खुशखबरी ! अब जियो दे रहा है आपको पैसे कमाने का मौका

वहीं, शिक्षा विभाग (Education Department) में कार्यरत सुधीर पठानिया जिनकी ड्यूटी पालमपुर, केवल मिन्हास जिनकी ड्यूटी बैजनाथ व नरेंद्र धीमान जिनकी ड्यूटी नगरोटा बगवां लगी थी, उन्हें वहां पर ईडीसी (EDC) नहीं दिए गए। जिस कारण वो अपना वोट नहीं डाल पाए हैं। फतेहपुर में पहली रिहर्सल में ईडीसी के लिए मिले फार्मभर कर 6 मई को हुई रिहर्सल दौरान जमा करवा दिए थे। फिर भी उन्हें ईडीसी नहीं मिल पाया है। इस पर चुनावी ड्यूटी (Election Duty) के लिए फतेहपुर (Fatehpur) में नोडल अधिकारी नरेंद्र पठानिया ने कहा कि बड़े ही खेद का विषय है, जो कर्मचारी लोकतंत्र के महाकुंभ को सफल बनाने के लिए दिन-रात जुटे रहे वहीं लोगों को वोट करने के लिए प्रेरित वो खुद वोट डालने से वंचित रहे हैं।

 

यह भी पढ़ें: सरकाघाट : किचन में बेसुध पड़ी मिली महिला टीचर, संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

 

करीब 5000 कर्मचारी वोट डालने से वंचित रहे हैं। उन्होंने ऐसी लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों, कर्मचारियों पर भी कड़ी कार्रवाई की भी मांग की है । उन्होंने चुनाव आयोग (Election commission) से अपील की है कि किसी भी तरह से राहत देते हुए वोट डालने से वंचित रहे, कर्मचारियों के वोट डलवाने का प्रावधान किया जाए, ताकि लोकतंत्र के महाकुंभ को सफल बनाने में मुख्य भूमिका निभाने वाले भी इस महाकुंभ में आहुति डाल सकें।

सहायक निर्वाचन अधिकारी फतेहपुर बलवान चंद ने बताया कि जिन कर्मचारियों को पोस्टल बैलेट पेपर जारी किए थे, जिस बूथ विधानसभा में वो ड्यूटी देने जा रहे हैं, वहां पर रखी पेटी में अपने पोस्टल बैलेट पेपर डालने थे। वहीं ईडीसी न मिलने पर उन्होंने कहा कुछ एक कर्मचारियों के फॉर्म गलत भरे होने कारण उनकी ईडीसी रिजेक्ट हुई थी। विधानसभा फतेहपुर की करीब 60 ईडीसी रिजेक्ट हुई थीं। बाकी सभी हमने समय रहते ड्यूटी स्थलों पर भेज दी थीं। रिजेक्ट होने वाली ईडीसी के वाले फार्म पर अंकित मोबाइल नबंर पर संपर्क किया जा रहा था, लेकिन नहीं हो पाया था।


हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है