Covid-19 Update

2,16,430
मामले (हिमाचल)
2,11,215
मरीज ठीक हुए
3,631
मौत
33,381,728
मामले (भारत)
227,957,773
मामले (दुनिया)

मरकज मामला: 20 देशों के 83 जमातियों के खिलाफ 14 हजार पेज की 20 Chargesheet दाखिल

मरकज मामला: 20 देशों के 83 जमातियों के खिलाफ 14 हजार पेज की 20 Chargesheet दाखिल

- Advertisement -

नई दिल्ली। देश में जारी कोरोना वायरस (Coronavirus) के कहर के बीच दिल्ली पुलिस ने तब्लीगी जमात मामले में कार्रवाई तेज कर दी है। दिल्ली पुलिस ने आज 20 चार्जशीट दाखिल कर दी। 20 देशों के 83 विदेशियों के खिलाफ 14 हजार पन्नों की 20 चार्जशीट (Chargesheet) दाखिल की गई है। अदालत ने इस सुनवाई के लिए 12 जून की तारीख तय की है। रिपोर्ट्स के अनुसार आज दायर की गई चार्जशीट में मरकज मैनेजमेंट के रोल का जिक्र भी किया गया है। इसके साथ ही तब्लीगी जमात (Tablighi Jamaat) के चीफ मौलाना साद के नाम का भी जिक्र मौजूद है। जिसके चलते माना जा रहा है कि इस चार्जशीट से मौलाना साद की मुश्किलें बढ़ेंगी।

यह भी पढ़ें: Quarantine Center में सांप के डंसने से 6 वर्षीय बच्ची की मौत; पटवारी और शिक्षक समेत तीन पर केस

इन पर फॉरेनर एक्ट, अपेडिमिक डिसीस एक्ट और डिजास्टर एक्ट की धाराएं लगाई

बता दें कि पुलिस ने सभी विदेशी जमातियों से पूछताछ पूरी कर ली है। इसके साथ ही विदेशी जमातियों का क्वारंटीन टाइम भी पूरा हो गया है। अब इन पर दिल्ली पुलिस ने फॉरेनर एक्ट, अपेडिमिक डिसीस एक्ट और डिजास्टर एक्ट की धाराएं लगाई हैं। जानकारी के मुताबिक, जिन 83 विदेशी नागरिकों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की जाएगी उनमें सऊदी अरब के 10, चीन के 7, फिलिपिंस के 6, ब्राजील के 8, रूस का एक और बाकी अन्य देशों के नागिरक बताए जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि इन सभी के वीजा फार्म में निजामुद्दीन मरकज का पता दिया हुआ है।

यह भी पढ़ें: कोरोना संकट के बीच UP में मृत मिले 300 से ज्यादा चमगादड़, लोगों में दहशत

जमात का आयोजन करने के मामले में दिल्ली हाईकोर्ट में भी स्टेटस रिपोर्ट पेश की

इसके आधार पर यह माना जा रहा है कि ये विदेश से मरकज में जमात में ही शामिल होने आए थे। सभी विदेशी जमातियों को पहले 41 का नोटिस देकर जांच में शामिल करवाया गया था और पूछताछ की गई थी। वहीं दूसरी ओर आज दिल्ली पुलिस ने निजामुद्दीन मरकज में तब्लीगी जमात का आयोजन करने के मामले में दिल्ली हाईकोर्ट में भी स्टेटस रिपोर्ट पेश की है। इस स्टेटस रिपोर्ट में कहा गया है कि मौलाना मोहम्मद साद और अन्य लोगों ने एक बंद जगह पर हजारों लोगों को इकट्ठा किया। जबकि इस दौरान दिल्ली में किसी भी तरह का जमावड़ा करना मना था। ऐसे में यहां पर सामाजिक दूरी और अन्य तरहों के नियमों का पालन भी नहीं किया गया।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है