Expand

मंडी में 400 वर्ष पुराने मंदिर के पास गुपचुप बना दी मजार

मंडी में 400 वर्ष पुराने मंदिर के पास गुपचुप बना दी मजार

- Advertisement -

मंडी। शहर में बने 400 वर्ष पुराने पंचवक्त्र महादेव मंदिर के पास गुपचुप तरीके से मजार बनाई जा रही है। भगवाहन मुहल्ला के निवासियों को जब इस बात का पता चला तो उन्होंने डीसी मंडी से मुलाकात कर पूरी स्थिति से अगवत करवाया और कार्रवाई की मांग उठाई। डीसी मंडी ने शिकायत पर तुरंत प्रभाव से कार्रवाई करते हुए एसपी मंडी को कार्रवाई के आदेश दिए हैं। 
जानकारी के अनुसार मंडी शहर में ब्यास नदी और सुकेती खड्ड के संगम स्थल पर करीब 400 वर्ष पुराना पंचवक्त्र महादेव का मंदिर है। मंदिर के पास हीं कुछ झुग्गियां हैं, जिनमें रहने वाले लोगों ने मंदिर के पास ही गुपचुप तरीके से मजार बना दी और इस बात की किसी को कोई जानकारी नहीं है। लोगों ने प्रशासन को चेताया कि मंदिर परिसर के पास जो गतिविधियां चली हैं, यदि समय रहते उन्हें नहीं रोका गया, तो भविष्य में धार्मिक आढ़ का सहारा लेकर यहां स्थिति गंभीर हो सकती है। लोगों ने डीसी को बताया कि मंदिर पुरातत्व विभाग के पास है और ऐसे में मंदिर के 100 मीटर के दायरे में कोई भी निर्माण नहीं किया जा सकता। उन्होंने पंचवक्त्र मंदिर के पास अवैध तरीके से बनी झुग्गियों को तुरंत प्रभाव से हटाकर यहां प्रस्तावित पार्क के निर्माण का कार्य शुरू करने की मांग भी उठाई है।

अवैध झुग्गियों से खराब हो रहा माहौल

वहीं, वीर मंडल भगवाहन मुहल्ला के प्रधान चंद्रशेखर वैद्य ने डीसी को बताया कि पंचवक्त्र महादेव मंदिर के पास झुग्गियों में आए दिन नए-नए लोग रहने आ रहे हैं और यहां अजीब तरह की गतिविधियां चला रहे हैं। यह लोग मोहल्ले का माहौल खराब कर रहे हैं। यहीं नहीं यह लोग शराब पीकर हुड़दंग मचा रहे हैं, जिस कारण महिलाओं और युवतियों का घरों से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है। वहीं, डीसी मंडी ऋग्वेद ठाकुर ने मजार निर्माण को लेकर आई शिकायत पर तुरंत प्रभाव से कार्रवाई करते हुए एसपी मंडी को कार्रवाई के आदेश दे दिए हैं। उन्होंने मिलने आए हुए लोगों को आश्वस्त किया कि मंदिर के पास किसी भी प्रकार के असमाजिक तत्वों को पनपने नहीं दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि फल्ड जोन एरिया होने के कारण झुग्गियों को वहां से जल्द ही हटाने का कार्य शुरू कर दिया जाएगा।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है