Covid-19 Update

2,06,027
मामले (हिमाचल)
2,01,270
मरीज ठीक हुए
3,505
मौत
31,655,824
मामले (भारत)
198,557,259
मामले (दुनिया)
×

MC Election का रोनाः Virbhadra-Dhumal की एक-दूसरे पर छींटाकशी

MC Election का रोनाः Virbhadra-Dhumal की एक-दूसरे पर छींटाकशी

- Advertisement -

MC Election: शिमला। नगर निगम चुनावों पर देरी का हो हल्ला करने वाली बीजेपी और माकपा पर सीएम वीरभद्र सिंह ने तंज कसा है। वीरभद्र सिंह ने कहा कि दोनों ही पार्टियां कांग्रेस को ऐसे कोस रही हैं, जैसे सारा कसूर प्रदेश सरकार का ही हो। बहरहाल, मतदाता सूचियों में हुई गड़बड़ को लेकर बीजेपी और माकपा दोनों प्रदेश सरकार हर हल्ला बोलती रही हैं। सीएम ने कहा कि बीजेपी और माकपा ने मतदाता सूचियों में गड़बड़ी की शिकायत की थी और मतदाताओं में गड़बड़ियां दूर करने के लिए राज्य निर्वाचन आयोग से मतदाता सूचियों में छूटे हुए मतदाताओं के नाम दर्ज करवाने की मांग की थी।

अब सरकार ने मतदाता सूचियों में छुटे हुए नामों को दर्ज करवाने को समय दिया है। अब जब, नाम दर्ज करने को समय दिया तो कहा जा रहा है कि सरकार नगर निगम चुनाव करवाने में देर कर रही है। उन्होंने कहा कि यह तो गंगा गए गंगा दास, जमना गए जमना दास- वाली बात हुई। वीरभद्र सिंह ने कहा कि बीजेपी द्वारा राज्य सरकार के खिलाफ जो चार्जशीट सौंपी है, उसका कोई असर नहीं पड़ता। उन्होंने कहा कि बीजेपी का काम ही ज्ञापन सौंपना है और इसे लेकर फैसला जनता करेगी। उनका कहना था कि जनता तय करेगी कौन सही है और कौन गलत।


धूमल बोले, सरकार नहीं चाहती नगर निगम चुनाव

उधर, नेता प्रतिपक्ष प्रेम कुमार धूमल ने कहा कि राज्य सरकार और नगर निगम की नालायकी के कारण नगर निगम शिमला के चुनाव टाले गए हैं। उन्होंने कहा कि कर्मचारी सरकार के हैं और राज्य निर्वाचन आयुक्त भी सरकार ने लगाए हैं और ऐसे में मतदाता सूचियों में गड़बड़ी इस सरकार की नालायकी है उनका कहना था कि कांग्रेस सरकार नहीं चाहती कि नगर निगम चुनाव हो। यह सरकार हार के डर से चुनाव से भाग रही है और इसी कारण चुनाव टाले गए हैं।  

धूमल ने कहा कि अब चुनाव टालने को सरकार दलील जो मर्जी दे, लेकिन यह सरासर सरकार की नालायकी है। क्योंकि मतदाता सूचियों में गड़बड़ी सरकार के कार्यकाल में हुआ है और इसमें माकपा का भी सहयोग है। उन्होंने कांग्रेस  का प्रदेश से सफाया करने के लिए जरुरी है कि इसका नगर निगम से भी सफाया किया जाए। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में अधिकारियों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा, क्योंकि आने वाले समय में इस प्रकरण की जांच होगी और जो भी इसमें दोषी होगा, उस पर कार्रवाई की जाएगी।

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है