Covid-19 Update

57,189
मामले (हिमाचल)
55,745
मरीज ठीक हुए
959
मौत
10,654,656
मामले (भारत)
98,988,019
मामले (दुनिया)

Online दवा बिक्री का विरोध : प्रदेश भर में Medical Store बंद

Online दवा बिक्री का विरोध : प्रदेश भर में Medical Store बंद

- Advertisement -

इधर-उधर भटकने को मजबूर हुए लोग

टीम अभी अभी। ऑनलाइन दवा बिक्री का विरोध का रहे दवा विक्रेताओं ने मंगलवार को प्रदेश भर में मेडिकल स्टोर बंद रखे। हालांकि दवा विक्रेताओं को इससे कुछ फर्क पड़ा हो या नहीं, लेकिन जरूरतमंद लोग इस बंद से खासे प्रभावित दिखे। ऑल इंडिया आर्गेनाइज़ेशन ऑफ केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट के आह्वान पर जिलाभर में केमिस्ट की दुकाने बंद रही, जिससे मरीजों को दवाएं खरीदने में खासी दिक़्क़तों का सामना करना पड़ा। केवल नागरिक आपूर्ति विभाग द्वारा क्षेत्रीय अस्पताल में चल रही दवाओं की एक दुकान ही खुली थी, जिससे ऊना अस्पताल के मरीजों को कोई खास परेशानी नहीं हुई। जिला दवा विक्रेता संघ ने दवाओं की ऑनलाइन बिक्री बंद करने की मांग उठाई है, वहीं दवा-विक्रेताओं पर तुगलकी फरमान थोपने के आरोप भी जड़े हैं।

हड़ताल से हर कोई परेशान

बहरहाल, दवा विक्रेताओं की हड़ताल का ऊना में व्यापक असर दिखा, मेडिकल स्टोर बंद होने से मरीजों को भारी परेशानी उठानी पड़ी गौर रहे कि ऊना में चार सौ के करीब मेडिकल स्टोर काम कर रहे हैं, लेकिन इस हड़ताल के चलते जिला में नागरिक आपूर्ति विभाग के एक मेडिकल स्टोर को छोड़ सभी दुकाने बंद थी, जिस कारण क्षेत्रीय अस्पताल को छोड़ जिला के बाकी क्षेत्रों में इस हड़ताल का खासा असर देखने को मिला। मरीज व उनके तिमारदार दवाएं खरीदने के लिए इधर-उधर भटकते हुए नजर आए। वहीं, जिला दवा विक्रेता संघ के सदस्य अजय जगोता ने कहा कि एक तरफ दवाओं की ऑनलाइन बिक्री से दवा विक्रेताओं का काम बंद होने की कगार पर पहुंच चुका है, वहीं दूसरी ओर सरकार द्वारा लगातार दवा विक्रेताओं पर तुगलकी फरमान थोपे जा रही है।

वहीं, हमीरपुर जिला दवा विक्रेता संघ ने दुकानें बंद रखी और विरोध व्यक्त किया। इस अवसर पर हमीरपुर शहर के अलावा भोटा, बड़सर, नादौन, सुजानपुर, जाहू, भोरंज में भी दवा की दुकानें बंद रही। जिला दवा विक्रेता संघ अध्यक्ष हरीश शर्मा ने बताया कि  सरकार द्वारा ऑनलाइन फार्मेसी तथा दवाइयों की खरीद फरोख्त के लिए ई.पोर्टल वनाया जा रहा उसका दवा विक्रेता पुरजोर विरोध करते हैं। उन्होंने सरकार की दवा विक्रेताओं पर गलत नीतियां थोपने का विरोध किया।

मंडी में दवा विक्रेताओं ने निकाली रैली

मंडी जिला के दवा विक्रेताओं ने अपनी दुकानें बंद रखी और दुकानदार सड़कों पर उतरकर सरकार के खिलाफ अपना आक्रोश जताते हुए नजर आए। दवा विक्रेताओं ने मंडी शहर में एक रोष रैली निकाली और जिला प्रशासन के माध्यम से पीएम तथा स्वास्थ्य मंत्री को अपना ज्ञापन भेजा। मंडी जिला इकाई के प्रधान योगेश वर्मा ने बताया कि सरकार के इस निर्णय से जहां दवाइयों का मिस्यूज बढ़ जाएगा वहीं आम लोगों को दवाइयां खरीदने में भारी दिक्कत होगी।

कुल्लू में दवाइयों के लिए भटके मरीज

दवाइयों  की दुकानें बंद रहने के चलते मरीजों को दवाइयां खरीदने के लिए भारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। अस्पताल में उपचार करवाने आए हुए मरीज और तीमारदार अस्पताल के जेनरिक दवा स्टोर और सिविल स्पलाई की दुकान में दवाइयां खरीदने के लिए लाइनों में खडे़ नजर आए, जबकि बाहर खुली निजी दवाइयों की दुकानों पर दिनभर ताले लटके रहे।

आज देशभर में बंद हैं Medical Shops

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है